भारत के दबाव में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का निर्णय

7:17:00 am 0 Comments Views

पाकिस्तान को दी जाने वाली 1.3 बिलियन डॉलर की मदद अभी नहीं...!!! 
44 जवान खोने के बाद भारत है बेहद गुस्से में,बना रहा है पाक के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की योजना-ट्रम्प...!!! 
अपने ओवल ऑफिस में प्रेस वार्ता में अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा दोनों देशों के बीच बढ़ता तनाव चिंतनीय...!!! 
हमले के पीछे के सरपरस्तों को सजा मिलनी चाहिए-UNSC
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपनी दोस्ती को जताते हुए जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के मद्देनजर पाकिस्तान को जमकर हड़काया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने अमेरिकी मदद का गलत फायदा उठाया है। इसके साथ ही ट्रंप ने पाकिस्तान को दिए जाने वाली 1.3 बिलियन डॉलर की मदद को तत्काल प्रभाव से रोक दिया। इस दौरान उन्होंने पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के पैदा तनाव को बेहत खतरनाक बताया। इतना ही नहीं अमेरिकी राष्ट्रपति ने इशारों ही इशारों में पाकिस्तान को आगाह भी किया कि भारत इस समय कुछ बड़ा करने की सोच रहा है। भारत पाकिस्तान के खिलाफ एक बड़ी कार्रवाई की योजना बना रहा है।
#दोनों देशों के बीच तनाव खतरनाक स्थिति में...
अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने वाशिंगटन स्थित ओवल ऑफिस में एक पत्रकार वार्ता का आयोजन किया था। इस दौरान उन्होंने भारत और पाकिस्तान के बीच इन दिनों जारी गतिरोध पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच तनाव बेहद खराब स्थिति में पहुंच गया है। हम लोग चाहेंगे कि ये सब बंद हो ।जम्मू कश्मीर के पुलवामा में कुछ दिनों पहले हुए आतंकी हमले में 44 सीआरपीएफ के जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद से भारत अपने जवानों को खोने से भारी गुस्से में है।
#पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई...
इस दौरान ट्रंप ने कहा कि भारत सरकार इस समय पाकिस्तान के खिलाफ बहुत कड़ा कदम उठाने की योजना बना रही है। भारत ने हाल में अपने 50 जवानों को खोया है। इसके बाद वह कुछ सख्त फैसले लेने पर विचार कर रहा है। मौजूदा समय में कई लोग कई तरह की बातें कर रहे हैं। लेकिन जम्मू कश्मीर में जो कुछ भी हुआ उसके बाद भारत और पाकिस्तान के बीच स्थिति बेहद खराब है।
#UNSC ने भी की पुलवामा हमले की निंदा...
वहीं पुलवामा हमले की निंदा करने वालों में UN की निर्णय लेने वाली सबसे बड़ी संस्था संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद भी जुड़ गई है। UNSC ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का जिक्र करते हुए कहा कि इस हमले के पीछे आतंक के जिन सरपरस्तों का हाथ है उन्हें सजा मिलनी चाहिए। UNSC ने इस हमले को जघन्य और कायराना हरकत बताया। इससे इतर, अमेरिका के न्यूजर्सी और न्यूयॉर्क में भारतीय मूल के लोगों ने पुलवामा आतंकी हमले के खिलाफ प्रदर्शन किया और विश्व समुदाय से पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की।

rameshrajdar

एक खोजी पत्रकार की सत्य खबरें जिन्हे पूरा पढ़े बिना आप रह ही नहीं सकते हैं ,इस खबर को पढ़ने के लिए............| Google || Facebook

0 टिप्पणियाँ: