Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शुक्रवार, 1 अक्तूबर 2021

सूबे के भ्रष्ट, बेईमान और अकर्मण्य नौकरशाही ने योगी सरकार की कटवा दी नाक

आप भी देखिए गोरखपुर के डीएम और एसएसपी किस प्रकार से गोरखपुर पुलिस द्वारा बर्बरतापूर्ण पिटाई में अपनी जान गवाने वाले कानपुर के  कारोबारी मनीष गुप्ता की पत्नी मिनाक्षी पर पुलिस वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज न कराने के लिए लालच देकर बना रहे हैं,दबाव 


निर्लज्जता की पराकाष्ठा पारकर गई योगी की निरंकुश नौकरशाही...

वायरल वीड‍ियो में गोरखपुर के डीएम विजयकिरण आनंद और एसएसपी डॉ. विपिनटाडा मनीष की पत्नी और उनके घरवालों को केस न दर्ज कराने की सलाह देते नजर आ रहे हैं वो कह रहे हैं कि आपको नहीं पता कि एफआईआर कराने से क्या दिक्कत होगी ? मामला कोर्ट में लंबा चलेगा। अधिकारी समझा रहे हैं कि किस तरह से पुलिसवालों का परिवार बर्बाद हो जाएगा। ऐसे में वह एफआईआर न दर्ज कराये। मृतक मनीष गुप्ता की पत्नी को सरकारी नौकरी का प्रलोभन भी दिया जा रहा है, लेकिन मीनाक्षी पुलिसवालों पर कार्रवाई की बात पर अड़ी रहती हैं इस वीडियो के बाहर आने के बाद अब यूपी पुलिस की आलोचना हो रही है। सूबे की जनता उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी जी से मांग कर रही है कि पीड़ित के ऊपर दबाव बनाने वाले इन दोनों जनता के नौकर डीएम और एसएसपी के ऊपर भी एफआईआर दर्ज होनी चाहिए।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें