Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 4 जनवरी 2022

कुम्भकर्णी नींद से जागे अपना दल एस की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल, सपा में शामिल होने के महीनों बाद विश्वनाथगंज विधायक को पार्टी से किया निलंवित

बसपा की राजनीति छोड़कर डॉ आर के वर्मा अपना दल में शामिल हुए थे, विधायक बनने से पहले ही हो गए थे, दलबदलू...

इस पार्टी ने अपने विधायक को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया...

प्रतापगढ़। अपना दल एवं अपना दल (एस) से प्रतापगढ़ की विश्वनाथगंज सीट से निर्वाचित विधायक डॉ. आर के वर्मा को बागी तेवर अपनाते हुए अपना दल एस की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल और उनके पति कार्यकारी अध्यक्ष आशीष सिंह को पानी पी पीकर कोसने वाले को समाजवादी पार्टी में शामिल होने के महीनों बाद अनुशासन समिति ने संज्ञान लिया उन पर लगातार पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने का आरोप लगाते हुए निलम्बित किया गया। अपना दल (एस) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेश पटेल ने विज्ञप्ति जारी कर दी जानकारी दी है  

दलबदलू हुए विश्वनाथगंज के विधायक डॉ आर के वर्मा...

विधायक डॉ. आर के वर्मा कभी अनुप्रिया पटेल के साथ-साथ जनसभा से लेकर पार्टी की बैठक तक देखे जाते थे।इसीलिये विधायक डॉ. आर के वर्मा को अनुप्रिया पटेल ने प्रदेश अध्यक्ष पद से नवाजा था इस बात से अनुप्रिया पटेल के पति आशीष सिंह बहुत नाराज हुए और डॉ. आर के वर्मा से लगातार दूरिया बनती गई अनुप्रिया पटेल और उनके पति आशीष सिंह के बीच में डॉ. आर के वर्मा को लेकर अक्सर बवाल होता था मजबूर होकर पीटीआई आशीष सिंह के दबाव में अनुप्रिया पटेल ने विधायक डॉ. आर के वर्मा को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद से लगातार डॉ. आर के वर्मा बगावती तेवर अपनाने लगे। 


बात इतनी बिगड़ी कि कई महीने तक डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के यहाँ दरबार किये। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के पिताजी की मौत के बाद डॉ. आर के वर्मा तेरहवीं तक उनके घर पर डटे रहे। डॉ. आर के वर्मा को लगता था कि डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य उन्हें भाजपा में कहीं अर्जेस्ट करा देंगे। परन्तु डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भाजपा में उन्हें स्थान दिलाने में नाकाम रहे डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य की आस छोड़कर पंचायत चुनाव में जनसत्ता दल लोकतांत्रिक में डॉ. आर के वर्मा जाने के लिए राजा भईया से नजदीकियां बढ़ाये, परन्तु वहाँ भी अर्जेस्ट न हो सके डॉ. आर के वर्मा चुनावी सरगर्मी बढ़ने के साथ ही पहले सपा मुखिया अखिलेश यादव से लखनऊ में मुलाकात कर खुद ही शोसल मीडिया में फोटो वायरल कर अपना रुझान व्यक्त किए। 


सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव व प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल के साथ साथ लाल टोपी लगाकर कभी निजी कार्यक्रम तो कभी जनसभाओं के मंच पर भाषण देते रहे। अब बड़ा सवाल ये है कि कौन होगा विश्वनाथगंज से अपना दल एस का प्रत्याशी, पार्टी किस पर जताएगी भरोसा, जिले के सियासी गलियारों में चर्चाओं का बाजार गर्म हो चुका है। चर्चाओं पर ध्यान दिया जाए तो विश्वनाथगंज सीट को इस बार भाजपा गठबंधन से मुक्त कर उस पर भाजपा अपना उम्मीदवार उतारने की तैयारी में है।  


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें