Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 30 नवंबर 2021

दरोगा द्वारा बनाई गई मनमानी तहरीर पर साइन न करना पीड़ित को महंगा पड़ा, दरोगा ने शिकायतकर्ता को ही डंडा मारकर सीधा कर देेने की दी, धमकी

प्रतापगढ़ में पत्नी के साथ यदि कोई अश्लील हरकत करता है तो करने दो ! थाने में शिकायत करके अपनी इज्जत का जनाजा न निकालो- हथिगवां थाने का एक दरोगा  

हथिगवां थाने में दरोगा की मर्जी से पड़ती है,तहरीर...

जनपद प्रतापगढ़ के थाना हथिगवां में एक दरोगा ऐसा है जिसके मन से थाने में तहरीर देनी पड़ती है नहीं तो दरोगा जी पीड़ित पक्ष को ही घर से घसीटकर थाने लाने की बात बड़े अर्दब के साथ करते हैं दरोगा जी की बातों से ऐसा प्रतीत होता है कि वह आरोपियों के खिलाफ छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज नहीं होने देना चाहते हैं। हथिगवां थाना क्षेत्र के रम्मा का पुरवा गांव का एक गरीब परिवार चाय-पान की दुकान चलाकर अपना परिवार पाल रहा था चाय पान की दुकान पर पति और पत्नी दोनों बैठकर उसका संचालन करते हैं चाय पान की दुकान संचालित करने वाली महिला के साथ गांव के कुछ दबंगो ने अश्लील हरकत की तो उसका पति और वह महिला स्वयं उसका विरोध किया तो उस महिला के पति और उसे पीट पीटकर दबंगों ने घायल कर दिया युवक ने थाने मे दी तहरीर तो पुलिस उल्टे पीड़ित पर ही दबाव बनाने लगी 


योगी की पुलिस का कमाल देखिये कि पत्नी के साथ अश्लील हरकत करने का विरोध किया तो उसे बेरहमी से मारा पीटा गया और जब वह थाने जाकर अपनी फरियाद दरोगा जी से किया तो उसे ही दरोगा जी धमकाने लगे।बदमाशों की पिटाई से घायल युवक ने हथिगवां पुलिस पर आरोप लगाया है कि उसके तहरीर को फाड़कर फेंक दिया गया और दरोगा जी अपने मन की तहरीर लिखवाकर उस पर हस्ताक्षर करने के लिए उस पर दबाव बनाने लगे। दरोगा की बात न मानने दरोगा जी उल्टे पीड़िता और उसके पति पर ही विफर गए और खुलेआम धमकी देने लगे कि उसे ही किसी मुकदमें में फंसाकर जेल भेज दिया जायेगा चाय पान की दुकान पर खुलेआम महिला के साथ अश्लील हरकत करना और उसका विरोध करने पर उसे ही मार पीटकर घायल करने की घटना, समान्य घटना नहीं है। परन्तु हथिगवां पुलिस के लिए एक महिला के साथ अश्लील हरकत करना कोई बड़ी बात नहीं है


ऐसे ही बयान उत्तर परदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने दिया था कि लड़के हैं, गलतियां हो जाती हैं। फिलहाल हथिगवां थाना क्षेत्र के रम्मा का पुरवा गांव में शर्मसार करने वाली इस घटना से गांव में तनाव का माहौल है पुलिस के कार्रवाई न करने से पीड़ित परिवार सहमा है। बड़ा सवाल है कि महिला की आबरू पर हाथ डालने वालों पर थाना हथिगवां की पुलिस इतनी मेहरबान क्यों हो रही है ? जिस देश में मुलायम सिंह जैसा मुख्यमंत्री रहा हो और उस मुख्यमंत्री ने बलात्कारी युवकों के समर्थन में कहा हो कि लड़के हैं,गलतियां हो गई होंगी। ठीक उसी मानसिकता का दरोगा भी थाना हथिगवां में विराजमान है और उसके विचार से किसी के पत्नी के साथ कोई भले ही अश्लील हरकत करें उस अश्लील हरकत करने वाले का कोई दोष नहीं होता। यदि अश्लील हरकत करने वाला विरोध करने वाले पति-पत्नी की सरेआम पिटाई भी कर दी हो तो अपनी इज्जत बचाकर उस महिला और उसके पति को उस अश्लील करने वाले युवक के खिलाफ थाने में शिकायत नहीं करनी चाहिए। वाह रे, योगी सरकार को नेत्सनाबूत करने वाली उत्तर प्रदेश की पुलिस तेरा भी कोई जवाब जवाब नहीं !


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें