Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

मंगलवार, 17 अगस्त 2021

ललितपुर जनपद के बार थाना में दलित महिला के साथ थानाध्यक्ष द्वारा अश्लील हरकत करने का आरोप, न्याय पाने के लिए चौक में अनशन पर बैठा पीड़ित परिवार

झांसी के प्रेमनगर में दरोगा द्वारा महिला को चाटा मारने और धक्का देकर गिरा देने का मामला अभी शांत नहीं हो पाया था कि बगल जनपद ललितपुर में थानाध्यक्ष पर एक दलित महिला के साथ छेड़छाड़ जैसे गंभीर आरोप लग रहे हैं ...!!!


बार थाना में दलित महिला के साथ थानाध्यक्ष की अश्लीलता करने और प्रधान के यहाँ मजदूरी करने के एवज में मजदूरी माँगने के लिए जाते समय रास्ते में प्रधान के गुंडों द्वारा दलित के साथ मारपीट की घटना कुछ कह रही है और ठाने में थानेदार द्वार दलित महिला से अश्लील हरकत की घटना कुछ और कह रही है...!!! 


दलित महिला के साथ की गई अश्लीलता तो अनशन पर बैठा पीड़ित परिवार...

उत्तर प्रदेश में ललितपुर की थाना बार पुलिस पर एक बार फिर से गम्भीर आरोप लगे हैं एक महिला का कहना है कि गांव में परिजनों के साथ हुई मारपीट की घटना के बाद जब वह थाने में शिकायत करने पहुंची तो वहां मौजूद थानाध्यक्ष ने उसके साथ अश्लील हरकतें करते हुए उसे रात भर अपने कमरे पर रुकने के लिए मजबूर किया, यहां तक कि उसके चार वर्षीय मासूम बच्चे को एक कमरे में बन्द कर दिया गया विरोध करने पर पति व देवर को मानव मूत्र भी पिलाया गया तमाम शिकायतों के बाद भी न्याय मिलता न देख पीड़ित परिवार अब शहर के घण्टाघर पर आमरण अनशन पर बैठ गया है 


बार थाना,जनपद ललितपुर...

आरोप है कि इस वारदात के बाद जब रवि की पत्नी वंदना अपने पति, देवर और चाचा ससुर को लेकर शिकायत करने थाने में पहुंची तो वहां थानाध्यक्ष अंजनी कुमार ने उसके साथ अश्लील हरकत की यहां तक कि उसे अपने साथ रात भर कमरे में रुकने के लिए मजबूर किया। आरोप है कि थाना बार अंतर्गत जरावली निवासी रवि कुमार रजक व रामसेवक रजक ने प्रधान राजबहादुर सिंह के घर मजदूरी का कार्य किया था पैसा मिलता न देख जब यह लोग प्रधान के घर पैसा मांगने के लिए जा रहे थे तो रास्ते में ही प्रधान व उसके गुंडों ने दोनों युवकों के साथ बेरहमी से मारपीट कर की, जिसके चलते दोनों युवकों को गम्भीर चोटें भी आई हैं 

दबंग आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने अभी तक कोई भी कार्यवाही नहीं की इस घटना की तमाम शिकायतें करने के बाद भी पीड़ित परिजनों को न्याय नहीं मिल सका है, जबकि आरोपी खुलेआम धमकाते हुए घूम रहे हैं मजबूरी में पीड़ित परिजन शहर के घण्टाघर पर आमरण अनशन पर बैठ गए हैं इस सम्बंध में जब पुलिस के अधिकारियों से बात की गई तो सीओ सदर इमरान अहमद ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है कार्रवाई जरूर की जाएगी वैसे यह मामला पुलिस और प्रधान को फंसाने जैसा प्रतीत हो रहा है आरोपों का तारतम्य कहीं से फिट बैठता हुआ नजर नहीं आ रहा है परन्तु पीड़ित की शिकायत है तो जाँच तो करनी ही पड़ेगी और जाँच होने तक थानेदार और प्रधान जी की नियति पर तलवार लटकी रहेगी 
    

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें