Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

सोमवार, 16 अगस्त 2021

तीन माह की बच्ची से सत्रह वर्षीय पड़ोसी युवक ने किया रेप, बच्ची की हालत नाजुक

एटा में 17साल के लड़के ने 3महीने की बच्ची का किया रेप,बच्ची की हालत नाजुक !


कुछ माह पहले भी एटा में 6साल की मासूम से किया गया था,दुष्कर्म ! मासूम बच्ची को खेत में ही छोड़कर फरार हुआ था,दरिंदा !


सबसे बड़ा सवाल कि महज तीन माह की मासूम बच्ची के ऐसी दरिंदगी करने का विचार एक सत्रह वर्षीय युवक के मन में आया कैसे ? देश के युवा किस बिकृत मानसिकता की ओर जा रहे हैं...???



उत्तर प्रदेश के एटा जिले में सोमवार को एक 3 महीने की बच्ची से रेप मामला सामने आया है एएसपी ओपी सिंह के मुताबिक 17 साल के एक लड़के ने मौका देखकर 3 महीने की बच्ची के साथ रेप किया है लड़के ने कथित तौर पर बच्ची के साथ उस वक्त दुष्कर्म किया जब उसकी मां भैंस बांधने गई हुई थी। आरोपी मौके से फरार हो गया है, जिसकी तलाश की जा रही है। पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा- 376 और यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण (POCSO) अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है आरोपी को पकड़ने के लिए चार टीमें लगाई हैं


एएसपी ओपी सिंह...

मिली जानकारी के मुताबिक बच्ची के गुप्तांग में गंभीर चोटें आई हैं बच्ची के परिजन ने मासूम को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। आरोपी किशोर घटना को अंजाम देने के बाद से ही फरार चल रहा हैपीड़ित बच्ची की मां ने बताया है कि आरोपी युवक मासूम बच्ची के साथ खेलने के बहाने से उसे अपने साथ ले गया था उसने झाड़ियों में ले जाकर बच्ची का दुष्कर्म किया। गांव की ही एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी महिला ने बताया कि मासूम बच्ची के रोने की आवाज उन्होंने सुनी तो मौके पर पहुंचीं। जाकर देखा कि किशोर अपने खून में सने हुए कपड़ो को पानी से साफ करने की कोशिश कर रहा था


एएसपी ओपी सिंह के मुताबिक, 17 साल के एक लड़के ने मौका देखकर 3 महीने की बच्ची के साथ रेप किया है। लड़के ने कथित तौर पर बच्ची के साथ उस वक्त रेप किया जब उसकी मां भैंस बांधने गई हुई थी। आरोपी मौके से फरार हो गया है, जिसकी तलाश की जा रही है। एएसपी ओपी सिंह ने बताया कि आरोपी पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है। आरोपी को पकड़ने के लिए चार टीमें लगाई हैं। पुलिस जल्दी ही आरोपी को गिरफ्तार कर लेगी। घटना के बाद पीड़ित परिवार दहशत में है। फिलहाल, पुलिस आरोपी की तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है। ऐसे मामले में घरवालों की सतर्कता ही सबसे उत्तम रास्ता माना गया है। क्योंकि बच्चियों को अकेले किसी भी लड़के के साथ घर में अथवा बाहर नहीं छोड़ना चाहिए। इन्टरनेट के जमाने में किशोर भी समय से पहले युवा हो चुके हैं। उनके मन में बहसीपन कब जग जाए कहा नहीं जा सकता   


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें