Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

सोमवार, 9 अगस्त 2021

"आप" के संजय सिंह का नया खुलासा, कहा- 'जल शक्ति मिशन में हुआ 35 हजार करोड़ का घोटाला'

सवाल यह है कि योगी सरकार के मंत्री महेंद्र सिंह ने इसी कंपनी को क्यों करोड़ों की पाइप सप्लाई का काम दिया...???


राज्य सभा सांसद सिंह...

लखनऊ आम आदमी पार्टी के उत्तर प्रदेश प्रभारी राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनके करीबी मंत्री महेंद्र सिंह पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए। कहा कि उत्तर प्रदेश में चल रहे एक लाख बीस हजार करोड़ के जल शक्ति मिशन में 30 से 35 हजार करोड़ का घोटाला किया गया है। इस घोटाले में मुख्यमंत्री और उनका कार्यालय भी शामिल है। आप नेता के आरोप पर भूचाल खड़ा हो गया है। 


पीएम मोदी और सीएम योगी के खास जलशक्ति मंत्री डॉ महेंद्र सिंह...

वैसे आम आदमी पार्टी के नेताओं की आदत रही है कि वह आरोप तो बड़े-बड़े लगाते हैं, परन्तु किसी भी मामले को अंजाम तक नहीं पहुँचाते। जिससे आम जनता में आम आदमी पार्टी के नेताओं के आरोप पर विश्वास कम होता जा रहा है। अभी कुछ महीने पहले अयोध्या में प्रभु श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए खरीदी गई जमीन में घपला और घोटाले किये जाने का आरोप लगाकर हलचल मचा दिया था, परन्तु मामला बाद में फुस्स हो गया। कई बार तो आप नेताओं ने आरोप लगाने के बाद जब मामला कोर्ट में मानहानि में दाखिल हो जाता है तो ये माफी भी मांग लेते हैं। 


संजय सिंह ने कहा, "सिर्फ मैं ही नहीं, भाजपा के विधायक भी इस कंपनी के खिलाफ शिकायत कर चुके हैं। इनमें प्रयागराज से भाजपा विधायक अजय कुमार और हरैय्या से इसी दल के विधायक अजय कुमार सिंह भी शामिल हैं। सिंह की चिट्ठी पर संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह को पत्र भेजकर मुख्य अभियंता आलोक सिन्हा पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर सफाई तक मांगी है।” संजय सिंह ने यहां संवाददाता सम्मेलन में दावा किया कि पानी पिलाना पुण्य का काम है, मगर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने इसमें भी बड़ा घोटाला किया और अपने मंत्रियों और अफसरों को लूट करने की खुली छूट दे दी।


राज्य सभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि जिस रश्मि मैटेलिक्स से पाइप की खरीद की गई, उसकी पाइप घटिया होने के कारण मध्य प्रदेश, वेस्ट बंगाल, पंजाब, झारखंड, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, उड़ीसा, जम्मू व कश्मीर तथा भारतीय सेना ने घटिया पाइप होने के कारण रिजेक्ट कर दिया था। इसके बावजूद प्रमुख सचिव अनुराग श्रीवास्तव ने आदेश जारी कर कहा कि रश्मि मैटेलिक्स केक क्वालिटी एश्योरेंस प्लान अप्रूव्ड हो चुका है। सभी अधिकारी इसी कंपनी से पाइप खरीदें। उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा संचालित 'जल जीवन मिशन' में हजारों करोड़ रुपए का घोटाला किए जाने का आरोप लगाते हुए इसकी सीबीआई जांच की मांग की।


उन्होंने अपने दावे के समर्थन में कहा कि ‘जल जीवन मिशन’ के मौजूदा अधिशाषी निदेशक अखण्ड प्रताप सिंह ने इस पूरे मामले की जांच झांसी के अपर जिलाधिकारी को सौंपी। उन्होंने दावा किया कि एक महीने के बाद जो जांच रिपोर्ट सामने आई उसमें खुलासा हो गया कि कंपनी ने खराब गुणवत्ता के पाइप की आपूर्ति की। उनके मुताबिक यूनिट कोआर्डिनेटर जेपी शुक्ला और परियोजना प्रबंधक महेश कुमार ने भी इस कंपनी पर सवाल खड़े किए हैं। सिंह ने मांग की कि योगी सरकार जल्द इस मामले की सीबीआई या फिर उच्च न्यायालय की निगरानी में विशेष जांच दल (एसआईटी) से पड़ताल कराए। आम आदमी पार्टी राज्य सरकार को इसके लिए एक हफ्ते का समय देती है नहीं तो पार्टी पूरे प्रदेश में आंदोलन करेगी।


आप नेता संजय सिंह ने कहा कि रश्मि मैटेलिक्स के पाइप की जांच सेंट्रल इकोनॉमिक्स एंटरेंस ब्यूरो ने की थी, जिसकी रिपोर्ट में इसे ठीक नहीं बताया गया था इसके अलावा यूनिट क्वालिटी लेटर जेपी शुक्ला ने भी अपनी रिपोर्ट में कहा था कि पाइप मानक के अनुरूप नहीं है। अपने कथन के प्रमाण में संजय सिंह ने सभी जांच रिपोर्ट की प्रतियां भी दिखाईं राज्य सभा सांसद संजय सिंह ने आरोप लगाया कि भाजपा के प्रयागराज के विधायक अजय कुमार और बस्ती के एक विधायक ने शिकायत की थी कि जल शक्ति मंत्री डॉ महेंद्र सिंह के नाम पर इंजीनियरों से पैसे वसूले जा रहे हैं। संसदीय कार्य मंत्री ने इसकी जांच के आदेश दिए थे वसूली मुख्य अभियंता आलोक सिन्हा द्वारा करवाई जा रही थी। 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें