Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शनिवार, 18 सितंबर 2021

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चंडीगढ़ के राजभवन में राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित को सौंपा अपना इस्तीफा

राजनीति से खेल के मैदान तक भूचाल ही भूचाल...

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह इस्तीफा सौंपते हुये...

पंजाब कांग्रेस में पिछले कुछ महीनों से उथल-पुथल मची हुई थी प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू का खेमा अमरिंदर सिंह के गुट पर हावी होने की कोशिश कर रहा था अंत में उसे सफलता भी मिल गई इस तरह कैप्टन अमरिंदर सिंह एक हफ्ते के अंदर इस्तीफा देने वाले तीसरे दिग्गज हैं...!!!

 

पिछले कुछ महीनों में तीसरी बार ये हो रहा है कि विधायकों को दिल्ली में बुलाया गया। मैं समझता हूं कि अगर मेरे ऊपर कोई संदेह है मैं सरकार चला नहीं सका, जिस तरीके से बात हुई है मैं स्वयं को अपमानित महसूस कर रहा हूं। इसलिए मैं मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। फ्यूचर पॉलिटिक्स हमेशा एक विकल्प होती है और जब मुझे मौका मिलेगा तो मैं उसका इस्तेमाल करूंगा। एक शनिवार को भाजपा शासित राज्य गुजरात में मुख्यमंत्री पद से विजय रूपाणी त्याग पत्र दिया और दूसरे शनिवार को पंजाब के सीएम कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने त्याग पत्र देकर पंजाब की कप्तानी छोड़ दी है सत्ताधारी दल भाजपा के दो मुख्यमंत्री यदि त्याग पत्र दे दिए तो कांग्रेस मुख्य विपक्षी दल को लगा कि क्या सावन से भादव दूबर ? इसलिए कांग्रेस ने भी अपने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरेन्द्र सिंह की कप्तानी छीन ली है 


अब पंजाब के सीएम पद का ताज किसके सिर बधेगा, यह अभी तय नहीं हो सका है भाजपा से कांग्रेस में गए सिद्धू क्या कैप्टन को आउट करके खुद कप्तानी का ताज पा सकेंगे ? अभी तो यह कहना जल्दबाजी होगी। फिलहाल कैप्टन और सिद्धू की जंग पंजाब में कौन सा गुल खिलाती है ? यह मजेदार और दिलचस्प होगा कैप्टन अमरिंदर सिंह मुख्यमंत्री पद से त्याग पत्र देने के बाद मीडिया को बताया कि  आज सुबह मैंने इस्तीफा देने का फैसला‌ लिया। सुबह ही कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी को फोन कर‌ अपने त्याग पत्र की जानकारी दे दी बार-बार विधायकों को दिल्ली बुलाकर बात हो रही थी इसका मतलब पार्टी हाईकमान को मेरे ऊपर भरोसा नहीं रहा गया था। मुख्यमंत्री पद पर बने रहने की मेरी क्षमता पर ऐसे में सवाल उठ रहा था मुझ पर पंजाब की सरकार चलाने का शक था मैं अपमानित महसूस कर रहा था 


एक हफ्ते में तीन दिग्गजों का इस्तीफा...


कांग्रेस आलाकमान अब स्वतंत्र हैं उनकी मर्जी जिसे भी पंजाब राज्य में सीएम बनाना चाहे, बना दें ! मेरे पास अभी भी राजनीतिक विकल्प खुले हैं मैं अभी तक कांग्रेस पार्टी में हूं अपने साथियों से बात करके भविष्य की राजनीति तय करुंगा। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है उन्होंने शनिवार को राज्यपाल से मुलाकात कर अपना इस्तीफा सौंपा अमरिंदर सिंह इस्तीफा देने वाले पिछले एक हफ्ते में दूसरे मुख्यमंत्री हैंकांग्रेस के इस दिग्गज नेता से पहले 11 सितंबर, शनिवार को गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने पद छोड़ा थादेश अभी गुजरात के सियासी घटनाक्रमों को देख ही रहा था कि 5 दिन बाद यानि गुरुवार को विराट कोहली ने टी-20 फॉर्मेट में टीम इंडिया की कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर सबको चौंका दिया राजनीति से खेल के मैदान तक में दिए गए इन इस्तीफों ने देश में भूचाल मचा दिया है।  


रुपाणी ने शुरू किया इस्तीफे का सिलसिला...


इस्तीफों का सिलसिला कर्नाटक से शुरू होकर गुजरात पहुँचा और गुजरात से अब पंजाब पहुँच चुका है पहले बीएस येदुरप्पा फिर विजय रुपाणी और अब कैप्टन अमरिंदर सिंह ने त्याग पत्र दिया है विजय रुपाणी ने गुजरात के मुख्यमंत्री पद से 11 सितंबर को  इस्तीफा देकर बीजेपी में हलचल बढ़ा दी थी रुपाणी ने अपना दूसरा कार्यकाल पूरा करने से महज साल भर पहले पद छोड़ा रुपाणी दूसरी बार मुख्यमंत्री बने थे और अपने कार्यकाल का चौथा साल पूरा करने से करीब 3 महीने दूर थे, लेकिन अचानक उन्हें पद से इस्तीफा देना पड़ गया अगस्त, 2016 में आनंदीबेन पटेल के इस्तीफे के बाद विजय रुपाणी पहली बार मुख्यमंत्री बने फिर वर्ष-2017 के विधानसभा चुनाव में जीत के बाद भी कमान रुपाणी के पास ही रही लेकिन पौने 4 साल पद पर रहने के बाद उन्हें भी जाना पड़ा इस तरह से वह कुल 5 साल 35 दिन तक वह मुख्यमंत्री पद पर बने रहे


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें