Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 30 जून 2020

पूर्व केन्द्रीय मंत्री व समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्य रहे बेनी प्रसाद वर्मा के बेटे दिनेश वर्मा की कोरोना संक्रमण से हुई मौत

कोरोना संक्रमण से मौत का सिलसिला जारी...

पूर्व मंत्री स्व .बेनी प्रसाद वर्मा के बेटे दिनेश वर्मा की कोरोना संक्रमण से हुई मौत...
लखनऊ। पूर्व केन्द्रीय मंत्री व समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्य रहे बेनी प्रसाद वर्मा के बेटे दिनेश वर्मा की 30 जून 2020 को कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो गयी। कुछ माह पहले ही बेनी प्रसाद वर्मा की मौत हुई थी। दिनेश वर्मा का दिल्ली के एक प्राइवेट अस्पताल में इलाज चल रहा था जहां मंगलवार 30 जून 2020 को उनका निधन हो गया। बेनी प्रसाद वर्मा के बेटे दिनेश वर्मा कोरोना से पहले किडनी की बीमारी से भी परेशान थे और उनका इलाज चज रहा था। दिनेश वर्मा की मौत से परिवार और समाजवादी पार्टी से जुड़े लोगों में मातम पसरा हुआ है।

कोरोना वायरस को कुछ लोग जितना हल्के में ले रहे हैं वह उतना है नहीं। लोगों की लापरवाही का नतीजा है कि संक्रमण का मामला दिन-बा-दिन बढ़ता जा रहा है। समाजवादी पार्टी के नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री रहे दिवंगत बेनी प्रसाद वर्मा के बड़े बेटे की आज कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। दिनेश वर्मा का इलाज दिल्ली के एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में चल रहा था। उनकी मौत से सूचना पर परिवार व शुभचिंतकों में मातम पसरा गया है। कहा जा रहा है कि दिनेश वर्मा किडनी की बीमारी से भी पीड़ित थे। बीते दिनों कोरोना संक्रमण की पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद उन्हें लखनऊ के केजीएमयू में भर्ती कराया गया था। जहां ठीक होने पर उन्हें डिस्चार्ज भी कर दिया गया था। लेकिन जब किडनी की रेगुलर जांच के लिए दिल्ली के एस्कॉर्ट अस्पताल पहुंचे तो उनका फिर से कोरोना वायरस की जांच हुई, जिसमें वह एक बार फिर पॉजिटिव पाए गए थे। 

जानकारी के अनुसार बेनी प्रसाद वर्मा के पुत्र दिनेश वर्मा भंडारण निगम में बाबू के पद पर कार्यरत थे। किडनी और लिवर की समस्या से वह लंबे समय से जूझ रहे थे। वहीं वर्ष 2007 में उनका किडनी ट्रांसप्लांट भी हुआ था। जानकारों की माने तो उनकी मां ने उन्हें किडनी डोनेट की थी। उसी के इलाज के लिए वह समय-समय पर दिल्ली आते रहते थे। बीते दिनों तबीयत खराब होने पर लखनऊ में पहली बार दिनेश वर्मा की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। इसके बाद वह मेडिकल कालेज में भर्ती हो गए थे। जहां इलाज के बाद ठीक होने पर उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया था। किडनी लिवर के चल रहे इलाज के लिए वह दिल्ली एस्कार्ट हॉस्पिटल में भर्ती हुए थे। जहां उनकी दोबारा कोरोना की जांच कराई गई, जिसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आई। लेकिन मंगलवार इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।  

लॉकडाउन में ही पिता बेनी प्रसाद वर्मा की हुई थी,मौत...

लॉकडाउन के दौरान 27 मार्च को ही बेनी प्रसाद वर्मा की भी मौत लंबी बीमारी के बाद हो गई थी बेनी प्रसाद वर्मा समाजवादी पार्टी के संस्थापक और देश के दिग्गज नेताओं में शुमार किये जाते थे बेनी प्रसाद वर्मा समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सांसद थे। बेनी प्रसाद वर्मा उत्तर प्रदेश के कुर्मी समाज के सर्वमान्य नेता माने जाते थे यूपीए 2 सरकार में बेनी प्रसाद वर्मा केन्द्रीय इस्पात मंत्री थे। वे सपा संस्थापक मुलायम सिंह के बेहद करीबी माने जाते थे

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें