Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

रविवार, 17 अक्तूबर 2021

ऐतिहासिक भरत मिलाप के दिन शहर प्रतापगढ़ में महज 20 मिनट की बरसात में डूब गया था, विवेक नगर मुहल्ला

पूर्व मंत्री स्व भगवती प्रसाद शुक्ल के पौत्र सुनील कुमार शुक्ल ने शासन-प्रशासन सहित नपाध्यक्ष प्रेमलता सिंह के पति  हरि प्रताप सिंह से की शिकायत कि सड़क और नाली न बनने से चंद मिनट की बरसात में डूब जाता है,विवेक नगर मुहल्ला 


चंद मिनट की बरसात में डूब गया प्रतापगढ़ का विवेक नगर मुहल्ला... 

अक्टूबर माह में ऐतिहासिक भरत मिलाप के दिन बरसात होगी ऐसा किसी ने सोचा भी नहीं था आज दोपहर में बिन मौसम बरसात होने लगी शहर प्रतापगढ़ में महज 20 मिनट की बरसात में विवेक नगर मुहल्ला डूब गया। नगरपालिका प्रशासन के लिए ये शर्म की बात रही। परन्तु नगरपालिका प्रशासन को लेशमात्र शर्म नहीं है क्योंकि नगरपालिका परिषद बेला प्रतापगढ़ के चेयरमैन के रूप में वर्ष-1995 से वर्ष-2017 तक इस धरती का सबसे बड़ा भ्रष्ट ब्यक्ति अपनी तिकड़म से निर्वाचित होता रहा। वर्ष-2017 में जब नगरपालिका अध्यक्ष पद की सीट महिला कोटे में आरक्षित हो गई तब वह ब्यक्ति अपनी पत्नी प्रेमलता सिंह को भाजपा से टिकट दिलवा कर चेयरपर्सन की कुर्सी हथिया ली। 


अक्टूबर माह में विवेक नगर के ये हालात...

प्रतापगढ़ में नगरपलिका परिषद् बेला प्रतापगढ़ के अध्यक्ष पद पर पहली बार जनता ने उन्हें स्वेच्छा से चुनाव में जितवाया। उसके बाद तो हरि प्रताप सिंह हर फेन में माहिर हो गए और फेंक मतदाता सूची में अपने फर्जी मतदाताओं के बल पर हर बार चुनाव जीत रहे हैं। चुनाव के समय अन्य दलों से लोग चुनाव मैदान में कूद पड़ते हैं और जब तक वह कुछ समझ पायें तब तक चुनाव परिणाम आ जाता है और सत्ता फिर से हरि प्रताप सिंह के हाथों में आ जाती है। वर्ष-2012 में तो हरि प्रताप सिंह का टिकट भाजपा ने काट दिया और रवि प्रताप सिंह को भाजपा ने अपना उम्मीदवार बनाया, फिर भी हरि प्रताप सिंह अपने फर्जी मतदाताओं के आकड़ों को आधार मानकर निर्दलीय चुनाव मैदान में उतर कर भाजपा उम्मीदवार सहित सभी उम्मीदवारों को पटखनी दी थी 


इसी बात को आधार मानकर भाजपा हरि प्रताप सिंह की पत्नी प्रेमलता सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया। भाजपा ने यह तर्क दिया कि कहीं हरि प्रताप सिंह की पत्नी को टिकट न दिया और उनके स्थान पर दूसरी महिला को उम्मीदवार बनाया तो हरि प्रताप सिंह अपनी पत्नी प्रेमलता सिंह को किसी और दल से उम्मीदवार बनाकर चुनाव में भाजपा के उम्मीदवार को शिकस्त दे देगा तो बड़ी नक्कटी होगी। इस तरह भाजपा ने हरि प्रताप सिंह की पत्नी को वर्ष-2017 में अपना उम्मीदवार बनाया और वह चेयरपर्सन का चुनाव जीतकर अपने पति हरि प्रताप सिंह को पांचवीं बार नगरपालिका परिषद् बेला प्रतापगढ़ के कोष पर डकैती डालने के लिए अपना प्रतिनिधि बनाकर नगर क्षेत्र को महज 20 मिनट की बरसात में डूबने के लिए छोड़ दिया है। शर्म आती है इस बात को बताते कि महज 20 मिनट के बरसात में शहर के मुहल्ले डूब गए। परन्तु हरि प्रताप सिंह को तनिक भी शर्म और हया नहीं आती। हरि प्रताप सिंह को शर्म और हया इसलिए नहीं आती, क्योंकि वह उसे धोकर पी लिया है 


इतना वेशर्म और निर्लज्ज ब्यक्ति इस धरती पर कम ही मिलेंगे जो हरि प्रताप सिंह सरीखे हो ! आज जब विवेक नगर चंद मिनट की बरसात में डूब गया तो वहाँ के निवासी सुनील शुक्ल पूर्व लेखाधिकारी शिक्षा विभाग हरि प्रताप सिंह से शिकायत किये तो हरि प्रताप सिंह ने उन्हें जवाब दिया कि जो क्षेत्र निचला है वहाँ क्यों घर बनाते हो ? पानी भर गया तो हम क्या करें ? ये उस शख्स का जवाब है जो वर्ष-1995 से नगरपालिका अध्यक्ष पद पर कुंडली मारकर बैठा हो ! विवेक नगर मुहल्ला भंगवा चुंगी से चौक सड़क के पश्चिम तरफ और भंगवा चुंगी से कचेहरी रोड़ के उत्तर तरफ पड़ता है इस मुहल्ले में अधिकारी, अधिवक्ता और पत्रकार सहित कई जनप्रतिनिधि रहते हैं। फिर भी विवेक नगर की ऐसी स्थिति देखकर तरस आता है। उससे अधिक दुखद स्थिति चेयरपर्सन प्रेमलता सिंह के पति हरि प्रताप सिंह के बेतुके बयान से हुई जो अपने दायित्वों के निर्वहन से हटकर सम्पूर्ण मामले से पल्ला झाड़ लिए


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें