Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

सोमवार, 8 नवंबर 2021

प्रतापगढ़ में कुंडा के बाद शराब के निर्माण का हब बनता जा रहा प्रतापगढ़ का रानीगंज क्षेत्र, जहाँ महज चार दिनों के भीतर लाखों रूपये की स्प्रिट को पकड़ा गया, रानीगंज क्षेत्र से बरामद 38 ड्रम स्प्रिट से 50 लाख रुपये कीमत की बनाई जा सकती थी, मिलावटी शराब

रानीगंज कोतवाली के सराय जमुनी में जिस निर्माणाधीन मकान में लाखों रूपये की अवैध स्प्रिट पकड़ी गई,वह मकान रात्रि में पूरी तरह से कर दिया गया,जमींदोज


मकान के तहखाने से 38ड्रम स्प्रिट बरामद होने के बाद प्रशासन के उड़ गए होश...

प्रतापगढ़ जनपद में अभी तक नकली और जहरीली शराब की फैक्ट्री पकड़ी जा रही थी, परन्तु अब प्रतापगढ़ में नकली शराब बनाने के लिए कहीं स्प्रिट तो कहीं केमिकल मिल रहा है। थाना रानीगंज में शराब का अवैध कारोबार आबकारी विभाग और पुलिस की मिलीभगत से चल रहा है। जैसा कि अभी तक कुंडा क्षेत्र में चल रहा था।लगातार रानीगंज इलाके में शराब और नकली और जहरीली शराब निर्माण के लिए स्प्रिट पकड़ने से प्रतापगढ़ फिर से सुर्खियों में है। पुलिस और आबकारी विभाग की टीम ने लाखों रूपये कीमत की स्प्रिट को पकड़ा है।पकड़ी गई स्प्रिट जिससे नकली शराब बनाई जाती वह स्प्रिट नवनिर्मित मकान में छुपाकर रखी गई थी रात्रि में मकान को जेसीबी लगाकर तोड़ दिया गया सुबह लोगों ने देखा तो पूरा मकान जमींदोज हो गया था, जबकि पुलिस और आबकारी विभाग निर्माणाधीन मकान को जेसीबी से गिराने की बात से इंकार कर दिया है 


कुंडा के बाद रानीगंज क्षेत्र बना नकली शराब बनाने का हब...

रानीगंज कोतवाली के सराय जमुनी में जिस निर्माणाधीन मकान में लाखों रूपये की अवैध स्प्रिट पकड़ी गई, वह मकान रात्रि में पूरी तरह से जमींदोज कर दिया गया। कुछ दिन पूर्व फतनपुर थाना क्षेत्र में शराब बनाने वाला केमिकल उतरते समय पकड़ा गया था, प्रतापगढ़ के रानीगंज विधानसभा क्षेत्र में कल हुई अवैध और जहरीली शराब की बरामदगी के मामले में पुलिस कप्तान सतपाल अंतिल के निर्देश पर सीओ रानीगंज अतुल अंजान और खुलासे में लगी टीम को अहम सुराग मिले हैं। आबकारी विभाग के तीन सिपाहियों की इस अवैध कारोबार में संलिप्तता के भी साक्ष्य मिले हैं। सूत्रों से मिली जानकारी में आबकारी विभाग के मामूली से सिपाही के पास शराब की काली कमाई से करोड़ों रुपए का बेशकीमती बंगला प्रयागराज में है। अवैध कारोबार में संलिप्त आबकारी विभाग के सिपाहियों की मिलीभगत से प्रतापगढ़ ही नहीं सम्पूर्ण उत्तर प्रदेश में नकली शराब की तस्करी होती है। 

नाकामी छिपाने के लिए निर्माणाधीन मकान को तो कहीं जमींदोज न कराया गया हो....

अवैध शराब में संलिप्त शराब के कारोबारियों और शराब माफियाओं के साथ आबकारी विभाग के कर्मचारियों की तिकड़ी का प्रतापगढ़ पुलिस जल्द ही खुलासा कर सकती है विधायक रानीगंज धीरज ओझा ने समाज में जहर का कारोबार करने वाले माफियाओं और आबकारी विभाग के कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही की मांग की है। परन्तु यह बात समझ में नहीं आ रही है कि विधायक धीरज ओझा एक तरफ रानीगंज में नकली शराब के रूप में जहर बेंचने वाले के विरुद्ध कार्रवाई की मांग करते हैं और दूसरी तरफ पूर्व ब्लॉक प्रमुख गौरा राकेश सरोज के यहाँ शर्ब बनाने वाले केमिकल पकड़े जाने पर उन्हें थाने छुड़ाने पहुँच जाते हैं और थाने पर जमकर हंगामा करते हैं। विधायक धीरज ओझा की यह दोहरी नीति लोगों के समझ में नहीं आ रही है। विधायक धीरज ओझा की दोहरी नीति से शासन और प्रशासन भी खासा हैरान व परेशान है। 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें