Breaking News

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 8 मार्च 2022

विधानसभा चुनाव-2022 के परिणाम से पहले यूपी के सट्टा बाजार में जीत और हार पर लग रहा है, दांव

एग्जिट पोल ने सट्टा बाजार की गर्माहट में कमी तो लाई है, परन्तु सटोरियों ने सट्टा बाजार के भाव को बढायें रखने के लिए अपनाया अलग तरीका, छोटे-छोटे चैनलों और सोशल मीडिया के सहारे अपने-अपने एग्जिट पोल में पार्टियों और प्रत्याशियों को जिताने का किया जा रहा है,दावा...  

सटोरियों ने गरमा रखा है,सट्टा बाजार का भाव...

सात चरणों में सम्पन्न हुए उत्तर प्रदेश का विधानसभा चुनाव-2022 के सम्पन्न होते ही सटोरियों ने सट्टा बाजार में गर्माहट पैदा कर दी है समाजवादी पार्टी और भाजपा के प्रत्याशियों के लिए सट्टा प्रेमियों ने एक विधानसभा के लिए लाखों रूपये की बोली लगा दी है। सूबे की सभी 403 सीटों पर सटोरियों ने सट्टा लगाने में पीछे नहीं रहे। सट्टा बाजार में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के दोबारा सत्ता में आने को लेकर कयास लगाये गये हैं। यही नहीं सट्टा बाजार की पहली पसंद भाजपा ही है जो उनके अनुमान के मुताबिक इस बार 220 सीटों पर सिमट रही है और दूसरे स्थान पर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) है, जिसके बारे में उनकी राय है कि इस चुनाव में सपा का पहिया 135 से 140 सीट के बीच ही रहेगा।  


सटोरियों ने जनवरी में बीजेपी के उत्तर प्रदेश (UP) में 230 सीट जीतने का अनुमान लगाया था, लेकिन सात चरण के चुनाव के अंतिम दौर में अब सटोरियों का अनुमान है कि प्रदेश की 403 सीटों पर से इस बार 220 सीटों पर भी कमल का फूल खिल पायेगा। एक सट्टेबाज ने अपना नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि भाजपा को अधिक सीटें मिलने का अनुमान था, लेकिन किसानों ने पूरा समीकरण बदल दिया अंतिम चरण के चुनाव से पहले फिर लहर बदल गयी है हमारा अनुमान है कि इस बार भाजपा को 220 सीटें ही मिलेंगी सटोरियों के मुताबिक शुरुआती हार के बाद भाजपा बहुमत से चुनाव जीतेगी अगर सटोरियों के अनुमान के मुताबिक भाजपा इस बार चुनाव जीतती है तो 21 साल में ऐसा पहली बार होगा, जब एक ही पार्टी दोबारा सत्ता में आयेगी। 


सट्टा बाज़ार में सटोरियों ने चुनाव के शुरूआती रुझान को देखते हुये सपा को 130 सीटें दी थीं, लेकिन अब उन्होंने इसके 135 से 140 सीट पर जीत हासिल करने का अनुमान लगाया है सट्टेबाजों ने भाजपा और सपा दोनों के लिये 100 का 100 भाव लगा रहे हैं कांग्रेस और आम आदमी पार्टी दोनों को सटोरिये कोई भाव नहीं दे रहे हैं उनके मुताबिक ये दोनों पार्टियां बस मूक दर्शक हैं हालांकि सटोरियों ने बहुजन समाजवार्टी के लिये सिर्फ 15 सीटों पर ही जीत का अनुमान लगाया है सट्टा बाजार पेशेवरों के जरिये अपना कारोबार करता है और इस बाजार में सिर्फ उनके भरोसेमंद ग्राहक ही पैसा लगा सकते हैं। जब एग्जिट पोल ने सट्टा बाजार का भाव खराब करना चाहा तो सटोरियों ने विधानसभावार पार्टी छोड़कर प्रत्याशियों पर दांव लगाना शुरू कर दिए। ऐसा करने से सट्टा बाजार का सूचकांक में गिरावट न आ सकी। 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें