Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शुक्रवार, 17 जुलाई 2020

सीएम योगी आदित्यनाथ लखनऊ डीएम और सीएमओ से नाराज, योगी की नजर में डीएम और सीएमओ दोनों फेल

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने संभाली कमान, सीएमओ ऑफिस पर अवस्थी का छापा...
 कोरोना संक्रमण से निपटने में सीएम योगी आदित्यनाथ लखनऊ के डीएम और CMO से दिखे नाराज...
राजधानी लखनऊ में योगी सरकार के नाक के नीचे कोरोना महामारी के संक्रमण से निपटने के लिए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की जो ब्यवस्था है उससे स्वयं सूबे में मुखिया योगी आदित्यनाथ जी की भृकुटी तन गई है। मुख्यमंत्री की नजर में लखनऊ के डीएम और सीएमओ दोनों फेल साबित हुए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी को लखनऊ की स्थिति को सँभालने के लिए लगाया है।  

सूबे के मुखिया की नाराजगी भांपते हुए अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने सबसे पहले लखनऊ के सीएमओ ऑफिस पर छापा मारा। कोरोना बेड की लखनऊ में कमी से सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ जी नाराज हैं। मुख्यमंत्री योगी जी के नजर में लखनऊ के डीएम और सीएमओ दोनों फेल साबित हुए। इस कोरोना वैश्विक महामारी में जिस तत्परता से कार्य करना चाहिए उस तत्परता से न तो जिलाधिकारी लखनऊ कार्य कर रहे हैं और न ही मुख्य चिकित्साधिकारी ही कार्य कर रहे हैं। सिर्फ एक दूसरे के कन्धों पर अपने दायित्वों के निर्वहन की जिम्मेदारी डाल कर बचना चाहते हैं 


अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी और अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद...
अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी औचक निरीक्षण करने CMO दफ्तर पहुंचे तो सब हक्के बक्के हो गए। ईमानदारी के साथ सच्चाई से देखा जाए तो सूबे के 75जिले हैं और 75मुख्य चिकित्साधिकारी हैं। सबके सब फेल हैं। अब राजधानी लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी स्वयं नजर बनाये हुए हैं तो वहाँ उन्हें इसकी हकीकत दिख गई अन्यथा इससे भी खराब हाल अन्य जनपदों का है। जनपदों में तैनात जिलाधिकारी अपना सीयूजी नंबर तक नहीं उठा रहे हैं।  इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि सूबे में इन नौकरशाहों ने क्या हालात उत्पन्न कर रखे हैं। 

सिर्फ आगाज पर आदेश निर्देश के जरिये जिला की बागड़ोर चलाई जा रही है। प्रेस नोट के जरिये जनता में अपनी बात मीडिया के माध्यम से प्रकाशित करकर राजा बने जिले में जिलाधिकारी महोदय लोग बैठे हैं। आपदा काल को अवसर में बदलने के लिए सारे तिकड़म भिड़ाये जा रहे हैं।  सिर्फ कोरोना संक्रमण काल का बजट कैसे हजम हो उसी में दिमाग खपाया जा रहा है। योगी जी, कुछ करिए वर्ना ये नौकरशाह आपकी सरकार की नाक कटाने में देर नहीं करेंगे।  अभी वक्त है इन्हें सुधारने के लिए स्वयं कमान कसिये नहीं तो ये आपकी नैय्या डुबाकर ही डीएम लेंगे

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें