Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

बुधवार, 7 जुलाई 2021

ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में प्रतापगढ़ के कथित दिग्गजों की खुल जायेगी पोल

कांग्रेस के कथित दिग्गज नेता प्रमोद कुमार और मोना मिश्रा ने तय किए तीन विकास खंडों के ब्लाक प्रमुख पद के उम्मीदवार...!!!


चालीस सालों में शिलापट्ट पर नाम लिखवाने से नहीं भरा मन, कथित कांग्रेसी दिग्गज नेता प्रमोद कुमार बिना किसी पद के ही विधायक बेटी अराधना मिश्रा उर्फ मोना के नाम के ऊपर अभी भी अपना नाम पत्थर में लिखवाने से नहीं करते परहेज...!!!


 कथित कांग्रेसी दिग्गजों के पत्थर प्रेम से गदगद रहते हैं,क्षेत्रवासी...


कथित कांग्रेसी दिगग्ज का कमाल लालगंज से अमित सिंह उर्फ पंकज,
सांगीपुर से अशोक सिंह उर्फ बबलू और संग्रामगढ़ से नीतू सरोज का नाम चयनित किया गया हैयह तीनों उम्मीदवार कांग्रेस पार्टी की ओर से बनाए गए हैं। सत्ताधारी दल भाजपा, मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी सहित नए यार राजा भईया की पार्टी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक ने इन तीनों विकास खंडों में अपने उम्मीदवार के नाम की नहीं की है,घोषणा...!!!


जिला पंचायत अध्यक्ष पद के निर्वाचन में खुलेआम राजा भईया के समर्थित उम्मीदवार माधुरी पटेल को जिला पंचायत अध्यक्ष बनवाने में महती भूमिका का निर्वहन कर राजनीति में स्वार्थ के खेल के महारथी प्रमोद और मोना अब क्षेत्र पंचायत सदस्य की सहमति के बाद अपनी विधानसभा रामपुर खास की तीनों ब्लॉक लालगंज, सांगीपुर और संग्रामगढ़ से उम्मीदवारों के नाम की घोषणा बड़ी माथापच्ची के बाद फाइनल कर दी


उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में ब्लॉक प्रमुख पद के चुनाव में पंचायती राज विभाग उत्तर प्रदेश और राज्य निर्वाचन आयोग उत्तर प्रदेश ने इस बार उम्मीदवारों के चयन का भी समय राजनीतिक दलों को नहीं दिया फिलहाल ब्लॉक प्रमुख का भी चुनाव धनबल और बहुबल पर ही सेटिंग गेटिंग के तहत सम्पन्न किया जाता है ब्लॉक प्रमुख का चुनाव क्षेत्रीय विधायक अपने हिसाब से कराना चाहता है और उसी का पूरा हस्तक्षेप भी रहता है। अपनी-अपनी विधानसभाओं में विधायकों द्वारा ब्लॉक प्रमुख की उम्मीदवारी तय की जाती है किस ब्लॉक पर कौन उम्मीदवार लड़ेगा इसके चयन की प्रक्रिया लगभग पूरी हो गई है।


पहले बात करते हैं, सबसे पुराने दल कांग्रेस और उसके कथित दिग्गज प्रमोद कुमार और उनकी बेटी मोना मिश्रा के विधानसभा क्षेत्र रामपुर खास के तीन ब्लॉक मुख्यालयों पर प्रमुख पद के उम्मीदवारों की उम्मीदवारी में सत्ताधारी दल भाजपा और मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी के उम्मीदवारों पर सबकी आँखे टिकी हुई हैं। जनपद में राजा भईया की पार्टी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक जो अभी प्रमोद और मोना के सहयोग से जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर सत्ताधारी दल भाजपा को शिकस्त देकर अपना डंका बजाया और चुनाव परिणाम बाद राजा भईया स्वयं प्रमोद और मोना को इस जीत में सहयोग देने का धन्यवाद भी ज्ञापित किया था


सवाल उठता है कि क्या राजा भईया की पार्टी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक से रामपुर खास विधानसभा से राजा भईया अपनी पार्टी से कोई उम्मीदवार न उतारकर जिला पंचायत के सहयोग का बदला तुरंत देकर मामले को खत्म कर देंगेकांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा उर्फ मोना तथा उनके पिता प्रमोद कुमार ने क्षेत्र पंचायत सदस्यों की सहमति से विकासखंड लालगंज, सांगीपुर और रामपुर संग्रामगढ़ के लिए मंगलवार 6जुलाई, 2021 की देर शाम उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की। रामपुर खास विधानसभा क्षेत्र में पड़ने वाले तीनों ब्लॉक के लिए बनाये गए उम्मीदवार के नाम तय किये गये हैं


इससे साफ जाहिर है कि अगर भारतीय जनता पार्टी ने उम्मीदवार नहीं उतारा तो इन तीनों विकास खंडों में निर्विरोध ब्लाक प्रमुख चुन लिए जाएंगे। 8 जुलाई, 2021 को नामांकन की तिथि निर्धारित है। यदि भाजपा, सपा और जनसत्ता दल लोकतांत्रिक सहित कोई उम्मीदवार अपना नामांकन न किया तो यह तीनों सीट निर्विरोध हो जायेगी। यदि नामांकन हुआ तो 10 जुलाई को यहाँ भी मतदान कराया जाएगा। इसके उपरांत मतगणना कराई जाएगी। कांग्रेस के कथित दिग्गज सिर्फ अपना आधिपत्य रामपुर खास विधानसभा क्षेत्र में ही बनाये रखना चाहते हैं। इसके अतिरिक्त 6 विधानसभाओं में 14 ब्लॉक और हैं,परन्तु वहाँ वो दखल देकर अपने विधानसभा रामपुर खास में अपनी विधानसभा सहित ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में खलल डालना नहीं चाहते


इसी गुण से प्रमोद कुमार एक ही दल से एक ही विधानसभा क्षेत्र से एक ही झंडे के तले रहते हुए 8 बार लगातार विधायक बनते रहे और दो बार से अपनी बड़ी बेटी मोना को विधायक बनाने में सफल रहे। यही इनके दिग्गज होने का प्रमाण है। जिले की 7 विधान सभाओं में से रामपुर खास से प्रमोद मतलब रखते हैं, बाकी 6 विधानसभाओं में कांग्रेस की जमानत जब्त हो जाती है। इसी तरह प्रमोद उन 6 विधानसभाओं की ब्लॉक पर प्रमुख पद पर ही हस्तेक्षप नहीं करना चाहते ताकि उनके क्षेत्र में उन्हें कोई शिकस्त न दे सके कथित दिग्गज प्रमोद कुमार ऐसे ही सेटिंग गेटिंग करके विधानसभा चुनाव में रामपुर खास में राजनीतिक पार्टियों के शीर्ष नेताओं से डमी उम्मीदवार उतरवा कर अपना झंडा बुलंद किये हुए हैं। यदि कभी छोटे सरकार जैसा कोई उम्मीदवार अपने दम पर चुनाव में शिकस्त देने की कोशिश करता है तो उस दल शीर्ष नेतृत्व से रामपुर खास में चुनावी जनसभा तक न करने की ब्यवस्था करने वाले कथित प्रमोद कुमार स्वयं को दिग्गज कहलवाने में अपना मान सम्मान और स्वाभिमान समझते हैं


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें