Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

रविवार, 14 जून 2020

विधायक धीरज ओझा के प्रयास से मान गए मृतक मिठाई लाल के परिजन, प्रयागराज में ही हुआ दाह संस्कार


समर्थकों के साथ रसूलाबाद घाट पहुँचे रानीगंज विधायक धीरज ओझा...

 मिठाई लाल के अंतिम संस्कार में पहुँचे विधायक धीरज ओझा...
प्रतापगढ़। रानीगंज थाने के अन्दर हमले में इलाज के दौरान मौत के बाद शाशन-प्रशाशन पर मृतक मिठाई लाल के परिजनों ने दबाव बनाने का आरोप लगाया। प्रयागराज में पोस्टमार्टम के बाद मिठाई लाल का शव गाँव नहीं आया। मिठाई लाल का अंतिम संस्कार प्रयागराज में ही हुआ। रानीगंज के थानाध्यक्ष मृत्युंजय मिश्रा घटना के बाद से ही लगातार प्रयागराज में डटे रहे। क्षेत्रीय विधायक धीरज ओझा और एएसपी पूर्वी,एसडीएम रानीगंज,सीओ रानीगंज और स्थानीय नेता परिजनों को मनाने में जुटे रहे। विधायक धीरज ओझा के आश्वासन पर मिठाई लाल के परिजन मान गए।विवादित भूमि का जल्द निस्तारण कराने, मृतक के बेटे को नौकरी, कृषि बीमा के 5 लाख रूपये, आवासीय जमीन का पट्टा, बेटी की शादी में सरकारी सहायता एव निजी मदद और एक सरकारी इण्डिया मार्का पर अंतिम संस्कार प्रयागराज में ही करने को परिजन मान गए। रानीगंज से विधायक धीरज ओझा संग मृतक मिठाई लाल के परिजन अंतिम संस्कार के लिए प्रयागराज गए।

➤रानीगंज थाने में मृतक मिठाई लाल के हत्यारे को सजा दिलाई जायेगी- विधायक धीरज ओझा 


थाने में अधेड़ व्यक्ति मिठाई लाल के हत्याकांड का मामला जब गर्म हुआ तो उसे सँभालने की जिम्मेवारी भाजपा विधायक धीरज ओझा ने निभाई। वो मृतक के गांव पहुँचे और परिजनों से मिलकर घटना पर दुःख जताया। परिजनों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया और हत्यारोपी को सजा दिलाने का भरोसा दिलाया रानीगंज थाने के अन्दर घटित हुई घटना पर बेहद ही शर्मनाक बताते हुए गहरा दुःख ब्यक्त किया। रानीगंज थाने में सनकी व्यक्ति ने फावड़े से हमला कर मिठाई लाल की हत्या का प्रयास किया था और जब मिठाई लाल का इलाज के दौरान मौत हो गई तब परिजनों में कोहराम मच गया। विधायक रानीगंज अभय कुमार उर्फ धीरज ओझा जी पोस्टमार्टम के पश्चात अंतिम संस्कार के दौरान रसूलाबाद घाट पहुँचे। मृतक मिठाई लाल के पुत्र अरुण कुमार को अंतिम क्रिया एवं अन्य कार्यों के लिए 50000/-(पचास हजार रुपये) नकद विधायक धीरज ओझा ने सहायता प्रदान की।

➤विधायक धीरज ओझा ने माना कि थाने के अंदर घटित घटना दुखद है...



पारिवारिक झगड़े में रानीगंज थाने में बैठाए गए आमापुर बेर्रा निवासी मिठाई और उसके भतीजे के बीच एक विछिप्त ब्यक्ति थाने के अन्दर रात्रि में सोते समय फावड़े से हत्या करने की कोशिश की तब तक थाने में कार्य कर रहे दीवान और मुंशी सहित पहरा ने उस विछिप्त ब्यक्ति को दबोच लिया और आनन-फानन में घायल मिठाई लाल को रानीगंज पुलिस जिला अस्पताल लाई जहाँ से उसे SRN हॉस्पिटल प्रयागराज के लिए रेफर कर दिया गया। पुलिस अपनी कमी पचाने के लिए मिठाई लाल का इलाज एक प्राइवेट हॉस्पिटल में कराया फिर भी मिठाई लाल को पुलिस बचा न सकी मिठाई लाल के मौत के बाद लाश का अंतिम संस्कार करने के लिए पुलिस और प्रतापगढ़ का जिला प्रशासन चाहता था कि मिठाई लाल का अंतिम संस्कार वहीं प्रयागराज में कर दिया जाए। मिठाई लाल का शव प्रयागराज से घर न लाया जाए

रानीगंज थाने के अंदर पुलिस की घोर लापरवाही से पुलिस अभिरक्षा में मिठाई लाल पर कातिलाना हमला हुआ और इलाज के बाद उसकी मौत हुई। मौत के बाद मृतक के पुत्र को सांत्वना देते विधायक रानीगंज धीरज ओझा...


जिला प्रशासन और पुलिस अपनी कमी छिपाने और मामले को दबाने के लिए क्षेत्रीय विधायक का सहारा लिया। एक योजना के तहत परिजनों को मनाने पहुँचे विधायक रानीगंज अभय कुमार उर्फ धीरज ओझा ने मृतक की पत्नी कुंता देवी, पुत्रियों समेत गुस्साये अन्य परिजनों व आक्रोशित ग्रामीणों को समझाते हुए उनकी ओर से प्रस्तुत मांग पत्र पर मृतक के बेटे को नगर पंचायत सुवंसा में नौकरी, बेटी की शादी के लिए सरकारी सहायता के साथ निजी मदत, आवासीय पट्टा, कृषक बीमा के तहत 5 लाख, पेयजल हेतु एक इंडिया मार्का हैंडपम्प के साथ तात्कालिक लाभ दिए जाने की घोषणा की जिसके बाद परिजन विधायक धीरज ओझा के साथ पोस्टमार्टम एवं अंतिम संस्कार के लिये प्रयागराज रवाना हुए। इस दौरान प्रमुख गौरा राकेश सरोज, अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी एस.पी. द्विवेदी, एसडीएम रानीगंज राहुल यादव, सीओ अतुल तिवारी, तहसीलदार श्रद्धा पाण्डेय, प्रतिनिधि नीरज ओझा, मीडिया प्रभारी ललित तिवारी, पूर्व प्रमुख वेद प्रकाश इत्यादि उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें