Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

गुरुवार, 9 दिसंबर 2021

दहेज के लिए पत्नी को जलाकर मारने के मामले में पति को आजीवन कारावास

सास,जेठ व जेठानी पर आरोप सिद्ध न होने की दशा में उन सभी को संदेह  का लाभ देते हुए कर दिया गया,बरी 

पत्नी को जलाकर मारने के मामले में पति को आजीवन कारावास... 

वाराणसी। विशेष न्यायाधीश (भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम) अशोक कुमार सिंह यादव की अदालत ने फूलपुर थानांतर्गत असिला गांव में दहेज में अल्टो कार न मिलने पर पत्नी को  जलाकर मारने के आरोप में पति सुरेश मौर्या को दोषी पाते हुए आजीवन कारावास व दस हजार रुपए अर्थदंड की सजा सुनाई है। जबकि इस मामले में सास सुमित्रा देवी, जेठ राजेश मौर्या व जेठानी रेखा देवी को आरोप सिद्ध न होने पर संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया। अदालत में अभियोजन की ओर से ज्योति शंकर उपाध्याय ने पक्ष रखा। वहीं जेठ जेठानी की ओर से अधिवक्ता तनवीर अहमद सिद्दीकी ने पक्ष रखा।


अभियोजन पक्ष के अनुसार जौनपुर के गौराबादशाहपुर निवासी वादी साहब लाल की लड़की सुमन मौर्या का विवाह फूलपुर थाना क्षेत्र के असिला गांव निवासी सुरेश मौर्या के साथ 20 मई, 2013 को हुई थी। आरोप है कि दहेज में कार व अन्य सामान की मांग को लेकर आयेदिन पति समेत ससुराल वाले उसे प्रताड़ित करते रहते थे। इस बीच दस नवंबर, 2016 को लगभग 8 बजे वादी को सूचना मिली कि उसकी लड़की जल गयी है और उसे उपचार के लिए दीनदयाल राजकीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहां पहुंचने पर पता चला कि उसे कबीरचौरा अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहां जाकर देखा तो वह मरणासन्न अवस्था मे पड़ी थी। बाद में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गयी। अभियोजन की ओर से विचारण के दौरान आठ गवाह पेश किए गए।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें