Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

सोमवार, 15 नवंबर 2021

मोबाइल फोन के विवाद में पति ने पत्नी को गोली से उड़ाया

मल्टीमीडिया मोबाइल सेट ने समाज और पारिवारिक सम्बन्धों में खोल रहा है,जहर 


पति ने किया पत्नी का खून...

देवरिया। जिले के बरहज थाना क्षेत्र के पैना में मंगलवार की देर शाम पति ने पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी। उसने अपने पिता की लाइसेंसी बंदूक से वारदात को अंजाम दिया। पुलिस आरोपी पति को बंदूक समेत हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। घटना की जानकारी होने पर एसपी डॉ. श्रीपति मिश्र ने मौके पर पहुंच कर हत्याकांड के बारे में पूछताछ की। भटनी थाना क्षेत्र के प्यासी गांव के रहने वाले अर्जुन मिश्र ने अपनी बेटी अनुराधा की शादी चार वर्ष पूर्व पैना गांव के रहने वाले नरेन्द्र उर्फ गोल्डेन तिवारी पुत्र स्व. गंगासागर तिवारी के साथ किया था। नरेन्द्र मुम्बई में नौकरी करता था। कोरोना काल में वह गांव आ गया और चौराहे पर स्टेशनरी की दुकान खोल ली। 


सबकुछ ठीक से चल रहा था, परन्तु मंगलवार को नरेन्द्र ने अपनी पत्नी अनुराधा तिवारी (26) का मोबाइल ले लिया था। शाम को नरेन्द्र दुकान से घर पहु़ंचा और कहीं जाने के लिए पत्नी से अपना कपड़ा मांगने लगा। इस पर उसने पहले मोबाइल लौटाने की बात कही। इसी बात पर दोनों के बीच विवाद होने लगा। इसी पर नरेंद्र ने गोली मारने की धमकी दी तो अनुराधा ने कहा कि गोली मार दे, लेकिन वह बिना मोबाइल लिए कपड़ा नहीं देगी। इस पर पति नरेन्द्र तैस में आ गया और पिता की लाइसेंसी बंदूक से उसे गोली मार दी। गोली गर्दन के पास लगने से अनुराधा की मौके पर ही मौत हो गई। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग जमा हो गए। आंगन में मरी पड़ी अनुराधा को देखकर लोगों ने पुलिस को सूचना दी। तब जाकर पुलिस पहुँची और अनुराधा के शव को कब्जे में लेकर उसे मोर्चरी पहुँचाया, जहाँ उसका पोस्टमार्टम किया गया 


कुछ ही देर में थानेदार टीजे सिंह मयफोर्स मौके पर पहुंच गए। उन्होंने हत्याकांड की जानकारी अधिकारियों को देते हुए आरोपी नरेंद्र को असलहे के साथ हिरासत में ले लिया। सूचना पर एएसपी राजेश कुमार सोनकर, सीओ देव आनन्द मौके पर पहुंचे। हत्या की जानकारी होते ही एसपी डॉ श्रीपति मिश्र घटना स्थल पर पहुंचे और लोगों से पूछताछ की। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतका अनुराधा की एक वर्ष की बेटी वैष्णवी है। आरोपी नरेन्द्र के पिता सेना से रिटायर्ड थे। कुछ माह पूर्व ही उनकी मौत हो चुकी थी। घटना के वक्त उसकी वृद्ध मां शारदा देवी बरामदे में बैठी थी। नरेन्द्र का एक भाई राजेश मुम्बई में नौकरी करता है। नरेन्द्र को लगा कि उसकी पत्नी अनुराधा किसी से मोबाइल के जरिये बात करती है। इसी शक में वह पत्नी का मोबाइल ले लिया था मोबाइल को लेकर ही पति और पत्नी में विवाद गहराया और पत्नी को अपनी जान गवानी पड़ी  


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें