Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

शुक्रवार, 6 अगस्त 2021

आजमगढ़ में सगाई के 4 महीने बाद युवक ने मंगेतर का किया कत्ल, पुलिस ने किया गिरफ्तार

सच कहा गया है कि क्रोध बुद्धि को खा जाता है और शक स्वयं को निगल जाता है...!!!


हत्या करके 4 माह से फरार युवक देवानंद को पुलिस ने किया गिरफ्तार... 

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में हत्या के एक मामले ने सनसनी फैला दी, यहां एक युवक ने अपनी मंगेतर को पहले मिलने के बहाने बुलाया और फिर धारदार हथियार से वार कर उसकी बेरहमी से हत्या कर दी युवती की हत्या के बाद उसके घर में मातम पसर गया है वहीं इलाके के लोग भी दहशत में हैं पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है बताया जा रहा है कि सगाई के बाद युवक अपनी मंगेतर के चरित्र पर शक करता था। यह बात उसने पुलिस के सामने स्वीकार किया है फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है


मामला अतरौलिया इलाके का है पुरखी गांव के रहने वाले विनोद कुमार की बेटी खुशबू की शादी अहरौला के भैसापुर परौली गांव के रहने वाले देवानंद उर्फ गोली के साथ तय हुई थी चार महीने पहले दोनों की सगाई भी हो चुकी थी सगाई के बाद दोनों आपस में फोन पर बातचीत करते थे एक दिन मंगेतर देवानंद ने खुशबू से मिलने के लिए उस पर दबाव बनाया खुशबू अपने मंगेतर देवानंद से मिलने अपनी भाभी के साथ शाहपुर बाजार चली गई देवानंद और खुशबू मिलकर बातचीत कर रहे थे। इस दौरान देवानंद ने खुशबू की भाभी से यह कहकर दूर जाने को कहा कि हम लोगों को कुछ आपसी बात करनी है


भाभी के कुछ दूर जाते ही देवानंद ने धारदार हथियार से खुशबू की गर्दन पर कई वार कर डाला घायल खुशबू की चीख सुनकर उसकी भाभी ने शोर मचाते हुए लोगों से मदद मांगी वहीं हमला करने के बाद देवानंद मौके से फरार हो गया आसपास के लोगों ने हमले में बुरी तरह घायल खुशबू को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया। गंभीर हालत को देखते हुए उसे जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया, लेकिन रास्ते में ही खुशबू की मौत हो गई


इस मामले में खुशबू के परिवार के लोगों ने देवानंद पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था शुक्रवार को पुलिस ने देवानंद को गौरी पुलिया के पास से गिरफ्तार कर लिया पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि उसकी होने वाली पत्नी का मोबाइल अक्सर व्यस्त रहता था उसे शक था कि उसका किसी और से भी संबंध है इसी बात को लेकर घटना के दिन दोनों में विवाद हुआ और उसने गुस्से में आकर अपनी ही मंगेतर खुशबू की हत्या कर दी। देवानंद की गुस्सा और शक उसे बर्बाद कर दिया, अब देवानंद का बचा हुआ जीवन जेल की सलाखों के पीछे होगा 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें