Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 14 जुलाई 2020

कानपुर एनकाउंटर के दौरान पुलिस से लूटी AK-47 और इंसास राइफल्स विकास दुबे के घर से बरामद,विकास दुबे का सहयोगी शशिकांत भी चढ़ा पुलिस के हत्थे

गुड्डन त्रिवेदी समेत दो की ट्रांजिट रिमांड मंजूर, दोनों  आरोपियों को पुलिस ने महाराष्ट्र से किया था गिरफ्तार, रिमांड मिलने के बाद लाए जा रहे हैं,कानपुर...


प्रेस वार्ता करते उत्तर प्रदेश के एडीजी (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार...
कानपुर के बिकरू गांव में 2 जुलाई की रात दबिश देने गई पुलिस टीम पर विकास दुबे और उसके साथियों ने हमला किया था इस दौरान क्षेत्राधिकारी देवेंद्र मिश्रा समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। इसके बाद पुलिस को लगा कि मानो उसकी अस्मत ही लुट गई हो ! इसलिए खिसियाई उत्तर प्रदेश की पुलिस गैंगेस्टर अपराधी विकास दुबे की पूरी गैंग को नेस्तनाबूत करने की ठान ली घटना के बाद से विकास दुबे और उसके पांच साथी अभी तक मारे जा चुके हैं

कानपुर के बिकरू गाँव में दबिश पर गई पुलिस टीम के साथ गैंगेस्टर अपराधी विकास दुबे और उसकी टीम के साथ पुलिस टीम के मध्य 2 जुलाई की रात लगभग 1 बजे मुठभेड़ हो गई थी जिसमें पुलिस के डिप्टी एसपी समेत 8 पुलिस कर्मी शहीद हुए थे। उसके बाद उत्तर प्रदेश की पुलिस कानपुर के बिकरू गांव में डेरा डाल दिया और गैंगेस्टर विकास दुबे की गैंग का खात्मा करने की मानो प्रतिज्ञा कर ली हो। पुलिस मुठभेड़ के आरोपी और विकास दुबे के सहयोगी शशिकांत को पुलिस ने देर रात गिरफ्तार कर लिया। UP पुलिस द्वारा शशिकांत के सिर पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था। शशिकांत से पूँछताँछ  के आधार पर मुठभेड़ में लूटी गई पुलिस की AK-47 रायफल, 17 कारतूस और इंसास रायफल के 20 कारतूस बरामद कर लिए गए हैं।

उत्तर प्रदेश के एडीजी (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने मंगलवार को कानपुर में एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पुलिस मुठभेड़ में 50 हजार के इनामी अभियुक्त शशिकांत उर्फ सोनू को सोमवार देर रात्रि 2:50 बजे चौबेपुर से गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि शशिकांत ने पूँछताँछ में जानकारी दी कि लूटा गया असलहा उसके और विकास दुबे के मकान में छिपा है। इसी के आधार पर विकास दुबे के घर से AK-47 रायफल और 17 कारतूस और शशिकांत के घर से इंसास रायफल और 20 कारतूस बरामद हुए हैं। ये हथियार मुठभेड़ के दौरान पुलिस से लूटे गए थे। बता दें कि इससे पहसे विकास दुबे का राइट हैंड कहे जाने वाले अमर दुबे को 8 जुलाई को यूपी के हमीरपुर में यूपी एसटीएफ के साथ मुठभेड़ में मारा गया। अगले ही दिन 9 जुलाई को विकास दुबे के दो और करीबी साथी प्रभात मिश्रा व प्रवीण उर्फ बउवा दुबे गुरुवार सुबह पुलिस मुठभेड़ में मारे गए थे। 

"उत्तर प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने मंगलवार को कहा कि शशिकांत उर्फ सोनू को चौबेपुर से गिरफ्तार किया गया है और उसी की निशानदेही पर पुलिस से लूटे गए असलहे बरामद हुए हैं। पुलिस से लूटे कई हथियार बिकरू गांव से अपराधी विकास दुबे और शशिकांत उर्फ सोनू के घर से सभी असलहे और गोलियां बरामद कर लिए गए हैं। गैंगेस्टर अपराधी विकास दुबे के घर से AK-47 और 17 कारतूस मिले हैं, जबकि शशिकांत उर्फ सोनू के घर से इंसास रायफल और उसके 20 कारतूस बरामद किये गए हैं..."

एडीजी ने आगे बताया कि कानपुर एनकाउटंर केस में 21 आरोपियों के नाम सामने आए हैं, जिसमें से अब तक चार को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि छः आरोपी अलग-अलग पुलिस मुठभेड़ में मारे गए है। उन्होंने बताया कि अभी अन्य 11 की तलाश की जा रही है। आपको बता दें कि विकास दुबे 10 जुलाई को पुलिस एनकाउंटर में उज्जैन से कानपुर लाते समय रास्ते में मारा गया। यूपी एसटीएफ की टीम विकास को उज्जैन से लेकर कानपुर आ रही थी तभी बीच में जिस वाहन में विकास सवार था वो गाड़ी पलट गई। इसके बाद विकास ने सुरक्षाकर्मियों की पिस्टल छीनकर उनपर फायरिंग करते हुए भागने लगा। सुरक्षाकर्मियों ने भी अपने बचाव में गोलियां चलाईं, जिसमें विकास गंभीर रूप से घायल हो गया। सुरक्षाकर्मी उसे लेकर अस्पताल पहुंचे, जहां डाक्टरों ने विकास को मृत घोषित कर दिया।

गुड्डन त्रिवेदी समेत दो की ट्रांजिट रिमांड मंजूर...

वहीं, महाराष्ट्र के ठाणे की एक अदालत ने सोमवार को विकास दुबे के करीबी गुड्डन त्रिवेदी और उसके चालक की चार दिन की ट्रांजिट रिमांड मंजूर कर ली है। इसके आधार पर पुलिस उसे मंगलवार को कानपुर लेकर आएगी। दीगर है कि ठाणे के ढोकली इलाके की एक चॉल से महाराष्ट्र एटीएस ने शनिवार को अरविंद उर्फ गुड्डन त्रिवेदी और उसके चालक सुशील कुमार उर्फ सोनू तिवारी को गिरफ्तार किया गया था।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें