प्रतापगढ़ सीएमओ डॉ अरविन्द कुमार श्रीवास्तव के बेटे की कोरोना जाँच रिपार्ट पॉजिटिव आने से आज वास्तव में देखने को मिला हड़कंप

12:30:00 pm 0 Comments Views


➤जिलाधिकारी के 11 रत्नों में से एक रत्न प्रतापगढ़ सीएमओ डॉ अरविन्द कुमार श्रीवास्तव हैं, क्या उत्तर प्रदेश शासन अपने जिला प्रशासन से सम्बन्धित 11 रत्नों को भी क्वारंटाइन करेगा...???

"CMOसाहब ने अपने इस पत्र में कहा है कि तबियत खराब होने पर उन्होंने अपने पुत्र को बुलाकर जाँच कराई। अब कोई बीमार एटा से प्रतापगढ़ तक आने-जाने में न जाने कितने लोगों को संक्रमित बनाया होगा और न जाने कितने स्थान पर वायरस को छोड़ा होगा। अगर कोई दिक्कत उनके पुत्र को थी तो उसके इलाज की व्यवस्था एटा में भी हो सकती थी। अब एटा से प्रतापगढ़ तक संक्रमण की चेन बनाने के लिये CMOसाहब दोषी है। जिन्होंने अपने पद का दुरुपयोग किया है..."
जिलाधिकारी प्रतापगढ़ की प्रतिदिन की बैठक में शामिल होते हैं सीएमओ प्रतापगढ़...
➤दूसरों को ज्ञान देने वाला प्रशासनिक अमला अब सीएमओ आवास पर रुके उनके बेटे की जाँच रिपोर्ट कोरोना संक्रमण की पॉजिटिव मिलने से क्या कटरा रोड़ और सीएमओ आवास को जिला प्रशासन सील करेगा...???

➤क्या प्रतापगढ़ सीएमओ डॉ अरविन्द कुमार श्रीवास्तव और उनका चालक व चपरासी को क्वारंटाइन किया जाएगा...???

जिले में स्वास्थ्य महकमें के मुखिया मुख्य चिकित्साधिकारी अरविन्द कुमार श्रीवास्तव हैं और कई महीने से प्रतापगढ़ के स्वास्थ्य महकमें में जुआड़ टेक्नोलॉजी से डटे पड़े हैं। धन के वशीभूत सीएमओ प्रतापगढ़ को उस समय तगड़ा झटका लगा जब आज उनके बेटे की कोरोना संक्रमण की जाँच रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जब फोन कर उनका वर्जन लेना चाहा तो वो झुझला गए और आपे से बाहर हो गए और कहने लगे कि हाँ मेरे बेटे की जाँच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। कोरोना संक्रमण काल में भी सीएमओ प्रतापगढ़ डॉ अरविन्द कुमार श्रीवास्तव दोनों हाथों से कोरोना संक्रमण काल के बजट में अपनी लूट का प्रतिशत डबल कर दिए हैं। जबकि सीएमओ साहेब की पत्नी कारागार विभाग में डीआईजी रैंक की ऑफिसर हैं। उन्हें पैसे की कोई कमी नहीं है, परन्तु पैसे की भूख भी इंसान को पता नहीं क्या से क्या बना दे ? 


मुख्य चिकित्साधिकारी प्रतापगढ़ डॉ अरविन्द कुमार श्रीवास्तव...
कोविड-19 को लेकर प्रतापगढ़ से आज सही मायने में बड़ी खबर आई है। प्रतापगढ़ सीएमओ के बेटे की कोरोना जाँच रिपार्ट पॉजिटिव आने से असल में हड़कंप आज देखने को मिला। सीएमओ आवास से निकाल कर कोविड -19 हॉस्पिटल में शिफ्ट करने की तैयारी चल रही है। सीएमओ प्रतापगढ़ का बेटा एटा जनपद बैंक में नौकरी करता है और तीन दिन पहले परिवार सहित प्रतापगढ़ में आया था। अभी तक जिले में जब कोरोना संक्रमण की केस मिलती थी तो हड़कंप मचने की खबर लिखी जाती थी, परन्तु हकीकत में हड़कंप तब नहीं मचा होता था। असल हड़कंप तो आज ही देखने को मिला। चूँकि मुख्य चिकित्साधिकारी प्रतापगढ़ डॉ अरविन्द कुमार श्रीवास्तव जिलाधिकारी प्रतापगढ़ डॉ रुपेश कुमार के 11 रत्नों में से एक हैं और प्रतिदिन जिलाधिकारी प्रतापगढ़ की मीटिंग में सीएमओ साहेब सरीक होते हैं। 


 CMO प्रतापगढ़ का सफाईनामा...
सीएमओ प्रतापगढ़ के बेटे को कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और उनका लड़का यहीं प्रतापगढ़ में सीएमओ आवास पर ही रुका हुआ है। ऐसे में सीएमओ डॉ अरविन्द कुमार श्रीवास्तव स्वयं को लेकर आशंकित हैं और उनका चालक और चपरासी भी डरे हुए हैं। डरने की बात करें तो अब प्रशासनिक अमले के साथ-साथ स्वास्थ्य महकमा भी पूरी तरह से तब तक डरा हुआ रहेगा जब तक सीएमओ प्रतापगढ़ डॉ अरविन्द कुमार श्रीवास्तव की कोरोना जाँच होकर रिपोर्ट निगेटिव आ नहीं जाती। खासकर सीएमओ दफ्तर के लोग सब के सब  घबड़ाए हुए हैं और घुटन महसूस कर रहे हैं। उनके तो हलक सूख गए हैं, जिन्हें प्रतिदिन सीएमओ साहेब से जाकर फाइलों पर हस्ताक्षर कराना होता था। सीएमओ के बेटे की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर कटरा रोड पर दहशत में लोग। वहीं दूसरी तरफ कटरा रोड़ पर CMO आवास के सामने दुकानों पर सामान की खरीददारी सीएमओ के चालक और चपरासी करते हैं। सीएमओ डॉ अरविंद श्रीवास्तव का बेटा जो एटा में बैंककर्मी  है, वह तीन दिन पहले प्रतापगढ़ के सीएमओ आवास पर सपरिवार आया था। 

rameshrajdar

एक खोजी पत्रकार की सत्य खबरें जिन्हे पूरा पढ़े बिना आप रह ही नहीं सकते हैं ,इस खबर को पढ़ने के लिए............| Google || Facebook

0 टिप्पणियाँ: