Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

बुधवार, 5 जनवरी 2022

IAS की बहू का सुसाइड का सस्पेंस अभी भी बरकरार, पिता से होती प्रतिदिन बात, कहती थी अच्छी हूं, पापा

हमेशा खुश रहने वाली को अचानक जाने क्या हुआ, पिता रोज मैसेज पर लेते रहते थे, हाल चाल...


IAS बीएल मेहरा की बहू प्रियंका उर्फ भावना की हुई संदिग्ध दशा में मौत...

जोधपुर। जहर पीकर सुसाइड करने वाली IAS बीएल मेहरा की बहू प्रियंका उर्फ भावना हमेशा खुश रहती थी। परिजन भी हैरान हैं कि अचानक ऐसा क्या हो गया ? पिता नंद किशोर व्यास ने कहा कि वह रोज मैसेज कर अपनी बेटी से हाल-चाल पूछते थे। वह हमेशा कहती थी- अच्छी हूं पापा। उन्होंने बताया, 'नए साल के मौके पर 1 जनवरी को हमें बेटी से मिलने ससुराल जाना था। हालांकि हम लोग थोड़े लेट हो गए थे। इसी बीच 1 जनवरी को दोपहर करीब 12:40 बजे प्रियंका का कॉल आया। बेहद सुस्त आवाज में बोली, मेरी तबीयत ठीक नहीं है, आप जल्दी आ जाओ। मैं छोटी बेटी को साथ लेकर बाइक से कुछ ही मिनट में उसके ससुराल पहुंच गया। वहां घर के अंदर गए तो प्रियंका लेटी थी। पास में उसकी सास और दो ननद थीं। मुझे देखकर बोली- पापा, मेरे पेट में दर्द हो रहा है। उसे तुरंत निजी हॉस्पिटल लेकर पहुंचा। वहां उसे इमरजेंसी में ले गए। डॉक्टर ने जहर का शक जताया तो मैं हतप्रभ हो गया। 


इन सबके बीच मेरे दामाद सुरेंद्र भी हॉस्पिटल पहुंच गए। प्रियंका को आईसीयू में ले गए, लेकिन तमाम प्रयासों के बाद भी मेरी बेटी बच नहीं पाई। वहीं, जान देने के पीछे के कारणों की जोधपुर पुलिस जांच कर रही है। चूंकि प्रियंका की शादी हुए अभी दो महीने ही हुए थे, इसलिए दहेज, घरेलू कलह व प्रताड़ना की आशंका को लेकर ADM सिटी रामचंद्र भी केस की जांच कर रहे हैं। प्रियंका के पति बतौर एलडीसी शिक्षा विभाग में कार्यरत है, जबकि ससुर आईएएस अधिकारी बीएल मेहरा बीकानेर में संभागीय आयुक्त हैं। उनका हाल ही में अजमेर ट्रांसफर कर दिया गया है, लेकिन बताया जा रहा है कि उन्होंने नई जगह अभी जॉइन नहीं किया है। एक पढ़े लिखे परिवार और आर्थिक रूप से सम्पन्न परिवार में लोग अपनी बेटी की शादी इसलिए करता है कि उसकी लाडली सुख शांति से जीवनयापन करेगी। परन्तु घर परिवार में कभी-कभी सबकुछ होते हुए भी परिवार में आंतरिक कलह इस कदर होती है कि उसे बाहर के लोग एहसास ही नहीं कर पाते। 


ऐसे में शादी विवाह के बाद भी जान नहीं पाते कि उनकी लाडली बेटी सुख में है अथवा दुखों के पहाड़ के नीचे दबी है ? जब तक माता-पिता और भाई जान पाते हैं, तब तक दृढ़ इच्छाशक्ति से कमजोर लड़कियां आत्महत्या करने के प्रति अपनी धारणा को आगे बढ़ाते हुए अपनी जीवन लीला ही खत्म कर लेती हैं। प्रियंका के छोटे भाई नवीन कुमार ने बताया कि शादी के बाद से सब नॉर्मल था दीदी ने एम कॉम किया था। शादी से पहले हमारी फैक्ट्री के अकाउंट्स का काम देखती थीं। 14 नवंबर को ही शादी हुई थी। सब कुछ नॉर्मल था। क्या हुआ, कुछ कह नहीं सकते। उधर पत्नी की तबीयत को लेकर पति भी स्कूल में परेशान था। प्रियंका के पति सुरेन्द्र राजमहल स्कूल में एलडीसी के पद पर कार्यरत है। घटना वाले दिन भी वे नौकरी पर गए थे। स्कूल में काम के दौरान वह पत्नी के लिए परेशान भी थे। जांच में सामने आया कि स्टाफ को नए साल की शुभकामनाएं दी, तब सुरेन्द्र ने पत्नी की तबीयत को लेकर चिंता जताई थी। उसने बोला पत्नी बीमार है। पेट दर्द व उल्टी हो रही है। सुरेन्द्र के स्टाफ ने बताया कि शादी के बाद से वो खुश नजर आता था। हमेशा पत्नी की तारीफ करता था। शादी के बाद दोनों घूमने जोधपुर से बाहर गए थे। 


दरअसल, जोधपुर हाईकोर्ट कॉलोनी निवासी प्रियंका उर्फ भावना ने 1 जनवरी को कीटनाशक का सेवन किया था। गंभीर हालत में निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उपचार के बीच शनिवार रात उसने दम तोड़ दिया। पुलिस ने शव का एमजीएच में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवा पीहर वालों को सुपुर्द कर दिया। रातानाडा थानाधिकारी मूलसिंह भाटी ने बताया कि आईएएस के पुत्र सुरेंद्र की शादी 14 नवंबर को शोभावतों की ढाणी पाल निवासी प्रियंका उर्फ भावना (25) के साथ हुई थी। पति-पत्नी दोनों हाईकोर्ट ए कॉलोनी में रहते थे। शादी के बाद से दोनों पति-पत्नी आपस में प्रेम से रहते थे। लड़ाई झगड़े की बात न तो माइके के लोग बता सके और न ही पास पड़ोस के लोग ही कुछ कह सके। सवाल उठता है कि जब सबकुछ सामान्य था तो नव विवाहिता को जहर किसने खिलाया और क्यों खिलाया ? क्या प्रियंका उर्फ भावना ने स्वयं जहर पीकर अपनी जीवन लीला को खत्म किया है ? फिलहाल यह तो जाँच का विषय है। समाचार लिखे जाने तक उक्त आत्महत्या के मामले में मायके पक्ष के लोगों ने कोई तहरीर नहीं दी है। फिर भी मामला हाई प्रोफाइल होने की वजह से पुलिस कोई गलती अपनी तरफ से करने के मूड में नहीं है  

 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें