Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शनिवार, 1 अगस्त 2020

सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद चालू हुए मीडिया ट्रायल के बीच कहानी में आ रहे हैं,रोज नए-नए ट्विस्ट...

निर्भीक पत्रकारिता का गजब प्रदर्शन कर रहा है, अरनब गोस्वामी...

 सुशांत सिंह राजपूत और उसकी गर्ल फ्रेंड रिया चक्रवर्ती...
वालीवुड में सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या की कहानी में रोज नया ट्विस्ट देखने को मिल रहा है। कल रिपब्लिक भारत न्यूज चैनल पर सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के संदर्भ में लाइव डिबेट में अरनब गोस्वामी के गम्भीर और सटीक सवालों से थर्राकर सुशांत सिंह राजपूत के कथित मित्र संदीप सिंह नाम का वो नमूना इंटरव्यू छोड़कर भाग खड़ा हुआ था जो खुद को सुशांत सिंह राजपूत का सबसे घनिष्ठ और विश्वसनीय मित्र बता रहा था 

सुशांत सिंह राजपूत और कथित मित्र संदीप सिंह के बीच में अंकिता लोखंडे...

 अरनब गोस्वामी के गम्भीर सटीक सवालों से थर्राकर सिद्धार्थ पिठानी नाम का वो गुर्गा भी इंटरव्यू बीच में ही छोड़कर भाग खड़ा हुआ जो सुशांत सिंह राजपूत का कथित नौकर था सुशांत के घर में उसके साथ ही रहता था और सुशांत से तनख्वाह के रूप में मोटी रकम लेता था पुलिस जब पहुंची थी, तब सुशांत का शव पलंग पर करीने से लिटाया हुआ था स्मिता पारेख ने बताया कि इस गुर्गे ने कहा था कि शव को फंदे से मैंने उतारा है

सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या प्रकरण में गर्लफ्रेंड रिया के साथ संदीप सिंह की भूमिका भी संदेहास्पद... 

ध्यान रहे कि ये दोनों गुर्गे सुशांत की मौत के 45 दिन बाद तक कहीं नहीं दिख रहे थे लेकिन बिहार पुलिस के पास FIR दर्ज होते ही यह दोनों गुर्गे अचानक प्रकट हुए और घूम घूम कर न्यूज चैनलों पर नाचने लगे रिया चक्रवर्ती को मासूम और मुम्बई पुलिस की जांच को महान बताने लगे हैं सभी न्यूज चैनलों पर इनके बयानों को प्रवचनों की तरह सुना गया और प्रसारित किया गया स्पष्ट है कि इन दोनों गुर्गों को सिखा पढ़ा कर रटा कर प्रायोजित तरीके से मीडिया में उतारा गया है लेकिन इन गुर्गों की दाल अरनब गोस्वामी के सामने नहीं गल पायी और उनको अरनब गोस्वामी के सवालों से अपनी जान बचाकर इंटरव्यू बीच में ही छोड़कर भागना पड़ा
 सुशांत सिंह राजपूत का कथित मित्र संदीप सिंह जिसे सुशांत के घर वाले तक नहीं पहचानते...
संयोग से सिद्धार्थ पिठानी जब इंटरव्यू छोड़कर भागा उस समय न्यूज चैनल पर प्रख्यात वकील उज्ज्वल निकम, पूर्व गृहसचिव भारत सरकार टीआर कक्कड़, बिहार के एडवोकेट जनरल और सुशांत के पिता जी के वकील मौजूद थे और उस इंटरव्यू को देख रहे थे इंटरव्यू के बीच में ही सिद्धार्थ पिठानी जब भाग गया तो इन सभी ने एकस्वर, एकमत से कहा कि यह व्यक्ति सबकुछ, बहुत कुछ जानता है इसकी बातें और बॉडी लेंग्वेज अत्यन्त संदेहास्पद हैं इससे कठोरता से पूछताछ होनी चाहिए इस पर अरनब गोस्वामी ने उन लोगों को यह आश्चर्यजनक तथ्य बताया कि इस गुर्गे से मुम्बई पुलिस ने अभी तक कोई पूछताछ नहीं की है और उसे मुम्बई से बाहर जाने की अनुमति भी दे दी है इस समय यह गुर्गा हैदराबाद में है
सुशांत सिंह राजपूत का राज़दार उसका कथित नौकर सिद्धार्थ पिठानी...
इसके अलावा एक अन्य सनसनीखेज तथ्य यह है कि आज सुशांत के परिवार की घनिष्ठ परिचित, सुशांत की बहन की पारिवारिक मित्र स्मिता पारेख, जो आज रिपब्लिक न्यूज चैनल पर मौजूद थी उन्होंने बताया कि संदीप सिंह को सुशांत के परिवार में कोई नहीं जानता वो सुशांत का करीबी मित्र कतई नहीं था पता नहीं वो झूठ क्यों बोल रहा है ? इसके अलावा वो कल से हर न्यूज चैनल पर झूठ बोल रहा था कि सुशांत की जब मौत हुई तब मैं घर पर ही था जबकि कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने बताया कि सुशांत की मौत की खबर जब संदीप सिंह को मिली उस समय वो मेरे साथ मेरे ऑफिस में बैठा था। इससे संदेह गहराता जा रहा है। साथ ही शक को उस समय बल मिलता है जब संदेहास्पद लोग आपस में ही विरोधाभाष बयान दें। अब तो तय हो गया कि सुशांत सिंह की मौत महज एक इत्तेफ़ाक रही ! इसके पीछे गहरी चाल है और कई लोगों के शामिल होने की प्रबल संभावना है
प्रस्तुति:- सतीश मिश्र...

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें