Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

रविवार, 1 अगस्त 2021

जिलाधिकारी की मौजूदगी में सरकार के प्रतिनिधि के रुप में पहुँचे प्रतापगढ़ के सांसद संगमलाल गुप्ता ने शहीद रितेश पाल की पत्नी को 35 लाख और माता-पिता को 15 लाख रुपये का सौंपा,चेक

शहीद रितेश पाल के परिवार को योगी सरकार ने दी 50 लाख की आर्थिक सहायता, परिवार के एक सदस्य को मिलेगी नौकरी...!!!


सांसद, विधायक, जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने शहीद रितेश पाल के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी...!!!


गाँव में ही हुआ शहीद रितेश पाल का अंतिम संस्कार, घर से लेकर अंतिम संस्कार स्थल तक बद इन्तजामी साफ-साफ दिखी,परन्तु फोटो खिंचवाने में माहिर प्रतापगढ़ के विकास पुरुषों की जुबान में ताला लग गया था,मौके पर मौजूद जिलाधिकारी प्रतापगढ़ से जिला प्रशासन की तरफ से हुई अब्यवस्था के लिए नहीं कर सके,एक भी सवाल...!!!


शहीद रितेश पाल के माँ-बाप एवं पत्नी को 50लाख का चेक देते सांसद एवं विधायक...


प्रतापगढ़। हिमाचल प्रदेश में शहीद रितेश पाल (Ritesh Pal) के परिवार को योगी सरकार ने 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रितेश पाल की शहादत को नमन किया है। इस अवसर पर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के घोषणा के क्रम में शहीद रितेश पाल के अंतिम संस्कार में सांसद प्रतापगढ़ संगम लाल गुप्ता, विधायक सदर राजकुमार "करेजा पाल" ने श्रद्धांजलि अर्पित कर पत्नी को 35 लाख रूपये व माता पिता को 15 लाख रूपये का सांकेतिक चेक समर्पित किया। इस अवसर पर विश्वनाथगंज विधानसभा के विधायक डा. आर. के. वर्मा भी मौजूद रहे। जनप्रतिनिधियों के साथ आम जनमानस की बड़ी तादात में भीड़ अंतिम संस्कार में जुटी जो अंतिम समय तक बनी रही शहीद रितेश पाल की अंतिम यात्रा में देश भक्ति के गीत भी बजते रहे पूरे राजकीय सम्मान के साथ शहीद हुए रितेश पाल का अंतिम संस्कार उनके गाँव में ही कर दिया गया


शहीद के अंतिम संस्कार में जनप्रतिनिधियों के साथ बड़ी तादात में जनता भी शामिल हुई... 

हिमांचल में शहीद रितेश पाल का पार्थिव शरीर कल देर रात प्रतापगढ़ पहुंचा तो शव देखकर परिजनों में कोहराम मचा गया घर पर उचित व्यवस्था न होने की वजह से प्रशासन ने पार्थिव शरीर को पोस्टमार्टम हाउस में ही रखवाया दियापरिजनों की सहमति पर एसडीएम की मौजूदगी में पार्थिव शरीर को पोस्टमार्टम हाउस में रखवाया गया। आज सुबह राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गयासीएम योगी ने शहीद के प्रति शोक संवेदना प्रगट की और शहीद के परिजनों को 50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता की घोषणा की। साथ ही परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी एवं जनपद की एक सड़क का नामकरण शहीद रितेश पाल के नाम की भी घोषणा की हैसदर तहसील के पूरे भैया गांव निवासी रितेश पाल की हिमाचल प्रदेश के मनाली में ड्यूटी के दौरान शुक्रवार को शहादत हुई थी


शहीद रितेश पाल के अंतेष्टि स्थल पर अब्यवस्था का आलम देख झुक गई निगाहें...


शहीद जवान रितेश पाल का परिचय के पिता का मूलचंद पाल निवासी गांव पूरे भैया, थाना अंतू, जिला प्रतापगढ़ जो वर्ष-2010 में आर्मी में भर्ती हुए थे। उनके छोटे भाई भी सेना में तैनात हैं। वर्ष-2010 में आर्मी में भर्ती रितेश पाल वर्तमान में हिमाचल प्रदेश के मनाली में तैनात थे। सड़क पर जमी बर्फ को सेना के जवान आवागमन बहाल करने के लिए साफ कर रहे थे। सेना के जवानों की इस टीम में रितेश पाल भी शामिल थे। अचानक हुए भूस्खलन से बर्फ का एक बड़ा टुकड़ा रितेश पाल के ऊपर आ गिरा। इस बर्फ के टुकड़े की चपेट में आने से रितेश जेसीबी मशीन समेत गहरी खाई में जा गिरे। साथियों ने रितेश पाल को बचाने की कोशिश की पर उन्हें बचाया नहीं जा सका।


शहीद रितेश पाल के अंतिम संस्कार के दौरान भारी अव्यवस्था का आलम दिखा। अंतिम संस्कार क्रिया के दौरान बारिश से बचाव का नही दिखा कोई इंतजाम। जलशक्ति मंत्री के प्रतिनिधि पंडित दिनेश शर्मा अव्यवस्था पर हुए नाराज। मंत्री प्रतिनिधि पंडित दिनेश शर्मा जलशक्ति मंत्री से करेंगे अव्यवस्था की शिकायत। प्रतिनिधि पंडित दिनेश शर्मा का आरोप जिला प्रशासन सेना के जवान के अंतिम संस्कार को लेकर गम्भीर नहीं दिखा। जिला प्रशासन यदि गंभीर होता तो समुचित ब्यवस्थाओं पर संजीदगी के साथ मुस्तैद रहताशहीद के घर तक दलदल से लोग आ जा रहे थे और निकम्मा जिला प्रशासन धृतराष्ट्र बना बैठा रहा। जल शक्ति मंत्री डॉ महेंद्र सिंह के प्रतिनिधि पंडित दिनेश शर्मा ने सिर्फ अब्यवस्था को लेकर जिला प्रशासन को घेरा और मंत्री से शिकायत तक करने की बात कही


कीचड़ की वजह से अंतिम संस्कार स्थल पर गंदगी का अंबार दिखामंत्री प्रतिनिधि का आरोप जिले के लापरवाह अफसरों को तत्काल जिले से हटाया जाना आवश्यक है। हजारों की भीड़ के बीच शहीद रितेश पाल का अंतिम संस्कार हुआ। शहीद के सम्मान में सेना तथा उत्तर प्रदेश पुलिस के जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर की सलामी दी। शहीद के घर पूरे भैया स्थित बागम में राजकीय सम्मान के साथ पिता मूलचन्द्र ने शहीद को मुखाग्नि दी इसके अलावा पूर्व विधायक वृजेश मिश्र सौरभ, कैबिनेट मंत्री मोती सिंह के प्रतिनिधि विनोद पाण्डेय, कैबिनेट मंत्री महेन्द्र सिंह के प्रतिनिधि दिनेश शर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधियों व लोगों ने शहीद रितेश पाल के शव पर पुष्प चढ़ाकर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। हजारों की भीड़ ने भारत माता की जय, जब तक सूरज चांद रहेगा रितेश तेरा नाम रहेगा के नारे लगाये।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें