Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

गुरुवार, 13 जनवरी 2022

प्रतापगढ़ के जेठवारा थाना क्षेत्र में तमंचा-कारतूस के साथ एक अभियुक्त को पुलिस ने किया गिरफ्तार, आईये जाने पुलिस के दफा 3/25 एक्ट की कार्यवाही की पूरी हकीकत

पुलिस जिस तरह अपराधियों के पास से लगातार तमंचे और कारतूस की बरामदगी दिखा रही है, उससे तो यही सिद्ध होता है कि कहीं प्रतापगढ़ में अवैध असलहा बनाने की फैक्ट्री तो नहीं लग गई है, जिससे प्रतापगढ़ पुलिस अनभिज्ञ है...

तमंचा-कारतूस के साथ एक अभियुक्त हुआ गिरफ्तार...

जनपद प्रतापगढ़ में लगातार पुलिस अपराधियों के पास से चेकिंग के दौरान एक तमंचा और महज एक कारतूस पकड़ कर आखिर क्या साबित करना चाहती है ? खाकी वर्दी पहन लेने मात्र से दुनिया के सर्वश्रेष्ठ ब्यक्ति वह पुलिस वाला हो जाता है जो किसी भी ब्यक्ति के साथ कुछ भी बरामद कर अपनी पीठ थप थरथपा ले। परन्तु हकीकत को वह झुठला नहीं सकता। उसके कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह खड़ा होगा जिसे वह नहीं रोक सकता। इसी वजह से पुलिस जिसे भी असलहा और कारतूस के साथ पकड़ती है वह अदालत में कभी सजा नहीं पाता और ट्रायल के दौरान अदालत से बाईज्जत बरी हो जाता है।


ऐसा ही मामला प्रतापगढ़ के थाना जेठवारा से प्रकाश में आया हैं, जहाँ उप निरीक्षक मुसाफिर यादव मय हमराह चेकिंग के दौरान थाना क्षेत्र के गजराही अस्पताल तिराहे के पास से 1 व्यक्ति शहजाद उर्फ एजाज पुत्र शमशुलजमा निवासी नेवादा मुस्तर्का थाना जेठवारा, जनपद प्रतापगढ़ को 1 अदद तमंचा, 315 बोर व 1 अदद जिन्दा कारतूस 315 बोर के साथ गिरफ्तार किया है। सवाल उठता है कि ऐसा कौन सा अपराधी होगा जो अपने साथ सिर्फ एक कारतूस रखेगा ? सच तो यह है कि पुलिस अपना गुडवर्क दिखाने के चक्कर में ऐसा कार्य कर डालती है और यह भी नहीं सोचती कि उसका गुडवर्क कहीं बैडवर्क में न बदल जाए।


निश्चित रूप से पुलिस की ऐसी कामयाबी और उपलब्धि पर सवाल उठेंगे। क्योंकि कोई भी अपराधी एक तमंचा के साथ एक कारतूस तो नहीं रखेगा। एक अपराधी के पास महज एक जिंदा कारतूस की बरामदगी पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़ा करता है। ऐसे मामलों में या तो पुलिस किसी को फंसाने के लिए यह कार्य करती है अथवा सच में अपराधी के पास से तमंचा और कारतूस बरामद होता है तो पुलिस उसकी संख्या को कम करके दिखाती है और अपने पास रख लेती है। फिर भी उक्त बरामदगी के संबंध में थाना स्थानीय पर मु0अ0सं0- 16/2022 धारा- 3/25 आर्म्स एक्ट का पंजीकृत किया गया। पुलिस टीम में उप निरीक्षक मुसाफिर यादव मय टीम थाना जेठवारा जनपद प्रतापगढ़ शामिल रहे।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें