Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

बुधवार, 4 अगस्त 2021

राज्य महिला आयोग की सदस्या सुमन सिंह ने महिला उत्पीड़न की सुनवाई कर उसे प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण कराएं

महिला उत्पीड़न की रोकथाम एवं पीड़ित महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाये-सुमन सिंह


उ0प्र0 राज्य महिला आयोग की सदस्या सुमन सिंह ने की सुनवाई...

प्रतापगढ़। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की महत्वकांक्षी योजना के तहत महिला उत्पीड़न मामलों में त्वरित न्याय दिलाने के लिये उ0प्र0 राज्य महिला आयोग की सदस्या सुमन सिंह ने आज लोक निर्माण विभाग प्रतापगढ़ के गेस्ट हाउस में महिला उत्पीड़न से जुड़े शिकायतों की सुनवायी की। उ0प्र0 राज्य महिला आयोग की सदस्य के समक्ष आज कुल 26 महिलाओं ने अपनी शिकायतें दी। जनसुनवाई के दौरान आयी हुई समस्त शिकायतों कों सम्बन्धित थाने के थानाध्यक्ष व सम्बन्धित विभाग को भेजने का निर्देश राज्य महिला आयोग की सदस्य सुमन ने दिया और कहा कि इन शिकायतों का तत्काल निस्तारण कराये। उन्होने यह भी कहा कि महिलायें अपने उत्पीड़न सम्बन्धी कोई भी शिकायत उपस्थित होकर शिकायती प्रार्थना पत्र दे सकती है, जिसकी सुनवाई के लिये महिला आयोग द्वारा त्वरित निस्तारण के लिये कार्यवाही की जायेगी। उ0प्र0 राज्य महिला आयोग की सदस्या ने कहा कि महिलाओं के उत्पीड़न से सम्बन्धित जो भी शिकायतें सम्बन्धित विभागों को प्राप्त हो, उसके निस्तारण में लापरवाही कदापि न बरती जाए और प्राथमिकता के आधार पर महिलाओं की समस्याओं का निस्तारण किया जाये। 


जागरूकता शिविर के दौरान सुनवाई करती महिला आयोग की सदस्या सुमन सिंह...

महिला जनसुनवाई के उपरान्त उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना शिविर का आयोजन किया गया जिसमें कुल 10 आवेदन पत्र प्राप्त हुये। जागरूकता शिविर के दौरान महिला आयोग की सदस्या ने कहा कि उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना कोविड-19 से अनाथ हुये बच्चों के जीवन में रोशनी लायेगी। इस योजना के अन्तर्गत प्रदेश के ऐसे सभी बच्चे जिनके कमाऊ माता/पिता या दोनों की कोविड-19 महामारी के संक्रमण से मृत्यु हो गई है, तथा इन बच्चों के कोई करीबी अभिभावक न हो, अथवा होने के बाद भी उन्हें अपनाना न चाहे, या अपनाने में सक्षम न हो, ऐसे बच्चों के भरण-पोषण, शिक्षा, चिकित्सा आदि की व्यवस्था हेतु आर्थिक सहयोग प्रदान करने के लिए उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना लागू करते हुए अनाथ बच्चों की समस्त व्यवस्थायें क्रियान्वित होने लगी। उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना को अक्षरशः धरातल पर उतारने का किया जा रहा है। इस मौके पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव नीरज कुमार त्रिपाठी, उपजिलाधिकारी जलराजन चौधरी, जिला प्रोबेशन अधिकारी रन बहादुर वर्मा, सीओ सिटी अभय पाण्डेय, महिला कल्याण अधिकारी व अन्य सम्बन्धित उपस्थित रहे।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें