Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

सोमवार, 27 दिसंबर 2021

देश में एक भाई-बहन की पार्टी है तो प्रदेश में बुआ और बबुआ की पार्टी है, जहाँ चाचा और भतीजा मंच से ही कर लेते हैं, मारपीट - योगी आदित्यनाथ

प्रतापगढ़ में 554 करोड़ लागत की 378 विकास परियोजनाओं का एक साथ किया, लोकार्पण/शिलान्यास 

प्रतापगढ़ में सूबे के मुखिया को बजरंगबली वाला गदा किया गया भेंट...

प्रतापगढ़ सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ कांग्रेस के अभेद दुर्ग में सुराग करने की नियत से रामपुरखास विधानसभा क्षेत्र बेलहा नया पुरवा की धरती पर पहुँचे और मंच से ही विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि जो लोग पिछले 5 साल से सत्ता से बाहर हैं, उनके यहां दीवारों से नोट पकड़े जा रहे हैं। पिछले तीन दिन से तस्वीरों को आप देख रहे होंगे। पिछली सरकारों में दलालों के माध्यम से पैसा सत्ता की चौखट तक पहुंच जाता था। फिर पैसे को सुरक्षित रखने के लिए उसे दीवारों में चुनवा दिया जाता था। आज उस पैसे को इनकम टैक्स निकाल रहा है भाजपा की सरकार में 554 करोड़ रुपए विकास पर खर्च हो रहे हैं। ये पैसा 5 साल पहले विकास पर खर्च नहीं होता था। अब वह पैसा गरीब का घर बनाने में खर्च हो रहा है। सपा बसपा सरकार में एक जाति और वर्ग विशेष को फायदा पहुँचाने की नियत से कार्य किया जाता था, जबकि भाजपा में सबका साथ और सबका विश्वास को आधार मानकर कार्य किया गया।  


सीएम योगी आदित्यनाथ ने सपा पर हमला बोलते हुए कहा, एक दौर था जब सत्ता की खातिर मंच पर चाचा-भतीजे के बीच मारपीट होती थी। आज वह ज्ञान बाँटते फिर रहे हैं जिसकी सरकार में सबसे अधिक दंगे हुए वह ब्यक्ति आज कानून ब्यवस्था पर सवाल उठा रहा है। वर्ष-2012 से वर्ष-2017 का कार्यकाल प्रदेश की जनता को याद है। वह बुरा समय सूबे की जनता भूल नहीं सकती। सीएम योगी ने 554 करोड़ की परियोजनाओं का आज प्रतापगढ़ में एक साथ शिलान्यास किया। अभी तक रामपुरखास विधानसभा क्षेत्र एक हाथ में बंधक के रूप में पड़ी थी, परन्तु अब ऐसा नहीं होगा बहन और भाई की पार्टी के नेता जो अपनी सत्ता बचाने के लिए हर हथकंडा चुनाव में अपनाते थे, वह इस बार के चुनाव में नहीं हो सकेगा रामपुरखास विधानसभा को बाप-बेटी ने पाँच दशक से बंधक बना रखा है यहाँ की जनता को गुमराह कर अपनी राजनीति चमकाने का कार्य किया है रामपुरखास की जनता को हकीकत का एहसास हो चुका है    


प्रतापगढ़ में कुल सात विधानसभा है बाबागंज (बिहार) सुरक्षित सीट यानि एस सी के लिए आरक्षित है कुंडा पर वर्ष-1993 से बाहुबली विधायक रघुराज प्रताप सिंह "राजा भईया" का कब्जा है तो रामपुरखास में 45 सालों से कांग्रेस का कब्जा है बाबागंज (बिहार) सुरक्षित सीट पर राजा भईया समर्थित उम्मीदवार विनोद कुमार का कब्जा रहा है। राजा भईया से सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ से अच्छे सम्बन्ध हैं इसलिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राजा भईया पर कोई प्रतिक्रिया नहीं देते यही हाल राजा भईया का रहता है कि वह भी विगत पाँच वर्षों में सूबे के मुखिया पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी इसलिए राजा भईया की पार्टी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक और भाजपा के बीच विधानसभा चुनाव में गठबंधन की बात आती रहती है। कुंडा और बाबागंज में भाजपा के शीर्ष नेता जनसभा करने से भी बचते हैं।  


यह इत्तेफाक है या जानबूझकर कांग्रेस के गढ़ रामपुरखास विधानसभा में सूबे में मुखिया योगी आदित्यनाथ की जनसभा का कार्यक्रम लगाया गया रामपुरखास विधानसभा क्षेत्र में पहुँचे सीएम योगी ने मंच से ही विपक्ष पर जमकर हमला बोला। सूबे के मुखिया ने कहा कि पिछली सरकारों में घोषणा के एक साल बाद शिलान्यास होता था। कांग्रेस, सपा, बसपा तीनों हिंदू विरोधी सोच की राजनीति करते हैं, जबकि भाजपा ही एक मात्र ऐसी पार्टी है जो हिन्दुओं की आन, बान और शान की रक्षा करने के लिए सदैव तत्पर रहती है। पिछली सरकारों में कांवरियों पर लाठियां बरसाई जाती थी। वर्तमान सरकार में फूल बरसाए जाते हैं। भाजपा सरकार ने लॉकडाउन में सभी जरूरतमंदों को फ्री में राशन दिया। सरकार द्वारा घोषणा के एक वर्ष के बाद ही प्रतापगढ़ मेडिकल कॉलेज बनकर तैयार हो गया भाजपा की डबल इंजन की सरकार ने प्रदेश में दिनरात उन्नति के मार्ग प्रशस्त किये। यूपी सरकार ने 5 सालों में 2 करोड़, 61 लाख दिया शौचालय बनवाए। भाजपा सरकार में हर गरीब को आवास मिला।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें