Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

रविवार, 7 नवंबर 2021

फर्रुखाबाद जिला जेल में बवाल, आगजनी-फायरिंग के बाद बंदियों ने जेल को किया हाईजेक

युवा बंदी संदीप यादव को डेंगू हो गया था,जिसका इलाज सैफई में कराया जा रहा था,उसकी मौत की खबर से जेल में बंदी अचानक नाराज होकर हंगामा करने लगे और जिला कारागार पर संदीप यादव की मौत का जिम्मेवार बताकर करने लगे,बवाल 


जेल में बवाल, आगजनी-फायरिंग के बाद बंदियों ने जेल को किया हाईजेक...

उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिला कारागार फतेहगढ़ में रविवार सुबह अचानक बंदी भड़क गये और उन्होंने जमकर हंगामा किया साथ ही जेल को हाईजेक कर आगजनी कर दी जेल के भीतर से धुंआ कई किलोमीटर दूर से देखा जा रहा था। जेल में आगजनी की सूचना पर अधिकारियों में हड़कंप मच गया और आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए। इस दौरान सभी थानों की फोर्स कारगार पहुँच गई। थानों की फोर्स के पहुँचते ही पीछे से एसओजी टीम भी पहुँच गई। कारागार में बंद बंदियों ने जेलर अखिलेश कुमार, डिप्टी जेलर शैलेश सोनकर से भी मारपीट की है। जेल के कुछ हिस्सों में आगजनी भी की गई। जेलर का सरकारी मोबाईल जेल के अंदर हुए आपसी संघर्ष में छूट गया  पर छूटा गया, जिसका इस्तेमाल जेल में बंद बंदी इस्तेमाल कर रहे हैं। मौके पर पीएसी भी लगाई गई। 

दर्शल जिला कारागार में बंद 29 वर्षीय बंदी संदीप यादव की मौत डेंगू से इलाज के दौरान हो गई। जेल में बंद बंदियों को जब इस बात की जानकारी हुई तो वह हंगामा करने लगे। बंदी रक्षकों के मना करने पर बंदी और उग्र हो गए और जेल के भीतर हंगामा करने लगे। जेल में करीब एक हजार बंदी निरुद्ध हैं। जेल में निरुद्ध संदीप यादव की कल सैफई के अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। मौत की सूचना पर जेल में निरुद्ध बंदियों का आरोप है कि संदीप यादव का समय से जिला कारागार प्रशासन इलाज कराया होता तो उसकी मौत न हुई होती। उत्तर प्रदेश की जेल में अक्सर बवाल होता रहता है। इस बार फर्रुखाबाद की जेल में कैदियों ने जमकर बवाल मचाया है। जेल में अपराधियों को खुली छूट जेल के अधिकारी और बंदी रक्षक ही देते हैं। जब मामला बिगड़ता है तो वही बंदी जिला कारागार के अधिकारियों को दुश्मन सरीखे मानकर उन पर हमलावर हो जाते हैं और मारकर घयल कर देते हैं।  

फर्रुखाबाद जिला कारागार में आग लगना और बंदियों का बेकाबू होना फिर जेल में फायरिंग का होना जिसमें 3 कैदियों को गोली लगना सामान्य बात नहीं है। जेल के भीतर से फायरिंग की आवाजें बाहर तक सुनाई दे रही थीजेल के भीतर हालात बेकाबू हो चुके थे बंदियों और पुलिस कर्मियों के बीच मोर्चाबंदी चल रही है। सूत्रों की माने तो कारागार के अंदर बंदी और बंदी रक्षकों के बीच शुरू हुए संघर्ष की वजह बंदी संदीप यादव की डेंगू से मौत का होना बताया जा रहा है। कारागार में संघर्ष के दौरान कई बंदी और कई बंदी रक्षक सहित जेल के अधिकारी भी घायल हुए हैं। सभी को उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया है खबर लिखे जानें तक अभी कारागार के अंदर हालात सामान्य नहीं हो सके हैं। बंदी की मौत के बाद फर्रुखाबाद (फतेहगढ़ जिला जेल) में बवाल के मामले में जिला कारागार मुख्यालय पर तैनात अधिकारियों से फीडबैक लिया जा रहा है। जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्यवाही के निर्देश भी दिए गए हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें