Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

शनिवार, 11 सितंबर 2021

एक वर्ष में भाजपा ने अपने तीन राज्यों के तीन सीएम चुनाव से पहले तो दो सीएम चुनाव में सफलता के बाद बदल दिए

महाराष्ट्र में एक कार्यकाल में तीन बार बदले थे, कांग्रेस ने अपना मुख्यमंत्री ! उत्तराखंड में भी कांग्रेस ने बदले थे दो मुख्यमंत्री ! मुख्यमंत्री बदलने के मामले में कांग्रेस के रास्ते पर भाजपा भी चल पड़ी है...!!!


गुजरात के CMविजय रुपाणी ने मुख्यमंत्री पद से दिया इस्तीफा...

सीएम बदलने में भारतीय जनता पार्टी ने लगाई हैट्रिककर्नाटक और उत्तराखंड के बाद अब गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी को भाजपा शीर्ष नेतृत्व ने हटा दिया हैगुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने राज्य के गवर्नर आचार्य देवव्रत से मुलाकात के साथ में अपना इस्तीफा सौंपा दिया। मुख्यमंत्री बदलने में बीजेपी ने एक साल में हैट्रिक लगा दीकर्नाटक और उत्तराखंड के बाद अब गुजरात के सीएम विजय रुपाणी ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा है

छः माह में भाजपा ने बदले अपने 5 सीएम...

गुजरात में होनाे वाले विधानसभा चुनाव- 2022 से पहले बड़ा सियासी उलटफेर सामने आया हैइस्तीफा देने के बाद विजय रुपाणी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की ये परंपरा रही है कि समय के साथ-साथ कार्यकर्ताओं के दायित्व भी बदलते रहते हैं उन्होंने कहा कि ये हमारी पार्टी की विशेषता है कि जो दायित्व पार्टी द्वारा दिया जाता है। उसे पूरे मनोयोग से पार्टी कार्यकर्ता उसका निर्वहन करते हैं


गुजरात में विधान सभा चुनाव से पहले सीएम बदलने का है,रिवाज 


मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने इस्तीफा देने के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, "मुख्यमंत्री के रूप में जो दायित्व का निर्वहन करने के बाद अब मैंने मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र देकर पार्टी के संगठन में नई ऊर्जा के साथ काम करने की इच्छा भी जताई हैमुझे पार्टी द्वारा जो भी जिम्मेवारी मिलेगी, उसका मैं संपूर्ण दायित्व और नए ऊर्जा के साथ प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष जी के मार्गदर्शन में मैं अवश्य काम करता रहूंगा"
विजय रुपाणी ने इस दौरान गुजरात की जनता का भी शुक्रिया अदा किया उन्होंने कहा,"मैं गुजरात की जनता के प्रति भी आभार व्यक्त करता हूं कि विगत पांच वर्षो में हुए उपचुनाव या स्थानीय निकाय के चुनाव पार्टी और सरकार को गुजरात की जनता का अभूतपूर्व समर्थन, सहयोग और विश्वास मिला हैगुजरात की जनता का विश्वास भारतीय जनता पार्टी की ताकत भी बनी है और मेरे लिए लगातार जनहित में काम करते रहने की ऊर्जा भी उससे मिली है"

विजय रुपाणी ने "चार सिद्धांतों पर जनता की सेवा की कोशिश की" उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने प्रशासन की चार आधारभूत सिद्धातों-पारदर्शिता, विकासशीलता, निर्णायकता और संवेदनशीलता के आधार पर जनता की सेवा करने का प्रयत्न किया है उन्होंने कहा कि इस काम में मंत्रिमंडल के सभी साथी, हमारे विधानसभा के सभी सदस्य, पार्टी के तमाम पदाधिकारी, कार्यकर्ता एवं जनता का संपूर्ण सहयोग मिला है मैं सभी का सहयोग के लिए आभार प्रकट करता हूं

विजय रुपाणी गुजरात के 16वें मुख्यमंत्री बने थेउन्होंने 7 अगस्त, 2016 को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी और गुजरात की कमान अपने हाथ में ली थीबता दें कि रुपाणी पश्चिम राजकोट से विधायक हैं वो वर्ष- 2006 से वर्ष-2012 तक राज्यसभा के सांसद रह चुके हैं नवंबर, 2014 में रुपाणी परिवहन मंत्री रहे थे इसके अलावा वो गुजरात बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष भी रहे हैंपहली बार वो वर्ष-1987 में राजकोट नगर निगम के पार्षद चुने गए इसके बाद वर्ष- 1996 में राजकोट के मेयर बने रुपाणी एबीवीपी और आरएसएस से जुड़े रहे हैं वर्ष- 2014 में रुपाणी राजकोट पश्चिम से एमएलए बने थे

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें