Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शुक्रवार, 29 अक्तूबर 2021

पच्चीस वर्षीय जवान बेटे हर्ष पाण्डेय उर्फ सौरव पाण्डेय के गायब होने की सूचना देने पहुँचे घर वालों और गाँव वालों को आसपुर देवसरा कोतवाल ने किया बेइज्जत, गाँव वालों के विरोध पर बदले कोतवाल के सुर

आसपुर देवसरा में कैबिनेट मंत्री मोती सिंह का सबसे चहेता कोतवाल आसपुर देवसरा अपनी आदतन उल्टे-पुल्टे डॉयलाग देना शुरू किया तो घरवालों के साथ गाँव के लोग भी दिखे, असहज 


घर से दवा लेने निकला था,हर्ष पाण्डेय उर्फ सौरव पाण्डेय (फाइल फोटो)

प्रतापगढ़ में युवाओं के लापता होने का सिलसिला लगातार जारी है। आसपुर देवसरा थाना क्षेत्र के ग्राम शैलखा पोस्ट दियावां, थाना- आसपुर देवसरा, जनपद प्रतापगढ़ के रहने वाले हर्ष पाण्डेय उर्फ सौरव पाण्डेय पुत्र सुभाष पाण्डेय उम्र लगभग-25 वर्ष जिनकी दोनों आंख की पुतली हिलती रहती है। हर्ष पाण्डेय उर्फ सौरव पाण्डेय दिनांक- 28 अक्टूबर, 2021 को समय लगभग 11.30AM पर अपने घर से दवा लेने के लिए साईकल से निकले थे और काफी देर तक घरवाले हर्ष पाण्डेय उर्फ सौरव पाण्डेय का इंतजार किया गया, जब वह नहीं लौटे तो घरवाले परेशान हो उठे। चूँकि हर्ष पाण्डेय उर्फ सौरव पाण्डेय के पास जो मोबाइल था, वह स्विच ऑफ बता रहा था। लड़के के पास जो मोबाइल है, उसका नंबर- 8957260072 उपरोक्त है, मगर कल से ही स्विचऑफ है। 


व्हाट्सएप भी साढ़े दस बजे सुबह से सीन नहीं है। व्हाट्सएप के मैसेज को चेक किया गया तो वह भी सुबह के बाद से सीन की डबल टिक नहीं बता रहा था कोई खबर नहीं मिल रही है। हर्ष पाण्डेय उर्फ सौरव पाण्डेय ने लाल शर्ट, जीन्स का पैंट पहन रखा है पैरों में लाल हवाई चप्पल है। हर्ष पाण्डेय उर्फ सौरव पाण्डेय बहुत ही शांति प्रिय लड़कों में से एक है घर वालों के अलावा गाँव के लोग भी हर्ष पाण्डेय उर्फ सौरव पाण्डेय के लिए विषय में तारीफ कर रहे थे हर कोई यही कह रहा है कि हर्ष पाण्डेय उर्फ सौरव पाण्डेय कोई अवगुण नहीं रहा है। इसलिए उसके गायब होने से घरवालों के अलावा गाँव वाले भी चिंतित हैं। घर वालों के साथ गाँव के लोग भी हर्ष पाण्डेय उर्फ सौरव पाण्डेय के गुमशुदगी की रपट लिखने आसपुर देवसरा पहुँचे थे, परन्तु आसपुर देवसरा में कैबिनेट मंत्री मोती सिंह का सबसे चहेता कोतवाल आसपुर देवसरा अपनी आदतन उल्टे-पुल्टे डॉयलाग देना शुरू किया तो घरवालों के साथ गाँव के लोग भी असहज दिखे। 


गाँव के कुछ लोगों ने कोतवाल की भाषा शैली का विरोध किया तो बड़बोले और बद्जुबान कोतवाल नरेंद्र सिंह के तेवर में थोड़ा बदलाव आया। नरेंद्र सिंह जैसे कोतवाल का जनता के प्रति ऐसा ब्यवहार किसी भी दशा में उचित नहीं कहा जा सकता पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल का अपने अधीनस्थों के लिए फरमान है कि वह थाने में आये सभी आगंतुकों के साथ अच्छा ब्यवहार करें, परन्तु नरेंद्र सिंह मंत्री मोती सिंह के संरक्षण में जनता की माँ बहन करने में संकोच नहीं करतेआसपुर देवसरा के कोतवाल नरेंद्र सिंह के ब्यवहार से आने वाले विधानसभा में भाजपा को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। आसपुर देवसरा के ब्लॉक प्रमुख चुनाव में तो लाठी मारकर और पुलिसिया ट्रेटर कायम कर मंत्री मोती सिंह की इज्जत कोतवाल नरेंद्र सिंह भले बचा दिए हों, परन्तु विधानसभा चुनाव में इसके गंभीर परिणाम भाजपा को भुगतने होंगे।  


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें