Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

बुधवार, 22 सितंबर 2021

विधानसभा चुनाव-2022 में राजनीतिक विसात बिछाने प्रतापगढ़ पहुँचे सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल

जिले की सीमा से लेकर विधानसभाओं की सीमा पर सपा के कार्यकर्ताओं से अधिक हुजूम संभावित उम्मीदवारों के दिखे जो अपने नेता के नाम का लगाते रहे,जयकारा 

प्रतापगढ़ में कार्यकर्ताओं के बीच थके-थके नजर आये सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम... 


प्रतापगढ़ में सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम दौरे के दौरान विधानसभा में जो चुनाव के लिए संभावित उम्मीदवार हैं, उन्होंने पूरे दमखम के साथ अपने समर्थकों को लेकर अपने प्रदेश अध्यक्ष को प्रभावित करने का भी प्रयास किया। अलग-अलग क्षेत्र में ये उम्मीदवार विधानसभा वार हजारों कार्यकर्ताओं के साथ प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम का स्वागत किया। जिले की सीमा से लेकर विधानसभाओं की सीमा पर सपा के कार्यकर्ताओं से अधिक हुजूम संभावित उम्मीदवारों के दिखे जो अपने नेता के नाम का जयकारा भी लगाते रहे 

प्रदेशध्यक्ष नरेश उत्तम से जिला महासचिव जिलानी गुफ्तगू करते हुए...

सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने सपा के पक्ष में जनपद की तीन विधानसभाओं में मीटिंग के दौरान जनता से समर्थन मांगा। जिले में तीनों विधानसभाओं से टिकट के प्रबल दावेदारों ने अपनी क्षमता का प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम के सामने दमखम दिखाते हुए अपनी काबिलियत का एहसास कराने में पीछे नहीं रहे। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव-2022 को लेकर सदर, विश्वनाथगंज, रामपुरखास विधानसभा में तीन जनसभा कार्यक्रम में शामिल हुए आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सपा नेताओं और कार्यकर्ताओं में जोश भरने का काम किया

पार्टी पदाधिकारी के बीच में प्रदेशध्यक्ष नरेश उत्तम 

प्रदेशध्यक्ष नरेश उत्तम ने कहा कि भाजपा सरकार में महंगाई आसमान छू रही है। पूंजीवादी शक्तियों के लिए बीजेपी सरकार काम कर रही। प्रयागराज में बाघम्मरी गद्दी के मठ के अध्यक्ष रहे महंथ नरेंद्र गिरी महाराज की संदिग्ध मौत के मामले में प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम का तर्क है कि एक ज्ञानी महापुरुष अपने जीवन में आत्महत्या के प्रति सोच भी नहीं सकता। दूसरों को ज्ञान देने वाला सत्य की राह दिखाने वाला अज्ञानता का कार्य किस दशा में किया ? उन्होंने आत्महत्या की अथवा उनकी हत्या की गई ? ये जांच का विषय है। फिलहाल महंत नरेंद्र गिरी की मौत दुःखद रही। उनकी कमी हमेशा अखरेगी। सूबे में संत की सरकार में संत और महंथ भी सुरक्षित नहीं है। सूबे में दर्जनों संत, महात्मा की प्रति वर्ष हत्या हो रही है। 


प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने कहा कि आजम खां सपा के वरिष्ठ नेता है आजम खां को भाजपा ने जानबूझ कर टारगेट किया जा रहा है। जेल में उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। भाजपा वोटबैंक की खातिर कुछ भी कर सकती हैं। प्रदेश में समाजवादी पार्टी ही मुख्य विपक्षी दल है। सपा ही पूरे प्रदेश में भाजपा सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ धरना प्रदर्शन, सम्मेलन और विधानसभा तक में विरोध करती है। भाजपा की तानाशाही सरकार रहने तक समाजवादी पार्टी से जुड़े लोग संघर्ष करते रहेंगे एक दिन आजम खां निश्चित ही जेल से बाहर होंगे और भाजपा को हटाकर ही सपाई दम लेंगे।पूरे आयोजन में सपा के पूर्व मंत्री शिवाकांत ओझा, सपा जिलाध्यक्ष छवि नाथ यादव, पूर्व विधायक नागेंद्र सिंह मुन्ना, पूर्व विधायक राम सिंह पटेल, जिला महासचिव जिलानी, पूर्व महासचिव इरशाद सिद्दीकी, जिला सचिव आशुतोष पाण्डेय सहित सैकड़ों कार्यकर्ता भी मौजूद रहे


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें