Breaking News

Post Top Ad

Your Ad Spot

रविवार, 30 जनवरी 2022

खजनी सुरक्षित विधानसभा से भाजपा उम्मीदवार न बनाये जाने से नाराज विधायक संत प्रसाद ने भाजपा हाईकमान को दिया, अल्टीमेटम

भाजपा में वह विधायक बगावती तेवर में है जिसे विधानसभा चुनाव में पार्टी उम्मीदवार नहीं बना रही है

खजनी सुरक्षित के तीन बार विधायक रह चुके वर्तमान भाजपा विधायक संत प्रसाद...

लखनऊ। जनपद गोरखपुर की खजनी सुरक्षित विधानसभा सीट से वर्तमान विधायक भारतीय जनता पार्टी द्वारा टिकट नहीं दिए जाने से नाराज हो गए हैं। तीन बार विधायक रह चुके वर्तमान भाजपा विधायक संत प्रसाद के स्थान पर इस बार भारतीय जनता पार्टी की ओर से धनघटा विधानसभा सीट से विधायक एवं योगी आदित्यनाथ सरकार में मंत्री श्रीराम चौहान को विधानसभा सीट से अपना प्रत्याशी घोषित किया है। भारतीय जनता पार्टी की ओर से टिकट नहीं दिए जाने से नाराज हुए विधायक ने हाईकमान को अल्टीमेटम दिया है कि वह 3 दिन के भीतर मुझे पार्टी के अंदर समायोजित करें, नहीं तो मजबूर होकर मुझे अगला कदम उठाने के लिए बाध्य होना पड़ेगा।

गोरखपुर जनपद की सुरक्षित विधानसभा सीट खजनी... 

विधायक को दोबारा से टिकट नहीं दिए जाने से उनके समर्थक और विधायक गुस्से में हैं। इससे पहले शुक्रवार को अपनी प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी विधायक ने कहा था कि वह पार्टी के निर्णय का स्वागत करते हैं, लेकिन कार्यकर्ता और समर्थक जैसा फैसला लेंगे, वैसा ही करेंगे। उन्होंने खजनी विधानसभा सीट से टिकट प्राप्त करने वाले श्रीराम चौहान पर सवाल खड़े करते हुए कहा है कि पार्टी को मुझे भी समायोजित करना चाहिए। उन्होंने कहा है कि अगर सोमवार तक भारतीय जनता पार्टी की तरफ से कोई फैसला नहीं लिया जाता है तो वह मंगलवार को निर्दलीय के रूप में वह चुनाव लड़ने की घोषणा करेंगे। अपने समर्थकों की मान व सम्मान के लिए वह चुनाव लड़ेंगे। उन्हें नतीजों की परवाह नहीं है

भाजपा ने मंत्री श्रीराम चौहान को बनाया है,खजनी सुरक्षित सीट से उम्मीदवार...

विधानसभा चुनाव-2022 में इस बार कांग्रेस ने चुनाव मैदान में रजनी देवी को उतारा है। बसपा ने विद्या सागर उर्फ छोटू पर दांव लगाया है। भारतीय जनता पार्टी की ओर से धनघटा विधानसभा सीट से विधायक एवं योगी आदित्यनाथ सरकार में मंत्री श्रीराम चौहान को विधानसभा सीट से अपना प्रत्याशी घोषित किया है। सपा ने अभी तक पत्ते नहीं खोले हैं। आंकड़ों को देखें तो अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित खजनी विधानसभा क्षेत्र में भाजपा का डंका बज रहा है। बसपा जीत के लिए तरस रही है तो सपा तीसरे पायदान से ऊपर नहीं आ पा रही है। वर्ष-2017 में सपा-कांग्रेस ने मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन कुछ बदला नहीं। इससे पहले के चुनाव में कांग्रेस चौथे पायदान पर थी। पार्टी को 5.49 फीसदी वोट मिले थे। प्रमुख राजनीतिक दल खजनी विधानसभा क्षेत्र की चुनावी तैयारी में जुटे हैं। भाजपा के वर्तमान विधायक संत प्रसाद तीसरी बार चुनाव लड़ने की तैयारी में जुटे हैं। वह खजनी विधानसभा क्षेत्र से वर्ष-2012 में भी चुनाव जीते थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें