Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

शनिवार, 28 अगस्त 2021

प्रतापगढ़ के राजगंगा हॉस्पिटल में जच्चा की मौत के बाद परिजनों ने काटा हंगामा, सीओ सिटी के पहुँचने के बाद न्याय दिलाने के भरोसे पर माने परिजन

धन कमाने के चक्कर में धरती के भगवान अब मरीजों की जान के साथ कर रहे हैं,खिलवाड़...!!! 


राजगंगा हॉस्पिटल प्रतापगढ़ में डॉक्टर की लापरवाही के चलते आयेदिन होती है,जच्चा-बच्चा की मौत...!!!


राजगंगा हॉस्पिटल जहाँ अक्सर होती है,जच्चा और बच्चा की मौत...

प्रतापगढ़ के सिविल लाइन क्षेत्र रोडबेज बस स्टॉप के आगे मीरा भवन चौराहा से पहले निजी अस्पताल राजगंगा में इलाज के दौरान लापरवाही बरतने में जच्चा और बच्चा की मौत केबाद परिजनों ने शव रखकर जमकर हंगामा किया। परिजनों का आरोप डॉक्टर की लापरवाही से प्रसूता की मौत हो गई राजगंगा हॉस्पिटल में डिलेवरी कराने आए परिजनों का रो रोकर हुआ बुरा हाल परिजनों का आरोप है कि जच्चा की मौत होने के बाद डॉक्टर ने प्रयागराज रेफर किया था। बवाल की आशंका को देखते हुए अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी और सीओ सिटी भारी पुलिस बल के साथ घटना स्थल पर मौजूद रहे मृत हुई गर्भवती कंधई कोतवाली क्षेत्र की दरछुट गांव की रहने वाली है। नगर कोतवाली के सिविल लाइन स्थित राज गंगा नर्सिंग होम में इलाज करवाने आई थी 


इलाज के दौरान लापरवाही बरतने में जच्चा और बच्चा की मौत हो गई जच्चा और बच्चा की मौत होने से परिजनों में मचा कोहराम सूत्रों की माने तो महिला चिकित्सक मीनाक्षी पाण्डेय बड़ी बत्तमीजी से मरीज के तीमारदारों से पेश आती है। महिला चिकित्सक डॉ मिनाक्षी पाण्डेय के बारे में आम शोहरत है कि वह बहुत ही लापरवाही के साथ मरीजों का इलाज करती है। मरीजों से उनका व्यवहार अच्छा नहीं होता। डॉ मीनाक्षी पाण्डेय पहले जिला महिला अस्पताल में चिकित्सक थी और अपनी हॉस्पिटल चला लेने के बाद वहाँ से वीआरएस ले लिया परन्तु जिला अस्पताल में रहते हुए आशा बहुओं और अन्य महिला/पुरुष दलाल के दम पर अपने  निजी अस्पताल में सरकारी महिला अस्पताल के अधिकतर मरीजों को गुमराह करके इलाज हेतु फंसाकर ले आने में डॉ मीनाक्षी पाण्डेय का नेटवर्क सफल है। उसी के दम पर निजी अस्पताल राजगंगा संचालित हो रहा है


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें