Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 21 दिसंबर 2021

छेड़खानी का विरोध करना मंहगा पड़ा, दबंग प्रधान के गुर्गो ने पीड़िता व उसके परिवार से की मारपीट, सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल

समाज में आया नया ट्रेंड,पहले छेड़खानी जैसे मामले में आरोपी पानी-पानी हो जाता थे, आधुनिकता की चकाचौंध में छेड़खानी का आरोपी अब सीना तानकर अपने खिलाफ आरोप लगाने वाली महिला और उसके परिवार वालों की अपने पालतू गुंडों के साथ कर देता है,पिटाई...

दबंग प्रधान के गुर्गो ने पीड़िता व उसके परिवार से की मारपीट...

एटा सूबे में अब छेड़खानी का विरोध करना भी गलत है। आत्म रक्षा करना का अधिकार देश के संविधान से प्रत्येक ब्यक्ति को प्राप्त है और प्रत्येक ब्यक्ति को अपने जीवन रक्षा करने अथवा महिलाओं को अपने चरित्र की रक्षा के लिए किसी से अनुमति की आवश्यकता नहीं है। फिर भी बदलते वक्त ने समाज में ऐसा माहौल बनाया है कि जो ब्यक्ति छेड़खानी का आरोपी हो वह ब्यक्ति उस पीड़ित महिला और उसके परिजन से ही मारपीट करने का साहस करे। ऐसा देखकर तो लगता है कि सूबे में जंगलराज कायम है जबकि सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ जी कहते हैं कि सूबे में अपराध का ग्राफ बहुत घट चुका है, परन्तु एटा में हकीकत कुछ और ही बता रही है  


ऐसा ही एक मामला जनपद के एटा बागवाला थाना क्षेत्र के एक गाँव में छेड़खानी का विरोध करना लड़की को मंहगा पड़ा दबंग प्राधान के गुर्गो ने पीड़िता व उसके परिवार वालों से मारपीट की है जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। पीड़िता एटा के एसपी से न्याय की गुहार लगाई है पीड़िता के पिता और उसके बाबा ने एसपी एटा से रो रोकर अपनी दास्तान बताई और कहा कि उसके बेटी के मामले में न्याय न मिला तो वह पूरे परिवार के साथ आत्महत्या कर लेंगे। सच बात तो यह है कि गाँव का दबंग प्रधान उरवेश यादव लम्बे समय से पीड़िता पर अपनी बुरी नजर रखता था वह उसकी इज्जत के साथ खिलवाड़ करना चाहता था और अपनी हबस का शिकार उसे बनाना चाहता था एक पंचायत प्रतिनिधि द्वारा गाँव की बहन बेटियों के विषय में ऐसी घटिया सोच रखना अन्य पंचायत प्रतिनिधियों की साख पर सवाल खड़ा करता है  


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें