Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शुक्रवार, 16 जुलाई 2021

उत्तर प्रदेश विधान सभा के मद्देनजर कांग्रेस में लायजनर के कार्य हेतु मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ हो सकते हैं,चेहरा

कांग्रेस अपनी डूबती नैय्या बचाने के लिए संगठन में कर सकती है,बड़ा फेरबदल...!!!


मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को मिल सकती है,बड़ी जिम्मेदारी...!!!


पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस सुप्रीमों सोनिया गांधी...

उत्तर प्रदेश में प्रमोद कुमार से अधिक सेटिंगबाज नेता दूसरा कोई पैदा ही नहीं हुआ,फिर भी कांग्रेस उनकी काबिलियत का फायदा नहीं उठा पा रही है, जिस तरह रामपुरखास विधान सभा में सपा, बसपा और भाजपा से सेटिंग करके डमी उम्मीदवार उतरवाकर चुनाव जीतने का खिताब प्रमोद कुमार पा चुके हैं, उसी तरह से  कांग्रेस यदि प्रमोद कुमार को उत्तर प्रदेश में मौका दे तो प्रमोद कुमार कांग्रेस की नैय्या जिस तरह डुबाये हैं, उसी तरह उसे पार लगाने की जुगत भी करेंगे ! पिछली बार उत्तर प्रदेश की कमान ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रियंका वाड्रा के हाथ में थी और इस बार प्रियंका वाड्रा और कमलनाथ के हाथ में जाती दिख रही कमान...!!!

 

मन्त्रणा करते कमलनाथ और सोनिया गांधी...


नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी जल्द ही अपने संगठन में बड़ा फेरबदल कर सकती है। देश में होने वाले विधान सभा चुनावों में कांग्रेस की स्थिति दिन प्रतिदिन खराब होती जा रही है। असम में कांग्रेस सरकार बनाने का सपना देख रही थी जो मुमकिन न हो सका पश्चिम बंगाम के विधान सभा चुनाव में कांग्रेस अर्श से फर्श पर आ गई। 3 सीट वाली भाजपा को 77 सीट मिली और 44 सीट वाली कांग्रेस का इस बार सूपड़ा साफ हो गया, फिर भी कांग्रेस पार्टी के नेता खुश थे। उनकी खुशी इस बात की थी कि कम से पश्चिम बंगाल में भाजपा की सरकार तो नहीं बनी। कांग्रेस का खाता भले ही न खुला हो ! कांग्रेसियों को इस बात का सुखद एहसास हो रहा था कि उनके यहाँ भले ही पुत्र न हुआ हो,परन्तु पड़ोसी के यहाँ पुत्र हुआ है तो नाच गाने का आनंद तो कांग्रेसी उठा सकेंगे। टीएमसी की सरकार बनने से कांग्रेस के नेताओं को भी सोठौरा और पाग के सेवन का मौका अवश्य मिलेगा। 


पूर्व सीएम कमलनाथ को सोनिया गांधी कांग्रेस का कार्यवाहक अध्यक्ष बना सकती हैं... 


कांग्रेस विधानसभा चुनावों में हार का सामना करने के बाद अब उत्तर प्रदेश के विधान सभा चुनाव से पहले पार्टी कार्यकर्ताओं में नया जोश भरने के लिए बड़े बदलाव की तैयारी कर रही है। इस बदलाव के तहत कई राज्यों में अध्यक्ष, राज्यों के प्रभारी और उत्तराखंड व गुजरात में विधायक दल के नेता को बदलने की तैयारी में है। कांग्रेस पार्टी में फेरबदल की आशंकाओं के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात भी की है। इस मुलाकात के बाद अटकलों का बाजार गर्म है कि कमलनाथ को पार्टी में अहम पद मिल सकता है। कमलनाथ कार्यकारी अध्यक्ष या उपाध्यक्ष बन सकते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष से कमलनाथ की मुलाकात के बारे में पार्टी के एक वरिष्ठ नेता का कहना है कि अभी तस्वीर साफ नहीं है लेकिन पार्टी कमलनाथ को कार्यकारी अध्यक्ष या उपाध्यक्ष बनाती है तो उसका सीधा असर उत्तर प्रदेश और पंजाब विधानसभा चुनाव पर होगा। पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। 


कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा और मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ... 

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर वर्ष-1984 के सिख विरोधी दंगो में शामिल होने के आरोप भी लगते रहे हैं। कांग्रेस ने वर्ष-2016 में कमलनाथ को पंजाब का प्रभारी बनाया था, लेकिन चुनाव से ठीक पहले पंजाब में विरोध के बाद कमलनाथ को पंजाब प्रभारी का पद छोड़ना पड़ा था और बाद में  हरियाणा का प्रभारी बनाया गया था। आपको बताते चले कि कांग्रेस नेतृत्व के भरोसेमंद नेताओं में कमलनाथ की गिनती होती है और पार्टी में भी अच्छी पकड़ है। वरिष्ठ नेताओं के साथ भी अच्छे रिश्ते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष को पत्र लिखने वाले असंतुष्ट नेताओं को मनाने में उनका अहम रोल रहा है। ऐसे में अब कमलनाथ को अहम जिम्मेदारी मिलने संभावना है। सोनिया गांधी और प्रियंका वाड्रा से कलनाथ की मुलाकात को इस लिए खास माना जा रहा है, क्योंकि यह चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर की कांग्रेस नेतृत्व से बैठक के एक दिन बाद हुई है। पार्टी सूत्रों की अगर मानी जाए तो प्रशांत के साथ बैठक में कांग्रेस को पुनजीर्वित करने की संभावनाओं पर भी चर्चा हुई है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें