Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

बुधवार, 15 जुलाई 2020

भाजपा जिला मीडिया प्रभारी राघवेन्द्र शुक्ल हुए कोरोना पॉजिटिव,कोविड-19 एल वन हॉस्पिटल लालगंज में हैं,भर्ती

सदर विधायक राजकुमार पाल ने कराया अपना कोरोना संक्रमण का टेस्ट, रिपोर्ट आने का इंतजार...

कोरोना संक्रमण की टेस्ट रिपोर्ट सार्वजनिक होने से पहले मीडिया प्रभारी राघवेन्द्र शुक्ल ने छुपाये रखा अपना लक्षण ! इसबीच सांसद, विधायक और पार्टी पदाधिकारियों सहित जिले के अफसरों से करते रहे मुलाकात...

एहतियातन विधायक रानीगंज धीरज ओझा हुए होम क्वारंटीन, सांसद संगम लाल गुप्ता, विधायक राजकुमार पाल और भाजपा जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र सहित भाजपा के कई पदाधिकारियों के चेहरे की हवाईयाँ उड़ी...
भाजपा मीडिया प्रभारी राघवेन्द्र शुक्ल हुए कोरोना पॉजिटिव...
सदर विधायक के ऑफ द रिकार्ड प्रतिनधि राघवेन्द्र शुक्ल जो भाजपा संगठन के जिला मीडिया प्रभारी हैं और जिला अध्यक्ष हरिओम मिश्र के बहुत खास हैं। वो ऑफ द रिकार्ड सदर विधायक राजकुमार पाल के सारे कार्य निष्पादित करते हैं, उन्हें विगत 15 दिनों से बुखार और गले में खरास सहित कोरोना वायरस के संक्रमण के अन्य लक्षण मिल रहे थे, परन्तु मेडिकल स्टोर से दवा खाकर मामले को छुपाये हुए थे और विधायक, सांसद और भाजपा के तमाम पदाधिकारियों सहित जिले के बड़े अफसरों के आना-जाना राघवेन्द्र शुक्ल का रहता था
     सांसद प्रतापगढ़, संगम लाल गुप्ता और भाजपा जिला मीडिया प्रभारी राघवेन्द्र शुक्ल... 
देश में जब कोरोना वायरस संक्रमण की शुरुवात हुई और कानपुर से लखनऊ तक गायिका कनिका कपूर पैरासीटामोल सेवन करके अपने शरीर का तापमान नार्मल करके हवाई जहाज की यात्रा करते हुए हवाई अड्डे से बाहर निकल कर लोगों के साथ मीटिंग करने का मामला आया था तो कनिका कपूर के विरुद्ध लखनऊ में महामारी अधिनियम के तहत प्रशासन द्वारा मुकदमा दर्ज कराया गया था। उस समय लगा था कि शासन व प्रशासन चाक चौबंद है। परन्तु बात जब विधायक, सांसद और मंत्रियों की आई तो मामला वही ढ़ाक के तीन पात वाला ही सिद्ध हुआ। तभी तो इन माननीयों पर कार्यवाही करने से शासन-प्रशासन कन्नी काट जाता है। यही हाल रहा तो हम कोरोना संक्रमण से लड़ने में सालों का वक्त गुजार देंगे। 
 विधायक सदर राजकुमार पाल और उनके ऑफ द रिकार्ड प्रतिनिधि राघवेन्द्र शुक्ल...
सदर विधायक के ऑफ द रिकार्ड प्रतिनिधि और भाजपा जिला मीडिया प्रभारी राघवेन्द्र शुक्ल का आवास शुकुलपुर में है और वो अपना दफ्तर पी डब्लू डी के सामने डूडा के बगल बना रखे हैं। मीडिया प्रभारी महोदय अपना पता यहीं डूडा के बगल अपने दफ्तर का दे रखे हैं और जिला प्रशासन तो धृतराष्ट्र बना ही है। कन्टेन्मेंट जोन बनाने के लिए सीएमओ दफ्तर से जो पत्र आया उसमें राघवेन्द्र शुक्ल का रिहायसी पता न देकर दफ्तर का पता दे दिए जिसके कारण उनका आवास सील होने से बाख गया और दफ्तर वाला एरिया दुबारा सील हो गया। यही है जनप्रतिनिधियों की माया। 
 भाजपा मीडिया प्रभारी राघवेन्द्र शुक्ल अपने संगठन के साथियों के साथ प्रसन्न मुद्रा में...
भाजपा जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र और सदर विधायक राजकुमार पाल सहित कई अन्य भाजपाईयों का राघवेन्द्र शुक्ल के दफ्तर में दरबार सजता था। जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र तमाम बुराईयों को हजम करते हुए सुनील गोयल और मीडिया प्रभारी राघवेन्द्र से दूरी कम नहीं किये। अपने पहले कार्यकाल में राघवेन्द्र शुक्ल को पार्टी का जिला कोषाध्यक्ष बनाया तो इस बार पार्टी में जगह न मिलने पर मीडिया प्रभारी के पद की जिम्मेवारी सौंपी है। स्वयं भाजपा जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र जितना समय भाजपा के अधिकृत कार्यालय पर नहीं देते उससे भी अधिक समय अपने मीडिया प्रभारी राघवेन्द्र शुक्ल के दफ्तर में देते हैं। वहाँ रुके बिना भाजपा जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र का मानों सुख चैन सब छिन गया हो,परन्तु वहाँ रुकते अलग सी स्फूर्ति उनमें देखने को मिलती है। देखना है भाजपा जिला मीडिया प्रभारी अपने किन-किन साथियों को संक्रमित कर गए। 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें