Breaking News

Post Top Ad

Your Ad Spot

सोमवार, 31 जनवरी 2022

कांग्रेस पार्टी ने बिसवां विधानसभा से पहले से घोषित प्रत्याशी अभिनव राजा भार्गव का नाम बदलकर उनकी माता वन्दना भार्गव को मैदान में दिया है,उतार

ये कांग्रेस प्रत्याशी अभिनव राजा भार्गव की गलती नहीं, बल्कि कांग्रेस पार्टी की किस्मत ही कुछ ऐसी हो चुकी है कि उसके घोषित उम्मीदवार का नाम ही मतदाता सूची से हो जा रहा है,गायब...

मतदाता सूची में नाम न होने पर बेटे के स्थान पर माँ को मिला टिकट...

टिकट बदलने में सबसे रोचक बात तब बाहर निकल कर आयी जब पहले से घोषित प्रत्याशी अभिनव राजा भार्गव और उनकी पत्नी राधिका भार्गव का सीतापुर जनपद की वोटर लिस्ट से नाम ही गायब है। नामांकन के तैयारी के दौरान यह बात सामने निकलकर आयी है, जिसके बाद कांग्रेस हाईकमान ने आज उनकी मां को प्रत्याशी घोषित कर दिया है। अभिनव राजा भार्गव का आरोप है कि यह विपक्षियों की चाल है कि उनका और उनकी का ओवर लिस्ट से नाम गायब है।


लिस्ट में नाम रिप्लेश कर पुरुष प्रत्याशी की जगह महिला को दिया टिकट...


कांग्रेस हाईकमान ने सीतापुर में सबसे पहले सदर सीट से शमीना शफीक और बिसवां से अभिनव राजा भार्गव को मैदान में उतारा था लेकिन जब नामांकन के लिए अभिनव राजा ने कागजात तैयार शुरू करवाने किये तो उन्हें पता चला कि सीतापुर ही नही यूपी की वोटर लिस्ट से उनका और उनकी पत्नी का नाम ही गायब है। नामांकन के महज चार दिन ही शेष बचे है और इस दौरान ओवर लिस्ट में नाम न होने के चलते बिसवां प्रत्याशी ने कांग्रेस हाईकमान से संपर्क साधा और टिकट में नाम बदलने की सिफारिश की।


कांग्रेस ने महिला प्रत्याशी को मैदान में उतारा...


कांग्रेस हाईकमान ने काफी मंथन के बाद अभिनव राजा भार्गव की सिफारिश पर अब उनकी मां वन्दना भार्गव को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है। अभिनव राजा भार्गव का कहना है कि उनका और उनकी पत्नी का नाम वोटर लिस्ट से कटवाना विरोधियो की यह चाल है जिससे कि वह चुनाव नही लड़ सके। उनका कहना ही कि वह इससे पहले भी पीस पार्टी के टिकट पर 2007 में चुनाव भी लड़ चुके है लेकिन इस बार ओवर लिस्ट से नाम गायब होने के चलते उन्होंने अपनी मां को चुनाव मैदान में उतार दिया है और जल्द ही वह नामांकन पत्र दाखिल करेंगे।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें