Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

बुधवार, 8 दिसंबर 2021

प्रतापगढ़ के महेशगंज थाना में तिलक के दौरान करंट की चपेट में आने से हुई दूल्हें के पिता की मौत, परिजनो में मचा कोहराम

खुशियां में बदला मातम,पुलिस को सूचना दिए बिना ही किया अंतिम संस्कार 

बदहवास कुर्सी पर बैठी मृतक शोभनाथ तिवारी की पत्नी रेखा देवी...

प्रतापगढ़ तिलक चढ़ते समय अचानक से दूल्हें का पिता करंट की चपेट में आ गया, जिससे वह गम्भीर रुप से घायल हो गया। परिजन इलाज कराने के लिए घायल को सीएचसी महेशगंज ले गए। जहां स्थिति को गम्भीर देखतें हुए डॉक्टरों ने कुंडा रेफर कर दिया, लेकिन रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। महेशगंज थाना क्षेत्र के ककरा मजरें बघवाइत गांव के रहने वाले शोभनाथ तिवारी (55 वर्ष) पुत्र स्व. छोटे लाल तिवारी अपनी पत्नी रेखा तथा अपने दोनों पुत्रों नितिन और अजीत तिवारी के साथ सपरिवार सूरत में रहकर किसी निजी कम्पनी में कार्य करतें हैं। उनके छोटे पुत्र अजीत की शादी महेशगंज इलाके के भैसाना गांव के रहने राजेश उर्फ नन्हे पांडेय की पुत्री श्रेया के साथ तय हुई थी। मंगलवार को उनके यहां तिलक का कार्यक्रम था। वधु पक्ष की ओर के सभी लोग तिलक चढ़ाने के लिए उनके दरवाजे पर आ चुके थें। तिलक भी चढ़ ही चुकी थी, बस पान- बीरा की रस्म होनी बाकी थी। 


इसी बीच शोभनाथ तिवारी उठे और एक रिश्तेदार को सभी रिश्तेदारों को  पुनः काफी पिलाने के लिए कहने लगे, अचानक से उनका हांथ उठा और बगल बनी बाउंड्री को सजाने के लिए गुजरे तार के संपर्क में आ गया। जिससे वे करंट की चपेट में आ गए। करंट लगतें  ही वे वही गिर पड़े और तड़पने लगें। जैसे ही लोगों को करंट लगने की जानकारी हुई,उनको करंट से छुड़वाकर इलाज के लिए सीएचसी महेशगंज ले गए। जहां उनकी स्थिति को गम्भीर देखतें हुए सीएचसी कुंडा के लिए रेफर कर दिया गया, लेकिन उनकी रास्ते में ही मौत हो गई। मौत की सूचना मिलतें ही परिजनों में कोहराम मच गया। वर और वधु पक्ष के लोगों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। बिना पुलिस को सूचना दिए ही बुधवार को परिजनों ने मृतक का अंतिम संस्कार कर दिया। इस संबंध में एसओ महेशगंज आशुतोष त्रिपाठी का कहना है कि इस संबंध में थाने पर कोई सूचना नही दी गई है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें