Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 28 सितंबर 2021

सांगीपुर ब्लॉक प्रमुख पद के भाजपा उम्मीदवार रहे ओम प्रकाश पाण्डेय उर्फ गुड्डू का कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आना और उस दिन विधायक मोना को भद्दी-भद्दी गाली देना, उनकी पिटाई का कारण बना

नेताओं के पालतू एवं बद्जुवान समर्थकों ने सांगीपुर ब्लॉक परिसर सभागार में एक दूसरे को गालियाँ देकर आग में घी डालने का किया,काम  


 भाजपा नेता गुड्डू पाण्डेय से कथित दिग्गज नेता प्रमोद कुमार हाथापाई करते हुए...

प्रतापगढ़। सांगीपुर ब्लाक परिसर मे सीडब्ल्यूसी मेंबर प्रमोद कुमार व क्षेत्रीय विधायक अराधना मिश्रा मोना की मौजूदगी में चल रहे गरीब कल्याण मेले में अचानक समर्थकों के साथ सांसद संगम लाल के पहुंचने पर सांसद समर्थकों के साथ पहुंचे उपद्रवियों की उत्तेजक नारेबाजी से तनाव बढ़ गया। सांसद संगम लाल गुप्ता समर्थकों तथा कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच इससे नारेबाजी होने लगी। यह देख मंच पर मौजूद विधायक अराधना मिश्रा मोना तथा पूर्व सांसद प्रमोद कुमार आवाक रह गये। सांसद समर्थको ने मंच पर जबरिया चढ़ते हुए संचालक से माइक छीन लिया और अफसरो तथा कर्मचारियों समेत मंच पर मौजूद लोगों से धक्कामुक्की करने लगे। कार्यक्रम में  मौजूद प्रधानों तथा कुछ बीडीसी सदस्यों समेत लोगों ने सांसद समर्थकों को समझाने बुझाने का प्रयास किया। 


इस बीच अचानक सांसद समर्थकों का समूह और उत्तेजक हो उठा। दोनों पक्षो के तनाव के बीच कुछ ही देर में देखते ही देखते दोनों पक्षो में मारपीट भी शुरू हो गयी। सांगीपुर एसओ तुषार दत्त त्यागी उपद्रवियों को नियंत्रित करने के बजाय पंचायत प्रतिनिधियों तथा कांग्रेस समर्थकों से उलझ गये, इससे लोगों के बीच तनाव और बढ़ गया। वहीं क्षेत्रीय विधायक आराधना मिश्रा मोना तथा पूर्व सांसद प्रमोद कुमार माहौल को शांत करने मे जुटे दिखे। इसके बाद सांसद संगम लाल गुप्ता के समर्थकों ने सभागार के बाहर ब्लाक परिसर मे भी घंटो बवाल किया। इस बवाल के दौरान तीन गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गयी। ब्लाक परिसर समेत गेट पर भी सांसद समर्थकों व कांग्रेस समर्थकों सहित पंचायत प्रतिनिधियों के बीच मारपीट में आधा दर्जन लोग चुटहिल हो गये और घंटो अफरातफरी मची रही। 


योगी सरकार के साढ़े चार वर्ष पूर्ण होने पर ब्लॉक स्तर पर सरकार की सफलता का प्रचार-प्रसार कार्यक्रम में समय से पहले पहुँचे भाजपाईयों की नारेबाजी से हुआ बवाल- प्रमोद कुमार, सीडब्ल्यूसी मेंबर 


सांगीपुर विकास खण्ड के सभागार में शनिवार को गरीब कल्याण मेला का आयोजन किया गया था। इसमें दो बजे क्षेत्रीय विधायक आराधना मिश्रा मोना व वरिष्ठ कांग्रेस नेता सीडब्ल्यूसी मेंबर प्रमोद कुमार को अतिथि के रूप मे आमंत्रित किया गया था। इसके पश्चात तीन बजे सांसद संगमलाल गुप्ता का भी कार्यक्रम लगा हुआ था। दोपहर लगभग ढ़ाई बजे पूर्व सांसद प्रमोद कुमार व क्षेत्रीय विधायक अराधना मिश्रा मोना सांगीपुर ब्लाक पहुंच गये। सभागार मे दीप प्रज्ज्वलन के बाद माल्यार्पण का कार्यक्रम शुरू हुआ ही था कि अपने निर्धारित कार्यक्रम से एक घंटे पूर्व प्रतापगढ़ के सांसद संगम लाल गुप्ता अपने समर्थको के साथ ब्लाक परिसर पहुंच गये। इसकी जानकारी होने पर सीडब्ल्यूसी मेंबर प्रमोद कुमार ने प्रशासन से सांसद को मंच पर बैठाने के लिए कहा। सांसद मंच पर बैठे ही थे कि अन्य भाजपाई भी मंच पर चढ़ने लगे। 


यह देख कांग्रेसियो ने विरोध जताया तो भाजपा कार्यकर्ता नारेबाजी करने लगे। देखते ही देखते भाजपा व कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच जमकर नारेबाजी होने लगी। इसी दौरान भाजपाईयों ने कार्यक्रम का संचालन कर रहे एक कांग्रेसी कार्यकर्ता को धक्का देते हुए उससे माइक छीन लिया। इस पर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने आपत्ति जताई तो भाजपाईयों ने अनसुना कर दिया। इसके बाद दोनों पक्षों में जमकर नारेबाजी होने लगी। तभी मंच पर सांगीपुर एसओ तुषार दत्त त्यागी ने एक पक्षीय कार्रवाई करते हुए कांग्रेसियो को धक्का देना शुरू कर दिया तो कांग्रेस कार्यकर्ता भाजपाईयों को भी मंच से हटाने की बात कहने लगे। इससे पहले कि पुलिस प्रशासन कोई निर्णय लेता भाजपा व कांग्रेस कार्यकर्ता गाली गलौज करते हुए धक्का मुक्की करने लगे। देखते ही देखते दोनों पक्षो मे मारपीट शुरू हो गयी। मारपीट शुरू होते ही ब्लाक सभागार मे भगदड़ मच गयी। 


सांसद के सुरक्षाकर्मियों ने घेराबंदी कर सांसद को बाहर निकाला। बाहर निकलने पर कांग्रेस और सांसद संगम लाल गुप्ता के समर्थकों  मे फिर से गाली गलौज एवं मारपीट शुरू हो गयी। जिसने जिसको अकेले पाया, उसको लात जूतों से मारा पीटा। घटना में दर्जनों लोग चुटहिल हुए थे। बाहर अफरातफरी के बीच ईट पत्थर चलने से सांसद संगम लाल गुप्ता समेत कांग्रेसी पक्ष से भी लगभग तीन गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गयी। बाद में  एसडीएम राहुल यादव व सीओ जगमोहन चार थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। लेकिन तब तक सांसद संगम लाल गुप्ता व उनके समर्थक ब्लाक से जा चुके थे। वहीं क्षेत्रीय विधायक अराधना मिश्रा मोना तथा पूर्व सांसद प्रमोद कुमार भी बाबा घुइसरनाथ धाम में पहले से तय कार्यक्रम के लिए निकल गये। इस बीच सीओ के निर्देश पर प्रशासन ने ब्लाक परिसर को खाली कराया और अफसरों से घटना के बाबत जानकारी करने में जुटे रहे। घटना को लेकर सांगीपुर इलाके में अफरातफरी का माहौल बना हुआ है। एसडीएम तथा सीओ ने ब्लाक में मौजूद महिला बीडीओ समेत अन्य कर्मचारियों से भी घटनाक्रम को लेकर पूछताछ की। 


2 टिप्‍पणियां:

  1. मुझे लगता है उसकी तो कपड़ा पढ़ने का या चोट नहीं नहीं का साक्षी प्रस्तुत कर रहे हैं संगम लाल ने अपने हाथ से ही कपड़ा पड़ा पड़ा होगा क्योंकि शुरू से लेकर आखिरी तक किसी भी वीडियो में इनके ऊपर हाथापाई करते हुए कहीं दिखाई नहीं पड़ा और लगातार इनके समर्थक ही मां बहन की गाली दे रहे थे हालांकि सच्चाई जो भी हो लेकिन जो खबर आपने लिखी है अगर सच्चाई यही सच है इसमें संगम लाल की पूरी पूरी गलती है

    जवाब देंहटाएं
  2. कृपया हिंदी टाइपिंग में कुछ शब्द गलत टाइप हो गए हैं उसके लिए माफी चाहते हैं

    जवाब देंहटाएं

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें