Breaking News

Post Top Ad

Your Ad Spot

शुक्रवार, 25 फ़रवरी 2022

उत्तर प्रदेश में पांचवें चरण का चुनाव प्रचार थमा, 12 जिलों की 61 सीटों पर 27 को होगा मतदान

पांचवें चरण में देखना होगा कि यह गीत योगी बाबा के सन्दर्भ में जो गाया जा रहा है कि जो राम को लाये हैं,हम उनको लायेंगे,यूपी में हम फिर से भगवा लहरायेंगे...

उत्तर प्रदेश में पांचवें चरण का चुनाव प्रचार थमा...

लखनऊ उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण के लिए चुनाव प्रचार शुक्रवार शाम पांच बजे थम गया। इस चरण में 12 जिलों की 61 सीटों पर 27 फरवरी को मतदान होगा। राज्‍य के मुख्‍य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने बताया कि पांचवें चरण के चुनाव के लिए शुक्रवार शाम छह बजे के बाद से जनप्रतिनिधियों द्वारा किए जा रहे प्रचार-प्रसार पर प्रभावी रूप से रोक लग जायेगी और यह रोक पांचवें चरण के मतदान समाप्त होने तक अर्थात 48 घंटे तक प्रभावी रहेगी। उन्होंने बताया कि पांचवें चरण के मतदान की तैयारी पूरी कर ली गई है और 27 फरवरी को स्वतंत्र, निष्पक्ष, पारदर्शी तरीके से मतदान सम्पन्न कराने के लिए आवश्यक व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं। बता दें कि पांचवें चरण में 692 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, जिनकी राजनीतिक तकदीर का फैसला करीब 2.24 करोड़ मतदाता करेंगे। 


मतदान सुबह सात बजे से सायं छः बजे तक होगा। पांचवें चरण में अमेठी, रायबरेली, सुल्तानपुर, चित्रकूट, प्रतापगढ़, कौशांबी, प्रयागराज, बाराबंकी, अयोध्या, बहराइच, श्रावस्ती एवं गोंडा जिले के विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होगा। उल्लेखनीय है कि पांचवें चरण में उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य अपने गृह जनपद कौशांबी के सिराथू विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के उम्मीदवार हैं, जिनके मुकाबले समाजवादी पार्टी ने अपना दल (कमेरावादी) की नेता पल्लवी पटेल को मैदान में उतारा है। पल्लवी पटेल की बहन और केंद्र सरकार में मंत्री अनुप्रिया पटेल केशव प्रसाद मौर्य के पक्ष में बहुत दबाव के बाद चुनाव प्रचार के लिए तैयार हुई थी। इस चरण में अयोध्या से लेकर प्रयागराज और चित्रकूट जैसे धार्मिक क्षेत्रों में मतदान होना है। देखना होगा कि यह गीत योगी बाबा के सन्दर्भ में जो गाया जा रहा है कि जो राम को लाये हैं, हम उनको लायेंगे, यूपी में हम फिर से भगवा लहरायेंगे...


1 टिप्पणी:

  1. जिसे बोलना नही आता पढकर लंदन से आया है उसके हाथ मे सत्ता देना सबसे बडी भूल है जो अपने प्रत्याशी का नाम भूल जाता हो वो जनता को कैसे याद रखेगा जिसे विधान सभा का नाम नही पता वो आपके क्षेत्र का खियाल कैसे रखेगा मतदान एक ऐसी चीज है वो आपके जीवन के सबसे कीमती चीज है जिससे आप अपना और अपने बच्चों , अपने धर्म, अपने देश के भविष्य को खरीद सकते है ��������



    27 फरवरी का कार्य :
    पहले मतदान,
    फिर जलपान,,

    जवाब देंहटाएं

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें