Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

मंगलवार, 14 सितंबर 2021

भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के आवास के बाहर बम विस्फोट से हिल गया पश्चिम बंगाल, पश्चिम बंगाल की कानून ब्यवस्था पर उठ रहा है,सवाल

पश्चिम बंगाल में कानून ब्यवस्था नहीं सभल रही है,राज्य के राज्यपाल के हस्तक्षेप पर भी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राज्य में कानून ब्यवस्था पर नहीं ला पा रही हैं,सुधार 


भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के आवास पर बम विस्फोट की घटना... 

कोलकाता। वेस्ट बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले भी राज्य में हिंसा और मारपीट की घटनाएं हो रही थी, परन्तु वह घटना चुनावी रंजिश में कारित मान ली जाती थी और राजनीतिक प्रतिस्पर्धा में भाजपा और टीएमसी के बीच उक्त हिंसा का होना मानकर एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगता रहा।चुनाव परिणाम बाद राज्य में जब ममता बनर्जी के दल TMC को राज्य की जनता ने पूर्ण बहुमत दिया और पश्चिम बंगाल में पुनः ममता बनर्जी ने TMC की सरकार बनाई तो यह माना जा रहा था कि अब चुनावी हिंसा बंद हो जायेगी और राज्य में शांतिपूर्ण माहौल पुनः कायम हो सकेगा परन्तु संयोग से ऐसा न हो सका। ममता बनर्जी के मुख्यमंत्री बनने के बाद से पश्चिम बंगाल में हिंसा और मारपीट की घटनाओं में दिन दूना, रात चौगुना बढ़ने लगा वेस्ट बंगाल में राज्यपाल महोदय का भी हस्तेक्षप काम न आया पश्चिम बंगाल के राज्यपाल भी सिर्फ मीडिया तक सीमित रहे 


भाजपा सांसद अर्जुन सिंह को जान का खतरा...

पश्चिम बंगाल में 24 उत्तर परगना स्थित भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के आवास पर बदमाशों द्वारा बम फेंकने की घटना के एक हफ्ते के अंदर मंगलवार सुबह उनके घर के बाहर बम विस्फोट किया गया, जिससे अफरातफरी मच गई। भाजपा सांसद अर्जुन सिंह ने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सदस्य उनकी जान लेने की कोशिश कर रहे हैं। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि सुबह करीब 9.10 बजे, सिंह के भाटपाड़ा आवास से करीब 200 मीटर की दूरी पर खाली पड़ी जमीन पर बम विस्फोट हुए। उन्होंने कहा कि हम मामले की जांच कर रहे हैं। हमारे अधिकारी मौके पर मौजूद हैं। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने 8 सितंबर की घटना की जांच सोमवार को अपने हाथ में ली थी, जिसमें भाजपा सांसद के आवास का गेट आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गया था।



बेजीपी सांसद अर्जुन सिंह ने आरोप लगाया कि इस हमले की योजना तृणमूल कांग्रेस द्वारा उन्हें, उनके परिवार के सदस्यों और उनके करीबी लोगों को मारने के लिए बनाई गई थी। सिंह ने आरोप लगाया कि यह एक सुनियोजित हमले के अलावा और कुछ नहीं है। इसके पीछे तृणमूल कांग्रेस है। वे मुझे और मेरे लोगों को मारने की कोशिश कर रहे हैं। यह बंगाल में गुंडाराज है। टीएमसी के उत्तर 24 परगना के अध्यक्ष पार्थ भौमिक ने आरोपों को खारिज किया और कहा कि भाजपा सांसद अपने घर के बाहर विस्फोटों के लिए किसी न किसी तरह से जिम्मेदार हैं। परन्तु यह बात समझ में नहीं आ रही है कि एक सांसद अपने घर पर बम विस्फोट क्यों करायेगा ? चुनावी प्रतिस्पर्धा तो ठीक है, परन्तु चुनावी रंजिश में इस तरह की घटना को अंजाम देना स्वस्थ लोकतंत्र के लिए उचित नहीं। राज्य की कानून ब्यवस्था की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होती है ऐसे में ममता सरकार बम विस्फोट के लिए उत्तरदायी है।  

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें