Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शनिवार, 25 जुलाई 2020

गोंडा से बच्चे का अपहरण कर 4 करोड़ की फिरौती मांगने वाले बदमाशों से मुठभेड़, महिला भी हुई गिरफ्तार

गोंडा से बच्चे का अपहरण कर 4 करोड़ की फिरौती मांगने वाले बदमाशों से मुठभेड़ के बाद सकुशल बरामद हुआ नमो गुप्ता...
फिरौती मांगने पर हुई अपहरण की जानकारी, महिला ने कॉल कर मांगी थी,फिरौती...
स्वास्थ्य विभाग की टीम का रूप धरकर आए थे,अपहरणकर्ता...
सूचना मिलते ही तमाम अफसर कारोबारी के पहुंचे थे,घर...
 एडीजी कानून ब्यवस्था की गोंद में अपहृत हुआ नमो गुप्ता और उसके माँ-बाप...
उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में पांच साल के बच्चे को अपहरण करने वाले 5 बदमाशों को यूपी एसटीएफ टीम से गिरफ्तार लिया है। बच्चे को अपहरण करने बदमाशों की पुलिस ने मुठभेड़ हुई है। जिसके बाद बदमाशों को पुलिस ने धर दबोचा हैं। इस मुठभेड़ में दो आरोपियों के पैर में गोली लगी है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किए सूरज पांडे पुत्र राजेंद्र पांडे निवासी शाहपुर थाना परसपुर जनपद गोंडा, छवि पांडे पत्नी सूरज पांडे, उमेश यादव पुत्र रमाशंकर यादव निवासी सकरोड़ा पूर्वी थाना करनैलगंज जनपद गोंडा और दीपू कश्यप पुत्र राम नरेश कश्यप निवासी सोनवारा थाना करनैलगंज जनपद गोंडा को गिरफ्तार किया है।
 गोंडा में पुलिस चौकी के पास से 5 वर्षीय बच्चे नमो गुप्ता का कल हुआ था,अपहरण...
बता दें कि गोंडा में शुक्रवार को एक 4 साल के बच्चे को अगवा कर परिजनों से फिरौती के तौर पर 4 करोड़ रुपए की डिमांड की गई थी। इस वारदात के बाद पुलिस में गोंडा से लेकर लखनऊ तक खलबली मच गई है। अपहरण की जानकारी मिलने के तुरंत बाद गोंडा पुलिस, उत्तर प्रदेश एसटीएफ, स्पेशल ऑपरेशनल ग्रुप और स्पेशलाइज सर्विलांस टीम मामले की छानबीन में जुट गई हैं। पुलिस ने शीघ्र ही अपहृत बच्चे को बरामद कर लिया है। शुक्रवार को करनैलगंज नगर के मोहल्ला गाड़ी बाजार में कस्बा पुलिस चैकी के पीछे रहने वाले गुटखा मसाला के एक बड़े विक्रेता राजेश कुमार गुप्ता के पांच वर्षीय पौत्र का बदमाशों ने अपहरण कर लिया। 
फोन कर फिरौती की माँग करने वाली छवि पांडे भी चढ़ी पुलिस के हत्थे...
परिजनों और पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक एक कार से स्वास्थ्य विभाग का परिचय पत्र गले में टांगकर कुछ लोग मोहल्ले में मास्क का वितरण करने के आए थे। लोगों का नाम एक कागज पर लिख रहे थे। मोहल्ले में सेनिटाइजेशन कराने और सेनिटाइजर का वितरण कर रहे थे। अपहरणकर्ता जब राजेश गुप्ता के घर के सामने पहुंचे तो उन्होंने सेनिटाइजर देने की बात कही। राजेश गुप्ता के 5 वर्षीय पोते को गोद में उठा लिया। साथ में लेकर चले गए। कहा कि गाड़ी से सेनिटाइजर निकाल कर देंगे। इतना कहकर बदमाश निकले और गाड़ी के पास पहुंचते ही बच्चे को लेकर फरार हो गए। यह जानकारी परिवार वालों को तब हुई जब बच्चे के पिता हरि गुप्ता के मोबाइल पर बदमाशों ने कॉल की। 

अपहरणकर्ताओं ने कहा कि चार करोड़ रुपए की व्यवस्था कर लो। बताया जा रहा है कि अपहरणकर्ताओं में कोई महिला शामिल नहीं थी, मगर एक महिला ने ही कॉल करके फिरौती मांगी। इसमें अनुमान लगाया जा रहा है कि वॉइस चेंजर के माध्यम से आवाज को बदलकर बात की गई है। घटना की सूचना मिलने के बाद तत्काल मौके पर पुलिस क्षेत्राधिकारी कृपा शंकर कनौजिया, कोतवाल राजनाथ सिंह और चौकी प्रभारी रणजीत यादव पहुंच गए। सभी पुलिस अधिकारी व कर्मचारी नगर में शुक्रवार की नमाज होने के कारण लगातार गश्त पर थे। पुलिस की गश्त तेज होने के बावजूद भी अपहरणकर्ताओं ने ऐसी घटना को अंजाम दे दिया। यह सूचना पूरे शहर में आग की तरह फैल गई है। राजेश गुप्ता के जानकार उनके घर पहुंच रहे हैं। दूसरी ओर एसएसपी और एसपी सिटी भी कारोबारी के घर पहुंचे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें