Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

सोमवार, 29 नवंबर 2021

बदमाशों ने गला रेतकर दलित दंपत्ति को उतारा मौत के घाट

विधानसभा चुनाव से पहले सूबे में अपराध बढ़ने से सत्ताधारी दल भाजपा और योगी सरकार पर विपक्ष तीखे हमला कर उसे घेर रही है और सूबे में कानून ब्यवस्था पर सवाल खड़ा कर रही है 


आजमगढ़ में गला रेतकर दलित दंपत्ति को उतारा मौत के घाट...

आजमगढ़। जिले के तरवां थाना क्षेत्र के तीथऊपुर गांव में दो दलित दंपत्तियों की गला रेतकर हत्या कर दी गई।मृतक दंपत्ति में से पुरुष चकबंदी विभाग में लेखपाल के पद पर तैनात था। वहीं मामले को अंजाम देने वाले अज्ञात बदमाशों ने मृतक लेखपाल की पत्नी को भी मौत के घाट उतार दिया। दलित दम्पति की बदमाशों ने बड़ी बेरहमी से हत्या की है की किसी की भी रूह कांप जाए।सूचना मिलने पर कई थानों की पुलिस फोर्स के साथ आला अफसर मौके पर पहुंचे। पुलिस ने मृतकों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।


प्राप्त जानकारी के अनुसार तरवां थाना क्षेत्र के तीथऊपुर गांव निवासी 55 वर्षीय राम नगीना लेखपाल थे। रविवार की रात वह घर पर सो रहा था।उसकी पत्नी 52 वर्षीय नगीना देवी भी साथ में सो रही थी। देर रात अज्ञात बदमाश घर में घुस आए और दंपत्ति की धारदार हथियार से हमला कर निर्मम हत्या कर दी। सुबह परिजनों व ग्रामीणों को घटना की जानकारी हुई। इस दोहरे हत्याकांड से क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है। अभी प्रयागराज के फाफामऊ के पास का मामला शांत भी नहीं हो पाया था कि आजमगढ़ में दोहरे हत्याकांड से योगी सरकार और उत्तर प्रदेश की पुलिस पर सवाल खड़े हो रहे हैं 


एसपी आजमगढ़ अनुराग आर्य ने बताया कि तरवा थाना अंतर्गत पिछोर पुर गांव में पुलिस को सूचना मिली थी।इसमें उनकी उम्र 55 साल और पत्नी की 50 साल के आसपास है। उनकी धारदार हथियार से गले पर और सर पर वार करके हत्या कर दी गई है। सभी उच्च अधिकारी द्वारा मौके पर पहुंच कर मौका मुआयना किया गया है।फील्ड यूनिट ने एविडेंस कलेक्ट किया है। परिजन से बातचीत की गई है, उनके द्वारा अज्ञात के विरुद्ध तहरीर दी गई है। एफआईआर दर्ज कर ली गई है। अभी इसमें जितने भी एंगल पॉसिबल हैं उन पर पुलिस काम कर रही है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें