Breaking News

Post Top Ad

Your Ad Spot

शनिवार, 15 जनवरी 2022

लखनऊ में सपा कार्यालय पर बिना अनुमति भीड़ जमा होने के मामले में चुनाव आयोग सख्त, SHO सस्पेंड, ACM प्रथम और ACP से जवाब तलब

उत्तर प्रदेश के विधान सभा चुनाव में कोरोना महामारी के मद्देनजर भारत निर्वाचन आयोग भीड़ को नियंत्रित करने के लिए प्रतिबन्ध लगा रखा है, परन्तु राजनीतिक दलों द्वारा लगातार किया जा रहा है,उल्लंघन...

अखिलेश की अगुवाई में सपाईयों का रेला...

चुनाव आयोग ने कोविड-19 मामलों में निरंतर वृद्धि का हवाला देते हुए पांच चुनावी राज्यों में 15 जनवरी तक सार्वजनिक रैलियों, रोड शो और सभाओं पर प्रतिबंध लगा रखा है। चुनाव आयोग के निर्देश पर संबंधित धाराओं में सपा के 2500 अज्ञात कार्यकर्ताओं के खिलाफ FIR दर्ज की गई अब चुनाव आयोग ने सख्ती करते हुए SHO गौतमपल्ली को सस्पेंड कर दिया साथ ही ACM प्रथम और ACP से जवाब तलब किया है। पाँच राज्यों में रैलियों और चुनावी सभाओं पर प्रतिबंध जारी रहेगा भारत निर्वाचन आयोग ने 15 जनवरी से अब प्रतिबन्ध की तिथि 22 जनवरी कर दी है भारत निर्वाचन आयोग लाख दावे कर ले, परन्तु राजनीतिक दलों द्वारा उसका उल्लंघन बिना किये रह ही नहीं सकते। क्योंकि दिखाने के लिए कागजी कार्रवाई करते हुए मुकदमें तो दर्ज कर लिया जाता है,परन्तु चुनाव बीतने के बाद वह ठंडे बसते में डाल दी जाती है।   


समाजवादी दफ्तर में चुनाव आयोग द्वारा जारी सभी दिशा निर्देश धड़ाम हो गया चुनाव के लिए बनाये गए प्रोटोकॉल धराशाई हो गए दिल्ली में हुई बैठक में केन्द्रीय चुनाव समिति ने फैसला लेते हुए प्रथम और दूसरे चरण के उम्मीदवारों के चयन को 95 फीसदी कर लिया है कुल 107 सीटों पर उम्मीदवारों के चयन हो चुके हैं, जिनमें 105 सीट सीट प्रथम और दूसरे चरण के होने वाले चुनाव के उम्मीदवारों की है वे मंत्री और विधायक जिन्हें अपने टिकट पर संशय था, वह पाला बदल कर भगवाधारी से समाजवादी हो गए यूपी चुनाव को लेकर बीजेपी ने तीन सर्वे कराए थे उसी के आधार पर मंत्रियों, विधायकों और पिछले चुनाव में हारे हुए उम्मीदवारों के टिकट काटे जाने थे भाजपा भी जानती थी कि जिन मंत्रियों और विधायकों के टिकट कटेंगे, वह निश्चित तौर पर बगावत करेंगे। फिलहाल भाजपा का शीर्ष नेतृत्व अपने पिछड़े नेताओं पर सीधा हमला करने से बचती नजर आ रही है 


देश में कोरोना के मामलों में बढ़ते रफ्तार के बाद अब प्रतिदिन का आंकड़ा 2 लाख के पार हो चला है। वहीं ओमिक्रॉन के देश में मामले 5000 से ज्यादा हो गए हैं। राजधानी दिल्ली में मामलों की रफ्तार धम नहीं रही है। बीते 24 घंटे में 24, 383 नए मामले दर्ज हुए तो वहीं मुंबई में इसकी रफ्तार कम हुई है। मुंबई में पिछले 24 घंटें के दौरान 11, 317 नए कोविड मामले सामने आए हैं। साथ ही एक दिन में 9 मौतें हुई हैं। इस दौरान यहां पॉजिटिविटी रेट 21 फीसदी दर्ज किया गया है। वहीं बेड ऑक्यूपेंसी घटकर 16.8 फीसदी पर आ गई है। जबकि पिछले 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना वायरस के 24, 383 नए मामले दर्ज हुए हैं। साथ ही 26, 236 स्वस्थ भी हुए और 34 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। सक्रिय मामलों की संख्या 92,273 है। इसके बावजूद राजनीतिक दलों को देश के नागरिकों के विषय में कोई चिंता नहीं है  


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें