Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

बुधवार, 20 अक्तूबर 2021

सीएम योगी के ड्रीम प्रोजेक्ट सामूहिक विवाह में घोटाला,अफसरों ने विवाहित जीजा-साली को मंडप में बिठाया, फिर से करा दी शादी

सीएम योगी के ड्रीम प्रोजेक्ट सामूहिक विवाह में अफसरों और दलालों द्वारा किया जा रहा है,भ्रष्टाचार...!!!


अफसरों ने विवाहित जीजा-साली को मंडप में बिठाया, दोबारा करा दी शादी...

यूपी के महाराजगंज में अजीबो-गरीब मामला सामने आया है मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत में अफसरों ने शादीशुदा जोड़ों को ही मंडप में बैठाकर दोबारा 7 फेरे पड़वा दिए। केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी की मौजूदगी में इन जोड़ों को 51000 रुपए की सहायता राशि भी दी गई। दरअसल, महाराजगंज जनपद के कोल्हुई थाना क्षेत्र के ग्राम सभा बड़िहारी निवासी अमरनाथ चौधरी शादीशुदा हैं वहीं उनकी साली का भी विवाह हो चुका है, लेकिन बीते दिनों मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह में ये दोनों अविवाहित युगल के रूप में पहुंचे और वहां शादी की समाज कल्याण विभाग के अफसरों की लापरवाही से इन दोनों को सामूहिक विवाह योजना के तहत 51000/ रुपए की सम्मान राशि भी दी गई। 


सामूहिक विवाह में शादी हो जाने के बाद पता चला कि अमरनाथ चौधरी शादीशुदा है। कोल्हुई थाने के परासखांड़ गांव में रहने वाले ओम प्रकाश चौधरी की बेटी अनीता से उसकी शादी हो चुकी है यही नहीं उन्हें दो बच्चे भी हैं।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक प्रोजेक्ट है, सामूहिक विवाह। अब उस सामूहिक विवाह समारोह में फर्जीवाड़ा हो। इस तरह के भ्रष्टाचार से सरकार की छवि धूमिल होती है। क्योंकि असल लाभार्थियों वंचित रह जाते हैं और भ्रष्टाचार के दम पर सामूहिक विवाह में घपला होने से भ्रष्टाचार के विरुद्ध दावों की पोल कर रख देती है। सामूहिक विवाह में घोटाले का खुलासा होने के बाद समाज कल्याण अधिकारी सुधीर पांडेय ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है इसमें जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी ऐसे जोड़ों के पास से सामान की रिकवरी की जाएगी। साथ ही उस विवाह का सत्यापन करने वाले अधिकारी और कर्मचारी के ऊपर भी कठोर कार्रवाई की जाएगी


 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें