Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

बुधवार, 28 जुलाई 2021

भारत में थम नहीं रहे सड़क हादसे, गोपीनाथ मुंडे के सड़क हादसे के बाद केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने सड़क हादसों से बचने के लिए नियमों में बदलाव के संकेत दिए थे

बाराबंकी सड़क दुर्घटना में दर्जनों साथी खोने वाले घायल मजदूर ने सुनाई दिल दहला देने वाली कहानी, घटना की कहानी सुनकर रोंगटे हो गए खड़े...!!!


पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से शवों को हाईवे से हटाया। इसी दौरान तेज बारिश शुरू होने से भी रेस्क्यू में दिक्कत आई...!!!


राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री सहित विपक्ष के नेताओं ने बाराबंकी सड़क दुर्घटना में मृतक परिवारों के प्रति गहरी संवेदना ब्यक्त किये और मृतकों के प्रति दुःख जताया...!!!


सड़क दुर्घटना देखकर काँप गई रूह...


बाराबंकी। बस में सवार यात्रियों के मुताबिक हरियाणा से बिहार जा रही वॉल्वो बस संख्या- यूपी- 22टी -7918 खराब हो जाने के कारण रामसनेही घाट के लखनऊ-अयोध्या राजमार्ग पर नारायण रेस्टोरेंट के पास पुल पर ही किनारे खड़ी कर दी थी दुर्घटना की प्रमुख वजह बस का पुल पर खड़ा होना बताया जा रहा है जबकि पुल पर न तो ओवरटेक करना चाहिए और न ही वाहन को पार्क करना चाहिए यहाँ तो खराब हुई बस को पार्क भी किया गया और यात्रियों ने बस के आगे पीछे पुल पर ही लेट गए थे एक चालक को बहुत ही चालाक होना चाहिए क्योंकि उसके हाथ में सैकड़ों यात्रियों की जान की जिम्मेदारी होती है परन्तु भारत में सबसे जिम्मेदारी भरे कार्य को सबसे कम पढ़े-लिखे लोगों को लाइसेंस बनाकर सड़क पर सड़क दुर्घटना करने के लिए उतार दिया जाता है सड़क दुर्घटना के बढ़ने के पीछे सबसे बड़ी वजह यही है कि चालकों की जिम्मेदारियों का उन्हें अंदाजा ही नहीं होता 

    

खड़ी बस के पीछे तेज रफ्तार ट्रक के टक्कर मरने से दो दर्जन मजदूरों की चली गई जान...

हरियाणा के अम्बाला से धान रोपाई कर बिहार लौट रहे मजदूरों की खराब बस को बाराबंकी के रामसनेही थाना क्षेत्र में एक तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दी इस भीषण सड़क हादसे में दो दर्जन से अधिक यात्रियों की मौत हो गई, जबकि दो दर्जन से यात्री बुरी तरह से घायल हो गए हैं, जिनमें से एक दर्जन यात्रियों की हालत गंभीर बनी हुई है गंभीर रूप से घायल यात्रियों को इलाज के लिए लखनऊ ट्रॉमा सेंटर भेजा गया है हादसे की शिकार हुई बस में 135 से ज्यादा यात्री मौजूद थे बस हरियाणा से बिहार जा रही थी। आशंका है कि मृतकों की संख्या और बढ़ भी सकती है। हादसे के बाद बाराबंकी प्रशासन ने कंट्रोल रूम नंबर जारी किया है। पीड़ित परिवार और रिश्तेदार- 9454417464 पर संपर्क कर सकते हैं।


दो बसों की सवारियों से दुर्घटना वाली बस भी थी,ओवरलोड होने से दूसरी बस का टूटा एक्सल...


यूपी में बाराबंकी के रामसनेही घाट थाना क्षेत्र में जो सड़क दुर्घटना हुई उस बस में करीब 135 यात्री सवार थे। बताया जा रहा है कि हिसार में खराब हुई एक दूसरी बस के यात्री भी इसी में सवार हो गए थे। ओवरलोड होने की वजह से बस का एक्सल टूट गया। बस को ठीक करने के लिए बस चालक ने बस को हाई-वे पर कल्याणी नदी के पुल पर ही खड़ा कर दिया था। यात्रियों को नींद आ रही थी इसलिए वे बस के नीचे और उसके आसपास लेट गए। रात 11:30 बजे लखनऊ की ओर से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने बस को टक्कर मार दी। जिससे यह हृदयविदारक सड़क दुर्घटना घटी  


बस संचालक ने एक बस ख़राब होने पर उस बस के यात्रियों को जबरन दूसरी बस में बैठाया: यात्री


सड़क दुर्घटना में जो यात्री मौत के मुँह से निकल कर बाहर आये हैं, उनकी बात सुनकर आश्चर्य हो रहा है। बस में सवार एक यात्री जिसका नाम फौनी साहनी है। साहनी ने बताया कि वह लोग बिहार के रहने वाले हैं। हरियाणा से घर जा रहे थे। अंबाला से जिस बस में वह लोग बैठे, वह उन्हें हिसार तक लाई। वहां ड्राइवर ने बस खराब होने की बात कहकर सभी यात्रियों को दूसरी बस के हवाले कर दिया। जिस बस में उनसे बैठने के लिए कहा गया, वह पहले से ही भरी थी। जब कुछ यात्रियों ने बस में बैठने से इंकार किया तो बस संचालक ने दबाव बनाकर उन सभी को दूसरी बस में ठूंस दिया। 


प्रत्येक बस में परिवहन विभाग परमिट देती है और उसी परमिट पर बस का संचालन होता है। आखिर उस बस में 135 यात्री को बैठाया गया जिसमें बैठने के लिए परिवहन विभाग अधिकतम 40-50 यात्रियों का परमिट देती है। इस सड़क दुर्घटना में बस चालक जिसने पुल पर बिना पार्किंग के बस को सड़क पर ही खड़ा किया और जो बस संचालक यात्रियों को एक बस में उसकी क्षमता से तीन गुणा यात्रियों को बस में जबरन बैठाया, वह जिम्मेदार है और उस पर शासन और प्रशासन को कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। ट्रक ने जब खड़ी बस में पीछे से तेज रफ्तार में टक्कर मारी तो बस कुछ दूर तक घिसटती चली गई। इसके बाद हर तरफ खून और मांस के लोथड़े बिखरे हुए थे।


प्रधानमंत्री मोदी ने CMयोगी आदित्यनाथ से की बात, आर्थिक मदद का किया ऐलान...


बाराबंकी हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जाहिर किया है। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से फोन पर जानकारी ली। PM ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए की मदद का ऐलान किया है। घायलों को 50-50 हजार रुपए दिए जाएंगे। वहीं, CM योगी ने सभी घायलों के मुफ्त इलाज करने के निर्देश दिए हैं। बाराबंकी के DM और SP घायलों को उनके घर तक भेजने का इंतजाम करेंगे। ऐसा निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरफ से जारी किया गया है  


सड़क दुर्घटना का शुरुआती कारण लो विजिबलिटी- ADG,लखनऊ...


लखनऊ जोन के ADG एसएन साबत भी बाराबंकी जिला अस्पताल पहुंचे। उन्होंने बताया कि बस करीब 4 घंटे से पुल पर खड़ी हुई थी। शुरुआती जांच में हादसे का कारण लो विजिबिलिटी लग रहा है। फिलहाल, जांच चल रही है। बारिश होने से रेस्क्यू में दिक्कत आई, परन्तु स्थानीय लोंगों की मदद से शीघ्र ही उस पर नियंत्रण पा लिया गया। सड़क दुर्घटना होते ही चीख-पुकार सुनकर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे। उन्होंने पुलिस को सूचना दी और रेस्क्यू शुरू कर दिया। घायलों को रामसनेही घाट CHC ले जाया गया, जहां से गंभीर घायलों को जिला अस्पताल और लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर किया गया।


बस में पीछे से टक्कर मारने वाले ट्रेलर का ड्राइवर हादसे के बाद से फरार हो गया...


जैसे ही खड़ी बस में तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मारी तो चीख पुकार सुनकर और मौके की भयावह स्थिति देखकर ट्रेलर का ड्राइवर मौके से फरार हो गया। हाई-वे पर वाहनों की लंबी कतार लग गई। इससे करीब 5 किलोमीटर लंबा जाम लग गया। हादसे के शिकार लोगों ने बताया कि बस में सवार सभी यात्री बिहार के सीतामढ़ी, सुपौल सहित अलग-अलग जिलों के रहने वाले थे। ये सभी मजदूर थे, जो धान की रोपाई के लिए अपने-अपने गांव वापस जा रहे थे। इस हादसे में घायल एक मजदूर ने बताया कि वे और उनके सभी साथी हरियाणा से धान रोपाई कर अपने-अपने घर लौट रहे थे 


दुर्घटना हुई बस में करीब 135 लोग सवार थे, क्योंकि अंबाला में दूसरी बस खराब होने की वजह से उसकी सवारी को भी इसी बस में चढ़ा दिया गया था दूसरी बस में सवार होने के बाद बस ओवरलोड हो गई और रास्ते में उस बस का बेलन टूट गया, जिसके बाद ड्राइवर ने बस सड़क किनारे खड़ी कर दी वे और उनके साथी खराब बस से करीब 10 मीटर दूर जाकर सड़क पर बैठ गए। रात होने की वजह से कुछ वहीं सो गए और कुछ जगे रहे तभी ट्रक ने बस को पीछे से टक्कर मार दी इसके बाद बस उन्हें रौंदते हुए आगे बढ़ गई घायल मजदूर ने बताया कि हादसे के बाद मौके पर चीख पुकार मच गई सड़क पर चारों तरफ खून ही खून फैला था  


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें