Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शुक्रवार, 5 नवंबर 2021

सुशासन बाबू के शासन बिहार में जहरीली शराब पीने से 24 लोगों की हुई मौत, कई लोग हुए अंधे, जबकि बिहार में शराब बिक्री पर है,पूर्ण पाबंदी

जहरीली शराब पीने से लोगों की मौत का नहीं थम रहा सिलसिला,सुशासन बाबू के सारे दावे हुए फेल...


जहरीली शराब पीने से हुई मौत के बाद परिवार में मचा कोहराम...

पटना। बिहार के गोपालगंज और पश्चिमी चंपारण के जिलों में बीते दो दिनों में जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यहाँ बीते गुरुवार को चंपारण के गांव बेतिया में 8 लोग मारे गए, वहीं गोपालगंज में 16 लोगों के मारे जाने की खबर है। इसी के साथ यह भी बताया जा रहा है कि दोनों ही जिलों के प्रशासन ने मौत की वजह की पुष्टि नहीं की है। बीते 10 दिनों में उत्तरी बिहार में शराब पीने से मौत की यह तीसरी घटना है। आपको बता दें कि इस मौके पर बिहार के मंत्री जनक राम ने गोपालगंज का दौरा किया। ऐसे में उन्होंने एक बयान देते हुए कहा, “मैंने उन लोगों के घरों का दौरा किया है जिनकी कथित तौर पर नकली शराब पीने से मौत हुई थी। यह एनडीए सरकार को बदनाम करने की साजिश हो सकती है।” इसी के साथ पुलिस का कहना है कि कुछ लोगों का उनके परिवार वालों ने अंतिम संस्कार कर दिया है। 


बताया जा रहा है बीते गुरुवार को इलाज के दौरान चार लोगों की मौत हो गई और दो लोगों ने अस्पताल ले जाते समय ही दम तोड़ दिया। वहीं दूसरी तरफ गोपालगंज के पुलिस अधीक्षक आनंद कुमार ने कहा है कि पिछले दो दिनों में जिले के मुहम्मदपुर गांव में कुछ लोगों की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हो गई है। जब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आ जाती, मौत के कारणों की पुष्टि नहीं की जा सकती। फिलहाल तीन टीमें इस मामले की जांच कर रही हैं। आपको यह भी बता दें कि बीते मंगलवार से बुधवार के दिन के बीच पुलिस ने इस घटना के सिलसिले में चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं इस मामले में 20 से ज्यादा लोग अनुसूचित जाति के थेजिन्होंने कथित तौर पर इलाके के स्थानीय व्यापारियों द्वारा बेची जा रही नकली शराब पी थी। इन सभी की पहचान कर ली गई है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें