Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शनिवार, 23 अक्तूबर 2021

पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ से शिकायत के बाद भी जेठवारा थाना में विवाहिता के हत्यारों की नहीं हुई गिरफ्तारी

आधुनिक बहुयें बिना सोच विचार किये अपनी इह लीला समाप्त कर देने का ले लेती हैं,निर्णय और मरने के बाद मायके वाले ससुराल पक्ष के सभी लोगों को बदले की भावना से फंसाकर बदला लेने की पाल रखते हैं,प्रवृत्ति 


विवाहिता को जहर देकर मार डालने का आरोप...

प्रतापगढ़ के जेठवारा थाना में जहर देकर ससुराली वालों ने एक विवाहिता को मार डाला मायके वालों ने इस संबंध में तहरीर दी तो पुलिस ने दहेज उत्पीड़न, हत्या का मामला ससुरालीजनों पर तो दर्ज कर लिया, लेकिन अभी तक आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। पुलिस की हीलाहवाली और लापरवाही से मायके वाले आक्रोशित और ब्यथित हैं। पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देकर जल्द से जल्द हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की मांग मायके वालों ने की है। वैसे जहर खाकर मरने अथवा खिलाकर मारने के मामले में बिना जाँच किये पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुँच सकती। मायके पक्ष के प्रति संवेदना दिखाते हुए अथवा दबाव में यदि पुलिस ऐसे मामले में मुकदमा लिख लेती है तो उसे विवेचना के लिए समय मिलना चाहिए। 


यह कह पाना इतना आसान नहीं होता कि मृतक जहर पीकर स्वयं खत्म हुई अथवा उसे जबरन जहर पिलाया गया या जहर पीने के लिए मजबूर किया गया। चूँकि जहर पिलाकर किसी को मारना आसान नहीं होता। यदि मुँह और नाक दबाकर जबरन जहर पिलाया जाता है तो चेहरे पर विरोध स्वरूप कुछ न कुछ चोटें अवश्य आयेगी और पोस्टमार्टम रिपोर्ट में वह निकल कर सामने आ जाता है। अक्सर देखा गया है कि भावावेश में आजकल की बहुएं बिना सोच विचार किये जहर निगल जाने का निर्णय ले लेती हैं जो बहुत ही चिंतनीय और दुखद है। जेठवारा थाना के चमरूपुर शुक्लान गांव के कन्हैया लाल ने अपनी बेटी की शादी 11 मार्च, 2011 को हिंदू रीति रिवाज के साथ राजकुमार जायसवाल पुत्र अमृतलाल निवासी लक्ष्मीगंज बाजार थाना जेठवारा के साथ किया था


मायके वालों का आरोप है कि शादी के बाद से ही ससुरालीजन अतिरिक्त दहेज के लिए विवाहिता को परेशान करने लगे। जिससे आजिज होकर विवाहिता अपने मायके रहने लगी इस संबंध में शिकायत करने के बाद पति राजकुमार ने इस संबंध में आपसी समझौते के आधार पर बीते 10 जुलाई, 2014 को विदा करके सीमा को फिर से ससुराल ले गया। लेकिन बीते 13 सितंबर, 2021 को राजकुमार ने विवाहिता को जहर देकर मार डाला। हालांकि शिकायत के बाद पुलिस ने ससुरारीजनों के पक्ष से 5 लोगों के खिलाफ हत्या, दहेज उत्पीड़न का मामला तो दर्ज कर लिया, लेकिन एक महीने से अधिक समय बीत जाने के बावजूद भी हत्यारोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं बुधवार को मायके वालों ने गिरफ्तारी न होने पर पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ को शिकायती पत्र देकर जल्द से जल्द हत्यारों को गिरफ्तार किये जाने की मांग की है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें