Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

शनिवार, 21 अगस्त 2021

प्रतापगढ़ में STF (स्पेशल टास्क फोर्स) उत्तर प्रदेश, लखनऊ को मिली बड़ी कामयाबी, प्रतापगढ़ में फिर पकड़ा नकली डीजल और पेट्रोल बनाने के लिए टैंकर समेत 7800लीटर हाईड्रोकार्बन मिक्सचर सालवेण्ट एवं अन्य उपकरण

वर्ष-2011 में कटरा रोड़ स्थित अलका ऑटोमोबाइल्स पर मिट्टी के तेल यानि किरोसिन से भरा तेल का टैंकर पेट्रोल पम्प पर खाली करते समय रंगे हाथ पकड़ा गया था


कटरा रोड़ स्थित अलका पेट्रोल पम्प इंडियन आयल की पम्प है तो तिलका पेट्रोल पम्प एस्सार कम्पनी की है और दोनों के मालिक घनश्याम सिंह "बड़कऊ"हैं,जो स्व राजापाल सिंह के परिवार से करते हैं,मिलान

प्रतापगढ़ में चारों गिरफ्तार अभियुक्तों के साथ एसटीएफ की टीम...

नकली डीजल, पेट्रोल के धंधे का एसटीएफ ने किया भंडाफोड़, 9 हजार लीटर नकली पेट्रोल/डीजल बनाने वाला केमिकल को ऑयल टैंकर नं0-यू0पी0-50-एफ-2265 सहित 81 हजार, 670 रुपये नगदी, 4 अदद मोबाइल, एक अदद कूट रचित टैक्स इनवाइस, एक अदद कूट रचित फर्जी बिल्टी, एक अदद ड्राइव लाइसेंस नं0- यू0पी062 20060005972, एक अदद प्लास्टिक की मोटी डिलेवरी पाइप, पीतल धातु निर्मित एक अदद डीप राड और मौके से चार लोगों को STF पुलिस ने बरामद किया एसटीएफ के इंस्पेक्टर अतुल सिंह, सब इंस्पेक्टर धर्मेंद्र सिंह, कांस्टेबल रोहित सिंह, उदय प्रताप सिंह, प्रवीण जायसवाल, कमांडो नासिर की टीम ने की कार्यवाही।


STF के हत्थे चढ़े नकली डीजल/पेट्रोल बनाने वाले गिरोह से जुड़े लोग...

कुछ दिनों पहले भी फतनपुर इलाके में हजारो लीटर नकली पेट्रोल बरामद हुआ था पूर्ति विभाग और तेल माफिया के मिलीभगत से नकली डीजल व पेट्रोल का खेल चल रहा थानगर कोतवाली के गोपालापुर प्रयागराज-अयोध्या राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित तिलका आटोमोबाइल्स का मामला है। तिलका पेट्रोल पम्प का लाईसेंस दो वर्ष पहले निरस्त होने के बावजूद नकली डीजल, पेट्रोल बनाकर बेंचने वाले गिरोह से मिलकर तिलका पेट्रोल पम्प संचालित हो रहा था। तिलका पेट्रोल पम्प का मैनेजर प्रदीप मिश्र और घनश्याम सिंह उर्फ "बड़कऊ" एवं उनके पुत्र आयुष प्रताप सिंह इस खेल में शामिल रहेपूर्ति विभाग के अफसरों और तेल माफियों की गठजोड़ से निरस्त होने के बाद भी तिलका पेट्रोल पम्प संचालित किया जाता रहा थापूर्ति विभाग में सालों से जमे अफसर वसूली के लिए जमकर खेल कर रहे हैं बाँटमाप विभाग, पूर्ति विभाग व विपणन विभाग के भ्रष्टाचार पर प्रतापगढ़ के डीएम भी मौन रहते हैंकल तक गरीबों का अनाज बेचवाने वाल आज ही नकली पेट्रोल का गंदा खेल उजागर हुआ है


शहर के बीचोबीच नकली पेट्रोल बेचने का चल रहा था,खेल...

ऐसे गंदे देशद्रोही लोगों के खिलाफ अधिकारी भी चुप्पी साधे रहते हैंसवाल उठता है कि ऐसे भ्रष्ट अफसरों पर प्रतापगढ़ के डीएम कब लेंगे एक्शन ? अवैध पेट्रोल पम्प के संचालन का कार्य शहर के व्यवसाई घनश्याम सिंह "बड़कऊ" द्वारा किया जाना बताया जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार अवैध पेट्रोल पम्प के मालिक घनश्याम सिंह "बड़कऊ" अभी भी फरार बताये जा रहे हैंएसटीएफ प्रयागराज की यूनिट ने पेट्रोल पम्प से एक टैंकर में लोड नकली पेट्रोल, डीजल बरामद किया हैटैंकर में नौ हजार लीटर नकली पेट्रोल और डीजल बनाने वाला केमिकल हाईड्रोकार्बन मिक्सचर सालवेण्ट मिला है


गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरणः-
1- रवि सिंह पुत्र तेज बहादुर सिंह, निवासी ग्राम संसारपुर, थाना कोतवाली नगर, जनपद-प्रतापगढ़। 2- रोहित सिंह पुत्र गणेश बक्श सिंह, निवासी ग्राम संडवा खास, थाना जेठवारा, जनपद प्रतापगढ़। 3- चन्द्र प्रकाश सिंह पुत्र भगवान प्रसाद सिंह, निवासी ग्राम शीतल पट्टी, थाना जेठवारा, जनपद प्रतापगढ़। 4- श्याम जी पुत्र सीता राम, निवासी हीरामपुर, जनपद-जौनपुर, मूल पता मीरपुर, प्रतापपुर, थाना अखण्ड नगर, जनपद-सुल्तानपुर। (टैंकर चालक)


एसटीएफ ने पूरी तैयारी के साथ इस बात का इंतजार कर रही थी कि पेट्रोल पम्प पर जब टैंकर से नकली डीजल और पेट्रोल खाली होने लगे तभी रेड डाली जाए। तभी सफलता मिलेगी अन्यथा मामला उलझ कर रह जाएगा तिलका पेट्रोल पम्प पर बीती रात्रि यानि 20/21.08.2021, समय 2.00AM बजे प्रयागराज-अयोध्या राष्ट्रीय राजमार्ग पर भंगवा चुंगी के आगे गोपालापुर, जनपद प्रतापगढ़ पर जैसे ही नकली डीजल/पेट्रोल से भरा टैंकर पहुँचा और तिलका पेट्रोल पम्प की टैंक में सप्लाई देते समय ही दबोच लिया गयासाथ ही सहयोगी के रूप में मौजूद पूर्ति विभाग की टीम द्वारा उक्त पेट्रोल पम्प के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही करते हुए आवश्यक वस्तु अधिनियम-1955 के अन्तर्गत कार्यवाही हेतु जिलाधिकारी प्रतापगढ़ को रिपोर्ट प्रेषित किया गया। गिरफ्तार अभियुक्तों के आपराधिक इतिहास के सम्बन्ध में जानकारी की जा रही है इस सम्बन्ध में थाना कोतवाली नगर, जनपद-प्रतापगढ़ में धारा- 285/407/409/419/420/467/468/471 भादवि का अभियोग पंजीकृत कराकर पकड़े गए सभी अभियुक्तों को दाखिल किया गया है। अग्रिम विधिक कार्यवाही स्थानीय पुलिस तथा आपूर्ति विभाग द्वारा की जा रही है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें