Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

शुक्रवार, 20 अगस्त 2021

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव-2022 को होने में महज 6 माह का समय शेष, सत्ता की वापसी के लिए जातीय समीकरण साधने हेतु योगी मंत्रिमंडल का जल्द हो सकता है,विस्‍तार

केंद्र में मोदी सरकार के विस्तार के बाद लगातार संघ, सरकार और पार्टी शीर्ष नेतृत्व उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार पर बैठकें और मंथन करने के कार्य करने में जुटी हुई हैं,परन्तु नहीं हो रहा है,निर्णय...!!!


UPमें मंत्रिमंडल विस्‍तार को लेकर दिल्ली में अंतिम रूप से बैठक...

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल का विस्‍तार जल्द हो सकता है। गुरुवार को नई दिल्‍ली पहुंचे सीएम योगी की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद इसकी संभावना जताई जा रही है। राजधानी लखनऊ के सियासी गलियारों में इसको लेकर चर्चा में तेजी आ गई हैं। गुरुवार की शाम गृह मंत्री अमित शाह के घर हुई इस बैठक में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल भी मौजूद थे। उम्‍मीद जताई जा रही है कि सीएम योगी, प्रदेश अध्‍यक्ष स्‍वतंत्रदेव सिंह और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल के दिल्ली से लौटते ही किसी भी दिन मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है।


देखने वाली बात यह होगी कि अपना दल एस के कोटे से केंद्र की मोदी सरकार में राज्यमंत्री की जगह देकर अपना दल एस की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल की नाराजगी दूर की गई और विधानसभा चुनाव-2022 में गठबंधन बरकरार रखने के दावे पर मुहर लगाने का कार्य किया गया। केंद्र में मोदी सरकार की तरह प्रदेश की योगी सरकार में अनुप्रिया पटेल के पति आशीष सिंह को मंत्री बनाये जाने पर मंथन चल रहा है। उधर पूर्वांचल में कुछ सीटों पर ओम प्रकाश राजभर आगामी विधानसभा चुनाव-2022 के चुनाव में नुकसान न पहुँचा सके, इसके लिए उन्हें भी मनाने का कार्य भाजपा के सेटिंगबाज नेता करने में पीछे नहीं है दिलचस्प बात होगी जब भाजपा से ओम प्रकाश राजभर पुनः गठबंधन कर चुनाव लड़े ऐसी स्थिति में ओम प्रकाश राजभर को मंत्री बनाने की भी अटकले तेज हैं। 


बताया जा रहा है कि बैठक में विधान परिषद सदस्य के लिए भी चार नामों पर सहमति भी बन गई है। योगी मंत्रिमंडल में अभी कुल 53 मंत्री हैं। इनमें 23 कैबिनेट मंत्री, नौ राज्यमंत्री और 21 राज्यमंत्री हैं। बताया जा रहा है मानक के अनुसार कुल 60 मंत्री बनाए जा सकते हैं। इस लिहाज से अभी सात और मंत्री बनाए जा सकते है।आपको बता दें कि उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव-2022 में अब कुछ महीने ही बचे हुए हैं। योगी सरकार और भाजपा इस समय कमर कसकर पूरी तरह चुनावी तैयारी में जुटी हुई है। इसी के तहत जातीय और अन्‍य समीकरणों को साधने के लिए मंत्रिमंडल विस्तार की तैयारी चल रही है। बताया जा रहा है कि बैठक में प्रदेश में होने वाले चार एमएलसी के मनोनयन पर भी चर्चा की गई। सूत्रों की माने तो इस बार योगी सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर दिल्ली में गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा के साथ बैठक कर अंतिम रूप से मुहर लग चुकी है अभी तक ऐसे ही छोटे-छोटे कारणों से उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार बढ़ते-बढ़ते रुक जाता है


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें