Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शनिवार, 15 जनवरी 2022

विश्वनाथगंज विधानसभा की ग्राम बहुचरा निवासी कवयित्री डॉ अंजना सिंह शिक्षा जगत के बाद अब राजनीति के क्षेत्र में उतर कर इस बार विधानसभा चुनाव लड़ने को हैं, आतुर

डॉ अंजना सिंह सेंगर मुज्जफरनगर के जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह की पत्नी एवं कवयित्री हैं और विश्वनाथगंज विधानसभा की ग्राम बहुचरा निवासी हैं, साथ ही जिले में संस्कार ग्लोबल जैसी शिक्षण संस्थान संचालित करके जिले में अपना नाम रोशन किया है...

 डॉ अंजना सिंह (कवयित्री)...

दिल्ली की भारत निर्माण फाउंडेशन संस्था ने द्वारा दुबई में 8वें एशियाड साहित्य समारोह आयोजित हुआ। इसमें डॉ. अंजना सिंह सेंगर को साहित्य के क्षेत्र में सराहनीय योगदान के लिये महावाणिज्यदूत विपुल ने भारत निर्माण लिटरेरी एक्सीलेंस अवार्ड से सम्मानित किया। डॉ. अंजना सिंह सेंगर मुज्जफरनगर के जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह की पत्नी एवं कवयित्री हैं...

 

प्रतापगढ़ जिले की विश्वनाथगंज विधानसभा की बात करें तो उस विधानसभा में सबसे अधिक क्षत्रिय मतदाता हैं। विश्वनाथगंज विधानसभा की ग्राम बहुचरा निवासी डॉ अंजना सिंह भी इस बार के चुनावी रणभूमि में उतरने का मन बना चुकी है। देश की राजनीति में महिलाओं की भागीदारी को तरजीह देने की बात तो सभी करते हैं, परन्तु जब महिलाओं को असल में उनके हक देने की बारी आती है तो सबके सब कन्नी काट लेते हैं जिले में कई नेत्रियां हैं, परन्तु राजनीतिक दलों द्वारा उन्हें कभी टिकट नहीं दिया जाता है और अंत में वह मन मसोस कर रह जाती हैं। ऐसी ही एक नेत्री डॉ अंजना सिंह हैं जो राजनीति को अपना क्षेत्र चुनकर जनमानस के बीच जनता की सेवा करने का मन बना ली हैं।  


हालांकि डॉ अंजना सिंह को अभी किसी दल ने टिकट देने की बात स्वीकार नहीं की है, परन्तु डॉ अंजना सिंह अपनी दावेदारी पेश कर यह जता दिया है कि इस बार वह विधानसभा के चुनावी मैदान में जरुर उतरेगी। डॉ अंजना सिंह ने बताया की वह भाजपा और उसके गठबंधन दल अपना दल एस से लगातार सम्पर्क में हैं। यदि पार्टी ने टिकट दिया तो वह चुनाव अवश्य लड़ेगी और विश्वनाथगंज विधानसभा की सीट पुनः पार्टी की झोली में ही रहेगी। ऐसा उनका जनता के प्रति विश्वास है जबकि उनके समर्थकों की दृढ़ इच्छाशक्ति की बात करें तो वह अपने नेत्री को भाजपा और उसके गठबंधन दल अपना दल एस से टिकट न मिलने की दशा में भी चुनाव लड़ाकर विधानसभा तक पहुँचाना चाहते हैं दल न सही तो निर्दल ही क्यों न चुनाव लड़ाया जाए ! डॉ अंजना सिंह के चुनावी समर में उतरने का कारण क्षेत्र की जनता को माना जा रहा है। 


जानकारी के मुताबिक विगत कई माह से क्षेत्रवासी उनसे विधानसभा चुनाव लड़ने का आग्रह करते आ रहे हैं। बताते चले कि डॉ अंजना सिंह प्रतापगढ़ में शिक्षा के क्षेत्र में अहम योगदान दे रही है। उनके द्वारा यहां पब्लिक स्कूलों और महाविद्यालय के साथ-साथ रोजगार हेतु तकनीकि शिक्षा के संस्थानों का संचालन भी कई वर्षों से किया जा रहा है। इसके साथ ही डॉ अंजना सिंह ने अपनी साहित्य प्रतिभा से प्रतापगढ़ जिले का नाम देश-दुनिया में भी खूब रोशन किया है। विश्वनाथगंज विधानसभा में जातिगत समीकरण को देखते हुए कुर्मी समाज के बराबर ही क्षत्रियों का विशाल वोटबैंक है। इस दृष्ठि से भी डॉ अंजना सिंह चुनावी दंगल की एक मजबूत उम्मीदवार नजर आती हैं।अब देखना है कि डॉ अंजना सिंह को किसी राजनीतिक दल द्वारा टिकट मिल भी पाता है अथवा उन्हें एकला चलो की तरह निर्दल ही अपनी किस्मत विश्वनाथगंज की विधानसभा में आजमाना पड़ेगा


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें